लव जिहाद : ‘प्रेम जाल’ की उन्मादी चाल!

    दिनांक 30-सितंबर-2020   
Total Views |
लव जिहाद की घटनाओं में एकाएक बढ़ोतरी दिखाई दे रही है। कट्टर इस्लामी तत्व सुनियोजित तरीके से अपनी असलियत छुपाकर हिन्दू युवतियों को अपने ‘प्रेम’ जाल में फंसाते हैं, फिर उनका कन्वर्जन करके निकाह करते हैं। युवतियों को जब तक सच का पता चलता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है
p44_1  H x W: 0
राजस्थान के सीकर में फर्जी हिन्दू नाम ‘कबीर शर्मा’ बताकर हिन्दू युवती से ‘शादी’ (बाएं)  की  इमरान ने (फाइल चित्र)

देश के अनेक हिस्सों में लव जिहाद की घटनाओं में  आश्चर्यजनक तेजी आती दिखी है। पाञ्चजन्य इस प्रकरण पर बेलाग रपट प्रकाशित करता रहा है। गत 13 सितम्बर के अंक में लव जिहाद पर ‘प्यार का इस्लामिक कत्ल’ नाम से आवरण कथा प्रकाशित की गई थी। उसमें विस्तार से ऐसी कई घटनाओं की जानकारी थी। देश में उत्तर प्रदेश, राजस्थान से लेकर महाराष्ट्र तक में ऐसी घटनाएं हो रही हैं और इनमें मजहबी उन्मादियों की संलिप्तता खुलेआम  सामने आई है।

 फरवरी, 2020
गत फरवरी माह में हरियाणा के यमुनानगर में एक हिंदू युवती ने थाने में मामला दर्ज कराया कि आसिफ अंसारी नाम के एक युवक ने शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया। उसने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई तो शादी के वादे करके समझौता कर लिया और बाद में उसका कन्वर्जन कराकर उससे निकाह कर लिया। तीन माह बाद ही उसे दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा। मांग पूरी न होने पर तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया।

 मार्च, 2020
गत मार्च में लखनऊ के अलीगंज में रहने वाली एक युवती की फेसबुक पर इलाहाबाद के ‘सौरभ यादव’ से मुलाकात हुई। बातचीत के बाद दोनों मिलने लगे। दोनों की दोस्ती प्रेम में बदल गई। वह उसे एक दिन होटल में ले गया और नशीली चाय पिलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। इस दौरान उसने उसके अश्लील वीडियो भी बना लिए और शादी का झांसा देकर संबंध बनाता रहा।
  जब उसने शादी से इनकार किया तो लड़की उसके घर पहुंच गई। वहां जाकर पता चला कि जिसे वह सौरभ समझ रही थी असल में उसका नाम मोबीन खान है। वह पहले से शादीशुदा था, उसके दो बच्चे भी थे। इसी तरह उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में एक शादीशुदा मुस्लिम युवक ने हिंदू युवती को धोखे में रखकर उससे मंदिर में शादी रचाई। आरोप है कि युवक ने युवती को पहले प्रेमजाल में फंसाया था। आरोपी का नाम नासिर था जबकि उसने युवती को अपना नाम ‘कृष्णकुमार कश्यप’ बताया था। वास्तविकता का पता चला तो युवती ने थाने में रपट लिखाई। 

 मई, 2020
उत्तर प्रदेश के कानपुर में भी दो युवतियों ने एक मुस्लिम युवक पर अपनी पहचान छिपाकर धोखाधड़ी कर यौन शोषण का आरोप लगाया था। एक बहुराष्ट्रीय फार्मा कंपनी में बतौर मैनेजर कार्यरत मुस्लिम युवक ने दो हिंदू युवतियों को अपना परिचय हिंदू के रूप में दिया और बाद में उनका यौन शोषण किया। आरोप के अनुसार, युवक ने एक युवती से तो शादी भी की, लेकिन थोड़े दिन बाद ही उसे तलाक दे दिया। आरोपी युवक का नाम दानिश अली है। वह चकेरी थाना क्षेत्र के जाजमऊ का निवासी है।

राजस्थान में एक मुस्लिम युवक ने अपना नाम बदलकर हिंदू युवती से शादी की। वह 13 वर्ष तक असलियत छिपाए रहा। इस दौरान उनके दो बच्चे हो गए। जब उसने बेटों का खतना कराने की बात कही तो उसके मुस्लिम व पहले से शादीशुदा होने का पता चला। विरोध करने पर शौहर ने उसे तलाक देकर अपने फूफा से जबरन हलाला कराया

