पिता का श्राद्ध नहीं किया उस पैसे से पीड़ितों के लिए खरीदा वेंटिलेटर

    दिनांक 28-अप्रैल-2021   
Total Views |
कोरोना के खिलाफ लड़ाई में लोग भी जी जान से जुटे हुए हैं। नागपुर के अजित पारसे ऐसे ही कोरोना योद्धा हैं। उन्होंने अपने पिता का श्राद्ध नहीं किया बल्कि उस पैसे से पीड़ितों के लिए वेंटिलेटर खरीदकर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को देकर दिया है ताकि लोगों की मदद हो सके
ajit_1  H x W:

अजित पारसे नागपुर के रहने वाले हैं। सोशल मीडिया विश्लेषक अजित पारसे ने अपने पिता के श्राद्ध पर खर्च न करते हुए उस पैसे से वेंटिलेटर खरीदा है। उन्होंने वेंटिलेटर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को सौंपा ताकि उसे कोरोना मरीजों के लिए इस्तेमाल किया जा सके।

उन्होंने बताया कि श्राद्ध पर होने वाले खर्च से जो बचत हुई, उसमें कुछ और पैसे जोड़कर उन्होंने कोरोना मरीजों के लिए उन्होंने मिनी वेंटिलेटर खरीदा। वेंटिलेटर पर जाने से पहले ऑक्सीजन लेवल कम होने वाले कोरोना मरीजों के लिए इस मशीन का प्रयोग किया जाता है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के निवासस्थान पर उन्हें वेंटिलेटर सौंपा।

अजित पारसे बताते हैं कि समय पर वेंटिलेटर नहीं मिलने से अनेक लोगों की मौत हुई है। जिस समाज में हम रहते हैं उसके लिए हमारी भी कुछ जिम्मेदारियां हैं। मेरे पिता ने ही मुझे यह शिक्षाएं दी थीं इसलिए मैंने अपने पिता का श्राद्ध न करके यह मिनी वेंटिलेटर खरीदा और कोरोना मरीजों के लिए समर्पित किया। यही मेरे पिता को मेरी तरफ से सच्ची श्रद्धांजलि है।