अंतरराष्ट्रीय सुविधायुक्त फिल्म सिटी बनाएंगे "योगी"

    दिनांक 23-सितंबर-2020   
Total Views |

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपूर्णता का कोई स्थान नहीं है। यह, राम की अयोध्या, कृष्ण की मथुरा, शिव की काशी के साथ ही बुद्ध, कबीर और महावीर की भी धरती है। यहां गंगा, यमुना और सरस्वती का संगम है। यह सभी 'पूर्णता के प्रतीक' हैं। उत्तर प्रदेश अपनी इसी परंपरा को गति प्रदान करते हुए एक भव्य, दिव्य और सर्वसुविधायुक्त 'पूर्ण फ़िल्म सिटी' का विकास करने जा रहा है।
cm_1  H x W: 0
समाजवादी पार्टी की सरकार में उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद का गठन किया गया था।  भोजपुरी फिल्मों के निर्माण के लिए सब्ज बाग दिखाए गए थे। मगर धरातल पर कुछ भी नहीं किया गया। इस बार उत्तर प्रदेश की सरकार ने पूरी तैयारी से फिल्म सिटी बनाने की योजना पर काम शुरू कर दिया है। भूमि चिन्हित कर ली गई है। 25 से ज्यादा फ़िल्मी हस्तियों ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के प्रयास की सराहना की है। कंगना रनौत ने ट्वीट कर उत्तर प्रदेश में फिल्म सिटी बनाये जाने की प्रशंसा की। फिल्म निर्माता मधुर भंडारकर ने योगी आदित्यनाथ से मिलकर उनके इस प्रयास की सराहना की। आगामी 50 वर्षों को ध्यान में रखकर फिल्म सिटी की योजना पर बहुत शीघ्र ही कार्य शुरू किया जायेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपूर्णता का कोई स्थान नहीं है। यह, राम की अयोध्या, कृष्ण की मथुरा, शिव की काशी के साथ ही बुद्ध, कबीर और महावीर की भी धरती है। यहां गंगा, यमुना और सरस्वती का संगम है। यह सभी 'पूर्णता के प्रतीक' हैं। उत्तर प्रदेश अपनी इसी परंपरा को गति प्रदान करते हुए एक भव्य, दिव्य और सर्वसुविधायुक्त 'पूर्ण फ़िल्म सिटी' का विकास करने जा रहा है। हमारा प्रयास रहेगा कि इसे सर्वोत्कृष्ट डेडिकेटेड, इंफोटेनमेंट जोन के रूप में विकसित किया जाए। आने वाला समय ओटीटी व मीडिया स्ट्रीमिंग का है। इसके लिए हाई कैपेसिटी, वर्ल्ड क्लास डेटा सेंटर की स्थापना भी इंफोटेनमेंट जोन में की जाएगी। कंटेंट डिस्ट्रीब्यूशन के लिए स्मूथ व फूलप्रूफ व्यवस्था के साथ-साथ टैक्स में छूट की सुविधा पर भी विचार किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश भारतीय संस्कृति, सभ्यता और समृद्ध परंपरा का सबसे महत्वपूर्ण केंद्र है। हमारे दिव्य-भव्य कुंभ से पूरी दुनिया आह्लादित है। फ़िल्म सिटी भी सभी की उम्मीदों को पूरा करने वाली होगी।


हर जरूरत का रखा जाएगा ध्यान
यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरुनवीर ने प्रस्तावित फ़िल्म सिटी के संबंध में बताया कि यमुना एक्सप्रेस-वे सेक्टर-21 में लगभग 1,000 एकड़ भूमि पर फिल्म सिटी का विकास होगा। इसमें 220 एकड़ कॉमर्शियल एक्टिविटी के लिए आरक्षित होगी। यह मथुरा-वृंदावन से 60 किलोमीटर और आगरा से 100 किलोमीटर की दूरी पर है। यहां फ़िल्म सिटी के लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ-साथ 35 एकड़ में फ़िल्म सिटी पार्क भी विकसित किया जाएगा। यह क्षेत्र रेल और सड़क परिवहन से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। एशिया का सबसे बड़ा जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट भी प्रस्तावित फिल्म सिटी के निकट है। इसे मेट्रो, रैपिड रेल ट्रांसपोर्ट सिस्टम और हाई स्पीड ट्रेन से भी जोड़ा जाएगा। वर्ष 2060 तक की जरूरतों को ध्यान में रख कर तैयारी की जा रही है।