  जून, 2020
उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में फैजल नाम के मुस्लिम युवक ने अपना नाम सोनू बताकर  बुलंदशहर की रहने वाली युवती से शादी कर ली और जब वह गर्भवती हुई तो उसे अकेला छोड़कर भाग गया। युवती की तरफ से इस संबंध में थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। तब से लेकर अभी तक पुलिस आरोपी युवक की तलाश में जुटी है।

  जून, 2020
राजस्थान पुलिस ने गत मई माह में इमरान भाटी नामक युवक को मुंबई से गिरफ्तार किया था। उसने कबीर शर्मा नाम बताकर एक हिंदू युवती से शादी की, बहुत सारा दहेज लिया और गायब हो गया। सीकर थाने में इस संबंध में मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने उसे मुंबई से गिरफ्तार कर लिया। बाद में पता चला कि वह शादीशुदा और तीन बच्चों का पिता था।

  अगस्त, 2018
राजस्थान में ही एक मुस्लिम युवक ने अपना नाम बदलकर हिंदू युवती से शादी कर ली। वह 13 वर्ष तक असलियत छिपाए रहा। इस दौरान उनके दो बच्चे भी हो गए। जब उसने बेटों का खतना कराने की बात कही तो उसके मुस्लिम व पहले से शादीशुदा होने का पता चला। विरोध करने पर शौहर ने उसे तलाक देकर अपने फूफा से जबरन हलाला कराया। इसके बाद उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया।

  अगस्त, 2019
इसी तरह गत अगस्त माह में नवी मुंबई में हेयर ड्रेसर अजमल ने अजय बनकर पहले तो हिंदू लड़की से जान-पहचान बढ़ाई, फिर उसे अपने प्रेम जाल में फंसाकर बांद्रा अदालत में उससे शादी की। बाद में अपने दो भाइयों और एक दोस्त के बाद उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। लड़की की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी अजमल रईस खान, अफसर रईस खान, इख्तार खान और मकसूद रफीक अहमद को गिरफ्तार कर लिया।

  सितम्बर, 2020
अभी सितम्बर माह में ही कानपुर में नौबस्ता थाना क्षेत्र में रहने वाली 15 साल की छात्रा से बेंगलुरू के एक युवक ने दोस्ती की। आरोपी फतेह खान बीते तीन साल से नाबालिग के घर के पास ही किराये का कमरा लेकर रह रहा था। फतेह खान ने अपनी पहचान छिपाते हुए अपना नाम आर्यन मल्होत्रा बताकर उससे जान—पहचान बढ़ाई। वह उस पर कन्वर्जन कर निकाह करने का दबाव बना रहा था। परिजनों को जब इस बात का पता चला तो उन्होंने पुलिस को मामले की जानकारी दी। बाद में युवक के पास से दो आईडी कार्ड बरामद हुए।

  सितम्बर, 2020
सितंबर में ही आगरा के सिंकदरा क्षेत्र में  रहने वाली 17 वर्षीया नाबालिग युवती से सहारनपुर निवासी इकरार ने रवि नाम बताकर दोस्ती की। उसे बातों में फंसाया और कन्वर्जन कराकर निकाह कर लिया। उसका नाम इकराना रख दिया। लड़की अगस्त से लापता थी। मामले की तलाश में जुटी पुलिस ने अपहरण, दुराचार और पोक्सो की धारा में मामला दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया है।

  मार्च, 2019
उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में गत वर्ष मार्च में एक मुस्लिम युवक ने अपनी पहचान छिपाकर एक हिंदू युवती से शादी कर ली और उसके साथ पति के रूप में कई महीनों तक रहा। एक दिन युवती रिजवान नाम के इस युवक का आधार कार्ड हाथ लगा जिसके बाद उसके मुस्लिम होने का पता चला। इसके बाद इस लड़की ने इस मामले में देवरिया पुलिस थाने में अपने पति के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया।
इन सब घटनाक्रमों से स्पष्ट है कि कट्टर इस्लामी तत्व सुनियोजित तरीके से अपनी असलियत छुपाकर हिन्दू युवतियों को अपने ‘प्रेम’ जाल में फंसाते हैं, फिर उनका कन्वर्जन करके निकाह करते हैं। इन युवतियों को जब तक सच का पता चलता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है। कई युवतियों की इन उन्मादियों ने जान तक ले ली है।