सात जनपदों में आक्सीजन प्लांट लगवाएंगे भाजपा एमएलसी अवनीश सिंह

    दिनांक 23-अप्रैल-2021   
Total Views |
इंजीनियर अवनीश कुमार सिंह हाल ही में विधान परिषद सदस्य(एमएलसी) निर्वाचित हुए हैं. उन्होंने अपना पहला वेतन प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण के लिए दिया. अब इस महामारी में आक्सीजन की किल्लत दूर करने के लिए अपनी एक वर्ष की निधि से लखनऊ, बाराबंकी, सीतापुर, हरदोई, लखीमपुर-खीरी, रायबरेली,प्रतापगढ़ और बाराबंकी में आक्सीजन का प्लांट लगवाने जा रहे हैं.
bjp_1  H x W: 0

इंजीनियर अवनीश कुमार सिंह हाल ही में विधान परिषद सदस्य(एमएलसी) निर्वाचित हुए हैं. उन्होंने अपना पहला वेतन प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण के लिए दिया. अब इस महामारी में आक्सीजन की किल्लत दूर करने के लिए अपनी एक वर्ष की निधि से लखनऊ, बाराबंकी, सीतापुर, हरदोई, लखीमपुर-खीरी, रायबरेली,प्रतापगढ़ और बाराबंकी में आक्सीजन का प्लांट लगवाने जा रहे हैं.

अवनीश सिंह ने इन सभी जनपदों के जिलाधिकारियों को पत्र लिखा है कि शीघ्र अति शीघ्र आक्सीजन प्लांट लगवाया जाए. इन जनपदों के जिस भी अस्पताल में जिलाधिकारी चाहें वहां पर आक्सीजन प्लांट लगवाना सुनिश्चित करें. इस कार्य में किसी भी प्रकार का विलम्ब ना किया जाय. इसके लिए जो भी व्यय आयेगा उसे विधायक निधि से खर्च किया जायेगा.


भाजपा एमएलसी, अवनीश कुमार सिंह हरदोई, लखनऊ एवं आस-पास के जनपदों में खासे लोकप्रिय हैं. इस महामारी के दौर में उन्होंने देखा कि अस्पतालों में आक्सीजन सिलेंडर समय पर ना पहुंच पाने के कारण मरीजों के इलाज में दिक्कत हुई. मरीजों को आक्सीजन की कमी ना होने पाए, इसके लिए एमएलसी अवनीश सिंह ने तत्काल कदम उठाते हुए अपनी एक वर्ष की पूरी विधायक निधि इन सभी जनपदों को अवमुक्त कर दी है.

 

एमएलसी अवनीश सिंह कहते हैं  “मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की कोशिश है कि इस महामारी में सभी को इलाज मिले और सभी की आजीविका सुरक्षित रहे. इसी के साथ ही मेरा प्रयास है कि इस महामारी के दौर में संक्रमित लोगों को राहत पहुंचा सकूं. ऐसे में आक्सीजन की आपूर्ति निर्बाध चले यह जरूरी है. इसलिए मैंने अपने क्षेत्र के हर जनपद में आक्सीजन प्लान्ट लगवाने का निर्णय लिया है. सातों जनपद के जिलाधिकारी से मैंने कहा है कि इस कार्य को अविलम्ब पूर्ण करा दिया जाए. यह भी कहा है कि जिले के बड़े बारात घरों, होटलों, गेस्ट हाउसों में एल-1 एवं एल – 2 के अस्पताल बनवाये जायें.