यति नरसिंहानंद सरस्वती और वसीम रिजवी का सिर काटने के लिए लगाई थी होर्डिंग, एफआईआर दर्ज

    दिनांक 15-अप्रैल-2021   
Total Views |

हाल ही में उत्तर प्रदेश स्थित कानपुर जिले में एआइएमआइएम के अराजक तत्वों ने एक विवादित होर्डिंग लगाई थी। होर्डिंग में यति नरसिंहानंद और वसीम रिजवी के सिर काटने की धमकी दी गई थी. शिकायत के बाद पुलिस ने अज्ञात लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की है
kanpur_1  H x W


विगत कुछ दिनों से मुस्लिम संगठनों द्वारा विवादित होर्डिंग एवं धरना-प्रदर्शन के माध्यम से प्रदेश का वातावरण खराब करने का प्रयास किया जा रहा है. मुस्लिम संगठन यति नरसिंहानंद को नुकसान पहुंचाने का षड्यंत्र रच रहे हैं. इसी के साथ वसीम रिजवी के खिलाफ भी मुस्लिम संगठन नफरत फैला रहे हैं. वसीम रिजवी ने ही कुरआन की विवादित आयतों को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी. अभी हाल ही में कानपुर जनपद में विवादित होर्डिंग लगाई गई थीं.होर्डिंग में दोनों लोगों की फोटो लगा कर सिर काटने की धमकी दी गई.


ज्ञात हो कि विवादित होर्डिंग को ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) के अराजक तत्वों ने लगवाया. विवादित होर्डिंग को लेकर बजरंगदल के कार्यकर्ताओं ने पुलिस से शिकायत की. पुलिस ने मौके पर पहुंच कर विवादित होर्डिंग एवं पोस्टर को हटवा दिया. जानकारी के अनुसार कानपुर के थाना चमनगंज अंतर्गत हलीम कॉलेज चौराहे पर एआइएमआइएम के लोगों ने गत रविवार को धरना-प्रदर्शन किया था. इसके बाद वहां पर यति नरसिंहानंद सरस्वती और वसीम रिजवी के बारे में धमकी भरी होर्डिंग लगाई गई था. चमनगंज के हलीम कालेज चौराहे पर होर्डिंग लगाने के बाद कई अन्य चौराहे पर भी पोस्टर लगाये गए थे.

 

उल्लेखनीय है कि शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने कुछ दिन पूर्व कुरआन की 26 आयतों को हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी. याचिका दायर करने की वजह से मज़हबी लोग उनसे सख्त नाराज हैं. कई स्थानों पर उनके खिलाफ बयान जारी किये गए हैं. पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए विवादित होर्डिंग और पोस्टर को तत्काल हटवा दिया. अज्ञात लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कर इस मामले में विवेचना की जा रही है.