बडगाम में भाजपा नेता की गोली मारकर हत्या

    दिनांक 24-सितंबर-2020
Total Views |
जम्मू-कश्मीर में स्थानीय भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं पर आतंकी हमले लगातार जारी है। बडगाम में आतंकियों ने बुधवार की देर शाम भाजपा नेता  भूपिंदर सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी

bhupender singh _1 &
जानकारी के अनुसार अज्ञात आतंकियों ने शाम करीब 7:45 बजे खाग ब्लॉक बडगाम के भाजपा बीडीसी भूपिंदर सिंह को उनके आवास पर गोली मार दी। इसके बाद आतंकी मौके से फरार हो गए। पुलिस ने अज्ञात आतंकियों की तलाश शुरू कर दी है। बता दें कि जम्मू-कश्मीर में आतंकी लगातार स्थानीय नेताओं और नागरिकों को निशाना बना रहे हैं। इन सभी घटनाओं के लिए अलगाववाद और पाकिस्तान परस्त आतंकी जिम्मेदार हैं।
गौरतलब है कि आतंकियों ने बीते 6 अगस्त के दिन कुलगाम में भाजपा सरपंच सज्जाद अहमद को निशाना बनाया था। आतंकियों ने वारदात को उस वक्त अंजाम दिया था जब सरपंच सज्जाद अहमद अपने घर के बाहर टहल रहे थे। इस दौरान आतंकियों ने उन्हें निशाना बनाते हुये अंधाधुंध फायरिंग की। जिसके बाद सरपंच खून से लथपथ होकर जमीन पर गिर पड़े। आनन-फानन में परिजनों ने उन्हें अनंतनाग के अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था। सज्जाद अहमद कुलगाम में भाजपा पार्टी को मजूबत करने के लिए जमीनी स्तर पर कार्य कर रहे थे। यह ही बात आतंकियों को पसंद नहीं थी। इसलिए आतंकियों ने उनकी हत्या कर दी थी।

bhupender singh _1 & 
बडगाम में आतंकियों ने बीते 9 अगस्त के दिन अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) भाजपा मोर्चा के ज़िला अध्यक्ष अब्दुल हमीद नजार पर आतंकी हमला किया था। आतंकियों ने हमला उस वक्त किया था जब वह अपने घर से कुछ ही दूरी पर रेलवे ट्रैक के पास टहल रहे थे। तभी अज्ञात आतंकियों ने उनके ऊपर अंधाधुंध फायरिंग की थी। जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई थी। डॉक्टरों की लगातार कोशिश के बावजूद इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी।

bhupender singh _1 & 
बांदीपोरा में भी आतंकियों ने युवा भाजपा नेता वसीम बारी और उनके पिता-भाई की हत्या कर दी थी। बीती आठ जुलाई के दिन आतंकियों ने भाजपा के जिला प्रधान वसीम बारी, उनके पिता और भाई पर अंधाधुंध फायरिंग की थी, जिसमें तीनों की मौत हो गई थी। आतंकियों ने हमला उस वक्त किया था, जब भाजपा नेता वसीम अपने पिता और भाई के साथ दुकान पर थे। हालांकि बाद में सुरक्षाबलों ने वसीम बारी की हत्या का बदला लेते हुये एक एनकाउंटर में आतंकी सज्जाद और पाकिस्तानी आतंकी उस्मान को मार गिराया था।

bhupender singh _1 & 
अनंतनाग में भी आतंकियों ने बीते 8 जून के दिन कश्मीरी हिंदू सरपंच अजय पंडिता की गोली मारकर हत्या कर दी थी। आतंकियों ने इस वारदात को उस वक्त अंजाम दिया था जब अजय शाम के वक्त अपने बागान में काम कर रहे थे। हमले के बाद आस-पास के स्थानीय नागरिकों ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था। बता दें कि अजय पंडिता ने आतंकियों की धमकी के बावजूद कभी भी डरकर अपनी मातृभूमि को नहीं छोड़ा था। जबकि उनका परिवार जम्मू में रहता है। लेकिन वह अपने आखिरी समय तक आतंकियों का सामना करते हुये कश्मीर घाटी में ही थे।

bhupender singh _1 &