अनुसूचित जाति के युवक ने मुस्लिम लड़की से शादी की तो मुसलमानों ने पूरे मोहल्ले में दहशत फैला दी

    दिनांक 22-मार्च-2021
Total Views |
यह घटना कहीं और की नहीं बल्कि दिल्ली के सराय काले खां इलाके की है। जहां जिहादी भीड़ ने हाथों में तलवारें और डंडे लिए पूरी रात हंगामा किया

sarai kale khan _1 &


वर्ष 2018 के फरवरी, दिल्ली में 23 वर्षीय अंकित की इसलिए हत्या कर दी गई थी क्योंकि वह मुस्लिम लड़की से प्रेम करता था। इस तरह दिल्ली के पिछले साल अक्टूबर में आदर्शनगर इलाके में राहुल की इसी तरह पीट—पीटकर हत्या कर दी गई थी। ये ही मुसलमारनों की फितरत है।
देश की राजधानी दिल्ली में मुस्लिम लड़की से प्यार और शादी करना हिंदू लड़के के पूरे मोहल्ले को भारी पड़ गया। हिंदू युवक ने प्रेम विवाह करने पर बिफरे मुस्लिम लड़की के परिजनों ने लड़के के घर और आसपास की तीन गली में जमकर तोड़फोड़ की। 50 से ज्यादा मुसलमानों की भीड़ हाथों में तलवार और डंडे लिए हुए थी।
जिहादी भीड़ ने इलाके आधे घंटे तक लाठी डंडों और तलवार के साथ लोगों की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया। घटना के बाद से इलाके में तनाव फैल गया। घटना की सूचना के बाद मौके पर अर्द्धसैनिक बलों को तैनात कर दिया गया है। रात में हुए उपद्रव के बाद इलाके के लोग हतप्रभ हैं और दहशत में हैं।
जानकारी के अनुसार, अनुसूचित जाति के एक युवक द्वारा मुस्लिम लड़की से प्रेमविवाह से नाराज लड़की के परिजनों ने हाथों में तलवार और डंडे लेकर जमकर उपद्रव काटा। 50 से अधिक की संख्या में वे बस्ती में घुसे और यहां की तीन गलियों को निशाना बनाया । यह सब योजनाबद्ध तरीक से रात के 11 बजे के बाद किया गया। अचानक हुए हुए हमले से बस्ती में रहने वाले लोग सहम गए। लोगों ने पुलिस को घटना की सूचना दी। पुलिस के मौके पर पहुंचने के बाद भी वे हंगाम करते रहे। बड़ी मुश्किल से उन पर काबू पाया गया। पुलिस ने लोगों की शिकायत कर पांच युवकों को हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।
जानकारी के अनुसार सराय काले खां इलाके में रहने वाले एक अनुसूचित जाति के युवक और मुस्लिम युवती का प्रेम संबंध था। स्थानीय लोगों के मुताबिक युवक ने करीब छह माह पहले ही चोरी छिपे युवती से प्रेम विवाह कर लिया था। कुछ दिन पहले ही युवती के स्वजनों ने युवती की शादी किसी अन्य व्यक्ति से तय कर दी थी। जिसके बाद युवती ने दो दिन पहले सनलाइट कालोनी थाने में बयान दर्ज कराने के बाद युवक के साथ चली गई। युवक का परिवार युवती को लेकर अपने किसी रिश्तेदार के घर गाजियाबाद रहने चला गया है। इसी से नाराज होकर दूसरे समुदाय के लोगों ने शनिवार रात जमकर उपद्रव काटा और इलाके में दहशत फैला दी। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हथियारों व लाठी-डंडों से लैस बेखौफ मुसलमानों की भीड़ को जो भी दिख रहा था वह उस पर वह हमला कर रहे थे।