कोरोना से लड़ने के लिए रूस ने की मदद, अमेरिका भी आया आगे

    दिनांक 29-अप्रैल-2021   
Total Views |
रूस ने दो विमानों में भेजी मेडिकल सहायता भेजी है। वहीं अमेरिका ने भी 100 मिलियन डॉलर की सहायता की घोषणा की है। अमेरिका द्वारा भेजी गई मदद भी शुक्रवार शाम तक भारत पहुंच जाएगी
mdad wali desh_1 &nb

भारत में कोरोना महामारी के सबसे कठिन दौर में बड़ी संख्या में देश भारत को मेडिकल सहायता भेजने के लिए कदम उठा रहे हैं। अमेरिका और रूस ने भारत में कोविड महामारी से निपटने के लिए बड़ी सहायता भेजी है। रूस से भेजे गए मेडिकल उपकरण और दवाइयों से भरे दो कार्गों हवाईजहाज दिल्‍ली में उतर चुके हैं। वहीं, अमेरिका भी चिकित्सा आपूर्ति की पहली खेप को भेज रहा है। शुक्रवार को शाम तक यह भी भारत पहुंच जाएगी। अमेरिका भारत को 100 मिलियन डॉलर की मेडिकल सहायता कर रहा है।

बता दें कि भारत ने कोरोना की पिछली लहर में सभी देशों की मदद के लिए कारगर कदम उठाए थे। इस पर जब भारत को जरूरत है तो बिना भारत के कहे बड़ी संख्या में देश भारत को मेडिकल सहायता भेजने के लिए कदम उठा रहे हैं। ऐसा तब है जबकि भारत की तरफ से मदद के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपील नहीं की गई है।
रूस के विमान के विमान बृहस्पतिवार सुबह मदद लेकर भारत पहुंचे। रूस के दो विमान 20 ऑक्सीजन कंसंटेटर, 75 वेंटिलेटर, 150 बेडसाइड मॉनिटर और दवाइयां लेकर यहां पर पहुंचे।

वहीं अमेरिका की तरफ से बयान में कहा गया है कि अमेरिका ने भारत को भेजी जाने वाली सारी मेडिकल सहायता की तैयारी कर ली है। शुक्रवार शाम तक सहायता यहां पर पहुंच जाएगी।


ये देश मदद के ल‍िए आए हैं आगे
बता दें कि अमेरिका, रूस, फ्रांस, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, आयरलैंड, बेल्जियम, रोमानिया, लक्समबर्ग, सिंगापुर, पुर्तगाल, स्वीडन, न्यूजीलैंड, कुवैत और मॉरीशस सहित कई प्रमुख देशों ने भारत को महामारी से लड़ने में मदद करने के लिए मेडिकल सहायता की घोषणा कर चुके हैं।