यूपी: कोरोना काल में भी यात्रियों को समय पर पहुंचाया जा रहा गंतव्य तक

    दिनांक 30-अप्रैल-2021   
Total Views |
एक तरफ जहां दिल्ली की सरकार आक्सीजन को अस्पतालों में पहुंचाने का कार्य भी सही से नहीं कर पा रही है वहीं यूपी में यूपी रोजवेज की बसें कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए लगातार लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने में दिन रात जुटी हुई हैं
up_1  H x W: 0

कोरोना महामारी में परिवहन निगम, प्रवासियों और दैनिक यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए कठिन परिश्रम कर रहा है. परिवहन निगम की 9 हजार बसें इस कार्य में लगी हुई हैं. यात्रियों से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कराया जा रहा है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि “यात्रियों और प्रवासियों की पूरी तरह से सहायता की जाए. बस डिपो को स्वच्छ रखा जाए और बसों को पूरी तरह से समय-समय पर सैनिटाइज किया जाए.” कोरोना की पहली लहर में राज्य परिवहन निगम ने यात्रियों और प्रवासियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया था.  इस बार भी परिवहन निगम यात्रियों को उनकी मंजिल तक पहुंचा रहा है.

 
परिवहन निगम के महाप्रबंधक डी.वी. सिंह ने बताया कि “कोविड की इस दूसरी लहर में भी जनता की सेवा में कोई कमी नहीं आने पाएगी.  हर प्रवासी और यात्री को उनके गंतव्य तक पहुंचाया जा रहा है.  इस कार्य में 3 हजार सरकारी चालक-परिचालक लगाए गए हैं. संविदा के 18 हजार  चालक और 15 हजार परिचालक अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं.” प्रदेश में परिवहन निगम की बसों को प्रतिदिन सैनिटाइज किया जा रहा है. सुबह बस जब डिपो से निकलती है तब बस को सैनिटाइज किया जाता है. उसके बाद जितनी बार बसें डिपो में आती हैं, उतनी बार सैनिटाइज करके यात्रियों के लिए सुरक्षित किया जा रहा है.