पटना: महावीर मंदिर प्रबंधन ने अग्रसेन सेवा सदन को कोविड अस्पताल में किया परिवर्तित

    दिनांक 28-अप्रैल-2021   
Total Views |
कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के बीच पटना स्थित महावीर मंदिर प्रबंधन ने कोविड मरीजों को उपचार सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया है. मंदिर न्यास द्वारा संचालित बेगूसराय स्थित महावीर अग्रसेन सेवा सदन को कोविड डेडिकेटेड अस्पताल के रूप में परिवर्तित करने का निर्णय लिया गया है. इसके लिए चिकित्सकों की तैनाती कर दी गई है.
m_1  H x W: 0 x

 कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के बीच पटना स्थित महावीर मंदिर प्रबंधन ने कोविड मरीजों को उपचार सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया है. मंदिर न्यास द्वारा संचालित बेगूसराय स्थित महावीर अग्रसेन सेवा सदन को कोविड डेडिकेटेड अस्पताल के रूप में परिवर्तित करने का निर्णय लिया गया है. इसके लिए चिकित्सकों की तैनाती कर दी गई है.

पहले यहां सामान्य रोगियों के लिए अस्पताल खोला जाना था. महावीर मंदिर न्यास द्वारा संचालित पटना के महावीर कैंसर संस्थान, महावीर हृदय अस्पताल, महावीर वात्सल्य अस्पताल में सुपर स्पेशियलिटी सेवाओं के कारण उन्हें कोविड अस्पताल में परिवर्तित करना संभव नहीं हो पाया.

जानकारी के अनुसार महावीर मंदिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल की ओर से आमंत्रित महावीर अस्पतालों के निदेशकों और वरीय चिकित्सकों की बैठक में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए बेगूसराय के नए अस्पताल को कोविड अस्पताल के रूप में शुरू करने का निर्णय लिया गया. आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि अति महत्वपूर्ण मानवीय दायित्व के तहत मंदिर की ओर से कोरोना के गंभीर मरीजों को मुफ्त ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए भी पहल की गई है. इसके लिए महावीर वात्सल्य अस्पताल परिसर में दो नए ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाएंगे. एक में लिक्विड से ऑक्सीजन तैयार होगा और दूसरे में हवा से. लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट के लिए कोलकाता की कंपनी लिंडे इंडिया लिमिटेड को ऑर्डर दिया गया है.

वहीं, हवा से ऑक्सीजन तैयार करने के लिए औरंगाबाद, महाराष्ट्र की एजेंसी एयरोक्स टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड को ऑर्डर किया गया है. प्लांट की आपूर्ति होने के बाद दोनों प्लांट के चालू होते ही कोरोना मरीजों को मुफ्त ऑक्सीजन मिलेगी.

अभी सिलेंडर की अनुपलब्धता के कारण शुरुआत में खाली सिलेंडर लाने पर ऑक्सीजन दिया जाएगा. इसके लिए कोई शुल्क नहीं लगेगा. यह सुविधा केवल कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए है. अस्पताल में सिलेंडर की आपूर्ति होने पर जरूरतमंद कोरोना मरीजों को सिलेंडर के साथ ऑक्सीजन मिलेगा. उन्होंने बताया कि सब कुछ प्लांट की आपूर्ति में लगने वाले समय पर निर्भर करेगा.

मरीजों के मिलेगी मुफ्त एंबुलेंस की सुविधा

शुरुआती लक्षण वाले कोरोना मरीजों के लिए महावीर मंदिर की ओर से जरूरी दवाओं की किट मुफ्त दी जाएगी. महावीर मंदिर न्यास की ओर से संचालित महावीर कैंसर संस्थान, महावीर वात्सल्य अस्पताल और महावीर आरोग्य संस्थान तीनों स्थानों पर एक-एक सेंटर बनाया गया है. सोमवार से दवाओं का वितरण शुरू हो जाएगा. कोरोना मरीजों को एंबुलेंस की किल्लत को देखते हुए महावीर मन्दिर प्रबंधन ने मुफ्त एंबुलेंस और अंतिम यात्रा वाहन देने का निर्णय लिया है.

महावीर वात्सल्य अस्पताल के निदेशक और पीएमसीएच के पूर्व प्राचार्य डॉ. एसएन सिन्हा को इसका नोडल अधिकारी बनाया गया है. वहीं, कोरोना संबंधित निःशुल्क चिकित्सकीय परामर्श के लिए तीनों अस्पताल के डॉक्टरों का महावीर मन्दिर कोविड-19 हेल्प ग्रुप बनाया गया है. महावीर कैंसर संस्थान के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एलबी सिंह को इसका समन्वयक बनाया गया है. एक दर्जन से अधिक डॉक्टर मोबाइल पर कोरोना संबंधित निःशुल्क चिकित्सकीय परामर्श देंगे.