कोरोना की विभीषिका में फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों ने भारत को दिया हर संभव मदद का भरोसा, कहा—हम साथ मिलकर जीतेंगे

    दिनांक 28-अप्रैल-2021   
Total Views |
कोरोना की विभीषिका को देखते हुए दुनिया भारत की मदद के लिए आगे आ रही है। इसी कड़ी में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने फेसबुक पर एक पोस्ट लिखी। हिंदी में लिखी इस पोस्ट में उन्होंने भारत को हर संभव मदद का भरोसा दिया है। उन्होंने कहा कि मौजूदा हालात में फ्रांस भारत की हरसंभव मदद के लिए तत्पर है।
rastrapati_1  H


कोरोना की विभीषिका को देखते हुए दुनिया भारत की मदद के लिए आगे आ रही है। इसी कड़ी में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने फेसबुक पर एक पोस्ट लिखी। हिंदी में लिखी इस पोस्ट में उन्होंने भारत को हर संभव मदद का भरोसा दिया है। उन्होंने कहा कि मौजूदा हालात में फ्रांस भारत की हरसंभव मदद के लिए तत्पर है।

rastrapati_1  H


राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा, 'हम जिस महामारी से गुजर रहे हैं, कोई इससे अछूता नहीं है। हम जानते हैं कि भारत एक मुश्किल दौर से गुजर रहा है। फ्रांस और भारत हमेशा एकजुट रहे हैं। हम सहायता प्रदान करने के लिए तत्परता से जुटे हैं।' उन्होंने आगे लिखा, 'एकजुटता हमारे राष्ट्र के केंद्र में है। यह दोनों देशों के बीच की मित्रता के केंद्र में है। हम साथ मिलकर जीतेंगे।'

फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने भारत को मेडिकल उपकरण, वेंटिलेटर, ऑक्सीजन और आठ ऑक्सीजन जेनरेटर भेजने की भी बात कही है। उन्होंने बताया कि प्रत्येक जनरेटर आसपास की हवा से ऑक्सीजन उत्पादन करने में सक्षम है। यह जनरेटर किसी अस्पताल को ऑक्सीजन के मामले में 10 साल तक आत्मनिर्भर बना सकता है। विभिन्न मंत्रालय एवं विभाग कड़ी मेहनत कर रहे हैं और फ्रांसीसी कंपनियां भी इस दिशा में एकजुटता दिखा रही हैं।

राष्ट्रपति का संदेश एकजुटता को दर्शाता

भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुअल लिनैन ने राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों के फेसबुक पोस्ट को शेयर करते हुए लिखा कि राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों का संदेश भारत के समर्थन में फ्रांस की बड़ी एकजुटता को दर्शाता है. भारत और फ्रांस की दोस्ती के दिल में एकजुटता है. हम साथ मिलकर लड़ेंगे.

फ्रांसीसी राजदूत ने बताया कि फ्रांस भारत को 8 उच्च क्षमता वाला ऑक्सीजन जनरेटर मुहैया करा रहा है, जिसमें प्रत्येक जेनरेटर वर्षों तक 250 बेड्स के लिए ऑक्सीजन तैयार करेंगे. पांच दिन के लिए 2000 मरीजों के लिक्विड ऑक्सीजन भी मुहैया कराया जाएगा. इसके अलावा फ्रांस भारत को 28 वेंटीलेटर और आईसीयू के लिए उपकरण मुहैया कराएगा।