करदाता के पैसे पर महबूबा का शाही खर्च, सिर्फ 6 महीने में सीएम आवास पर खर्च किये थे 82 लाख रुपए

    दिनांक 06-जनवरी-2021
Total Views |
जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने अनुच्छेद- 370 की आड़ में सीएम आवास की साज सज्जा पर सिर्फ 6 महीने के भीतर 82 लाख रुपये खर्च किये थे। जनता के पैसों से लाखों रुपये की कालीन, बेडशीट और एलईडी लाइट खरीद कर महबूबा मुफ्ती ने मुख्यमंत्री रहते हुए शानदार जिंदगी गुजारी

mahabooba _1  H
जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने अनुच्छेद- 370 की आड़ में सीएम आवास की साज सज्जा पर सिर्फ 6 महीने के भीतर 82 लाख रुपये खर्च किये थे। जनता के पैसों से लाखों रुपये की कालीन, बेडशीट और एलईडी लाइट खरीद कर महबूबा मुफ्ती ने मुख्यमंत्री रहते हुए शानदार जिंदगी गुजारी। यही वजह है कि अनुच्छेद 370 निरस्त होने के बाद से ही महबूबा मुफ्ती परेशान हैं और लगातार राज्य की जनता को गुमराह करके 370 की बहाली का राग अलाप रही हैं।
बता दें कि श्रीनगर के आरटीआई कार्यकर्ता इनाम उन नबी सौदागर की ओर से दायर की गई आरटीआई से यह चौंकाने वाली जानकारी मिली है। महबूबा के जनवरी 2018 से जून 2018 तक मुख्यमंत्री रहते छह महीने में श्रीनगर के गुपकार रोड़ स्थित सीएम आवास की साज सज्जा के लिए हास्पिटेलिटी एंड प्रोटोकाल विभाग ने एक से एक बढ़िया चीजें खरीद कर मुख्यमंत्री को दी। इनमें 22 लाख रुपये के एलईडी, 11.62 लाख रुपये की चादरें और 28 लाख की कालीन भी शामिल है। विभाग ने महबूबा मुफ्ती के सरकारी आवास पर अप्रैल 2016 से 2018 तक खर्च किये गये धन का हिसाब दिया है। अधिकतर खर्च वर्ष 2018 में हुआ है। सरकारी धन को पानी की तरह बहाकर कुल 14 महंगी चीजें खरीद गई हैं। इनमें करीब 25 लाख रुपये का फर्नीचर, आवास के बाग के लिए करीब तीन लाख रुपये का गार्डन अंबरेला भी खरीद गया है। महबूबा मुफ्ती का बाथ स्लीपर ही 6800 रुपये का था। सवा लाख रुपये वैक्यूम क्लीनर पर भी खर्च किये गये थे। महबूबा मुफ्ती के लिए वर्ष 2017 में 1.37 रुपये की रिवाल्विंग चेयर भी खरीदी गई थी। यह सारी जानकारी आरटीआई के जवाब में मिली है। इस खुलासे पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना ने कहा कि जब भी गुपकार एलायंस के नेता जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री बने, तो उन्होंने प्रदेश को लूटा है। गरीब जनता के पैसे का दुरुपयोग किया है। उन्होंने कहा कि अब लूट के खुलासे हो रहे हैं, कोई नहीं बचेगा।