जम्मू—कश्मीर: फर्जी लश्कर-ए-तैयबा मॉड्यूल का भंडाफोड़, पुलिस ने इमाम समेत तीन को किया गिरफ्तार

    दिनांक 18-जनवरी-2021   
Total Views |

जम्मू—कश्मीर स्थित सोपोर में फर्जी लश्कर-ए-तैयबा मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए पुलिस ने एक इमाम समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार फर्जी आतंकी लोगों को धमकाकर पैसे की वसूली करते थे।
hh_1  H x W: 0

जम्मू—कश्मीर स्थित सोपोर में फर्जी लश्कर-ए-तैयबा मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए पुलिस ने एक इमाम समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार फर्जी आतंकी लोगों को धमकाकर पैसे की वसूली करते थे। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार फर्जी आतंकियों ने अब तक 8 लोगों से वसूली की थी। गिरफ्तार होने के बाद इनके पास से पुलिस ने पोस्टर समेत कई चीजें बरामद की हैं। पुलिस ने मीडिया को बताया कि एक व्यक्ति ने शिकायत दर्ज कराई कि उसे एक पत्र मिला है, जिसमें लश्कर-ए-तैयबा आतंकी संगठन के लिए 50 हजार रुपये देने को कहा गया था।

पत्र में लिखा था कि संगठन को विभिन्न गतिविधियों को अंजाम देने के लिए पैसे की जरूरत है। जिसके बाद पुलिस ने शिकायत दर्ज करके जांच शुरू कर दी। जांच के बाद पुलिस ने सोपोर के वारपोरा इलाके से 3 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनकी पहचान अली मोहम्मद रेशी, इमाम मुमताज अहमद वार और राज मिस्त्री अब्दुल कयूम गनई के रूप में हुई है। तीनों गिरफ्तार आरोपी सोपोर के वारपोरा के रहने वाले हैं।

गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि पहले वे टारगेट का चुनाव करते हैं, जिसके बाद उस व्यक्ति को ब्लैकमेल करने के लिए लश्कर-ए-तैयबा के लेटरपैड पर बच्चों से पत्र भिजवाते हैं। गिरफ्तार आरोपियों ने बताया कि वे केवल वारपोरा में ही नहीं बल्कि सोपोर में भी लोगों से वसूली करते हैं। वहीं पुलिस का कहना है कि इस मामले में कुछ और लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है।