पुलवामा जैसे फिदायीन हमले की साजिश नाकाम, सुरक्षाबलों ने सात आतंकियों को किया गिरफ्तार

    दिनांक 11-मार्च-2021   
Total Views |
जम्मू-कश्मीर पुलिस ने अवंतीपोरा में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के एक मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है। खबरों के अनुसार आतंकी पुलवामा की तरह एक बड़े आईईडी ब्लास्ट और फिदायीन हमले की साजिश रच रहे थे। सुरक्षाबलों ने मॉड्यूल का भंडाफोड़ करके सात आतंकियों को गिरफ्तार किया है, जिनके पास से सुरक्षाबलों ने एक कार समेत हथियार बरामद किए हैं
jk_1  H x W: 0

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने अवंतीपोरा में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के एक मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है। खबरों के अनुसार आतंकी पुलवामा की तरह एक बड़े आईईडी ब्लास्ट और फिदायीन हमले की साजिश रच रहे थे। सुरक्षाबलों ने मॉड्यूल का भंडाफोड़ करके सात आतंकियों को गिरफ्तार किया है, जिनके पास से सुरक्षाबलों ने एक कार समेत हथियार बरामद किए हैं। गिरफ्तार आतंकियों में एक आत्मघाती हमलावर, चार जैश—ए—मोहम्मद व तीन लश्कर—ए—तैयबा के हैं।

 शुरुआती पूछताछ में गिरफ्तार आतंकियों ने बताया कि सैन्य काफिले एवं म्यूनिसिपल कमेटी पांपोर की इमारत पर आइईडी हमले की योजना थी। कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने मीडिया को बताया कि आतंकियों के पास से सुरक्षाबलों ने 25 किलोग्राम अमोनिया और बड़ी मात्रा में आईईडी बनाने की सामग्री बरामद की है। पुलिस को खुफिया सूचना मिली थी कि पांपोर में जैश—ए—मोहम्मद ने आतंकियों को भर्ती किया है। यह सभी पुलावामा हमले की ही तरह कोई बड़ा धमाका करने की फिराक में थे। इन पर नजर रखी गई और आतंकी साहिल नजीर को पकड़ लिया गया। उसने पूछताछ में माना है कि वह कार को वाहन बम बना रहा था। इसमें उत्तरी कश्मीर में सक्रिय एक ओजीडब्ल्यू मदद कर रहा था। एक आइईडी उसे ही पहुंचानी थी।

उन्होंने कहा कि आईईडी एक चिंता का विषय है। पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में विस्फोटकों को गिराने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल करने के साथ ही घुसपैठ की कोशिशें कर रहा है, इससे निपटने के लिए हम तैयार हैं।


स्टिकी बम से अलर्टआतंकियों के पास से स्टिकी बम होने की आशंका को देखते हुए सभी सुरक्षा एजेंसियों ने कार्यप्रणाली बदलाव कर सुरक्षातंत्र को और मजबूत बनाया है।