बीएसएफ को फिर मिली कठुआ में अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर सुरंग, आतंकी करते थे घुसपैठ के लिए इस्तेमाल

    दिनांक 14-जनवरी-2021
Total Views |
गत बुधवार को कठुआ जिले में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की टीम ने अंतरराष्ट्रीय सीमा के हीरानगर सेक्टर में एक सुरंग का पता लगाया है। बीएसएफ के अधिकारियों ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि बुधवार सुबह एक अभियान के दौरान बीएसएफ के जवानों ने बोबियान गांव में सीमा पार से बनाई गई एक सुरंग का पता लगाया, जिसका निर्माण आतंकवादियों को भारतीय सीमा में घुसपैठ के लिए किया जाता था।
surang_1  H x W
 
गत बुधवार को कठुआ जिले में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की टीम ने अंतरराष्ट्रीय सीमा के हीरानगर सेक्टर में एक सुरंग का पता लगाया है। बीएसएफ के अधिकारियों ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि बुधवार सुबह एक अभियान के दौरान बीएसएफ के जवानों ने बोबियान गांव में सीमा पार से बनाई गई एक सुरंग का पता लगाया, जिसका निर्माण आतंकवादियों को भारतीय सीमा में घुसपैठ के लिए किया जाता था। मौके पर पहुंचे बीएसएफ के वरिष्ठ अधिकारी ये पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि ये सुरंग कितनी लंबी है और क्या आतंकियों ने इस रास्ते घुसपैठ की है। बता दें कि सांबा, कठुआ बॉर्डर क्षेत्रों में लंबी घास पायी जाती है, जिसका इस्तेमाल आतंकी छिपने के लिए और सुरंग बनाने के लिए करते हैं। हालांकि सीमा सुरक्षा बल की टीम सतर्क है और कार्रवाई जारी है। बीएसएफ की टीम सांबा में विशेष मशीनों की सहायता से इन घासों को कटवा रही है।
गौरतलब है कि सांबा सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बीते नवंबर 2020 में बीएसएफ ने 150 मीटर लंबी भूमिगत सुरंग का पता लगाया था। जिसका इस्तेमाल आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ के लिए किया जाता था। राज्य के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह और बीएसएफ, जम्मू के महानिरीक्षक, एन एस जमवाल और जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने मौके पर पहुंचकर सुरंग का निरीक्षण किया था। ज्ञात हो कि पाकिस्तानी सेना की मदद से लगातार आतंकी घुसपैठ की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि सेना की टीम सतर्क है और कार्रवाई लगातार जारी है।