आंदोलन की आड़ में फैलाई अराजकता, उपद्रवियों ने पुलिस पर ट्रैक्टर चढ़ाने की कोशिश की तो कहीं घेर कर पीटा

    दिनांक 27-जनवरी-2021   
Total Views |
26 जनवरी को दिल्ली में अलग-अलग जगहों पर हुई हिंसा और अराजकता में करीब 250 से अधिक पुलिस कर्मियों के घायल होने के समाचार हैं। इस दौरान किसानों ने अलग-अलग जगहों पर पुलिस के साथ हिंसा की, जिसमें पुलिस कर्मी घायल हुए हैं।
1bc_1  H x W: 0

26 जनवरी को दिल्ली में अलग-अलग जगहों पर हुई हिंसा और अराजकता में करीब 150 से अधिक पुलिस कर्मियों के घायल होने के समाचार हैं। इस दौरान किसानों ने अलग-अलग जगहों पर पुलिस के साथ हिंसा की, जिसमें पुलिस कर्मी घायल हुए हैं। 2 पुलिसकर्मी लोकनायक अस्पताल और सुश्रुत ट्रॉमा सेंटर में भर्ती हैं तो वहीं अधिकतर पुलिसकर्मियों के हाथ-पैर और सिर पर चोटें आई हैं।

दीवार कूदकर बचाई जान

1bc1_1  H x W:
सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे लाल किला में घुसे उपद्रवियों के हाथों में लाठी-डंडे और तलवार है। जब पुलिस ने इन प्रदर्शनकारियों को खदेड़ना शुरू किया तो उल्टे वह पुलिस पर हमलावर हो गए। खबरों की मानें तो इस दौरान पुलिस के जवानों ने दीवार कूद कर अपनी जान बचायी और जो नहीं भाग सके उनको घेरकर लाठियों से पिटाई की गई है। इसके बाद आईटीओ और नांगलोई में भी ‘कथित किसानों’ ने जमकर हंगामा और हिंसा की।

1bc1_1  H x W:
दिल्ली पुलिस के एडिशनल पीआरओ अनिल मित्तल ने बताया कि अधिकतर पुलिसकर्मियों को लाल किला और नांगलोई चौक इलाके में चोटें आई हैं और वे जख्मी हुए हैं। नॉर्थ जिले में 41, ईस्ट में 34, वेस्ट में 27, द्वारका में 30, शाहदरा में 5, आउटर-नॉर्थ में 12 और साउथ जिले में 4 पुलिसकर्मी जख्मी हुए। लोकनायक और सुश्रुत के अलावा लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज, अरुणा आसफ अली और लाल बहादुर शास्त्री अस्पतालों में इनका इलाज चल रहा है।

पलवल-फरीदाबाद में भी की हिंसा

1bc1_1  H x W:

पलवल-फरीदाबाद सीमा पर भी किसान प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के साथ हिंसा की। इस दौरान पलवल के एसपी और उनके एक साथी अधिकारी पर आंदोलनकारियों ने ट्रैक्टर चढ़ाने की कोशिश की, लेकिन वे बाल-बाल बच गए।