एप्पल डेली के संपादक की गिरफ्तारी पर चीन विरोधी सुर तेज

    दिनांक 22-जून-2021   
Total Views |
हांगकांग के लोकतंत्र समर्थक अखबार और वेबसाइट एप्पल डेली के प्रधान संपादक, प्रकाशक की चीन की दमनकारी नेशनल सिक्यूरिटी लॉ के अंतर्गत गिरफ्तारी से हांगकांग में चीन के विरुद्ध भावनाओं का ज्वार फूट पड़ा है। यह दमन चीन के सरकार के विरुद्ध एक नए आन्दोलन की पूर्वपीठिका बन सकता है।
hh_1  H x W: 0


और जैसी संभावना थी, ऐप्पल डेली अखबार के प्रधान संपादक रयान लॉ, और अखबार के प्रकाशक तथा इसकी मूल कंपनी नेक्स्ट डिजिटल लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी चेउंग किम-हंग, जिन्हें हांगकांग के दमनकारी  नेशनल सिक्यूरिटी लॉ के तहत गुरुवार को गिरफ्तार किया गया था, हांगकांग की एक अदालत ने उन्हें जमानत देने से इनकार कर दिया है, और उनके मामले की सुनवाई 13 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दी है।

चीन के विरुद्ध उकसाने का आरोप
उल्लेखनीय है कि गत 17 जून 2021 को, हांगकांग पुलिस ने ऐप्पल डेली के मुख्यालय छापा मारा, और सीईओ चेउंग किम-हंग और मुख्य संपादक रयान लॉ, के साथ साथ सीओओ रॉयस्टन चाउ, सहयोगी प्रकाशक चान पुई-मैन और ऐप्पल डेली डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म के निदेशक चेउंग ची-वाई को गिरफ्तार कर लिया था। उन पर नेशनल सिक्यूरिटी लॉ के अनुच्छेद 29 का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए दायर आरोपत्र  में कहा गया है, कि 1 जुलाई, 2020 से 3 अप्रैल, 2021 के बीच, इन आरोपियों ने नेक्स्ट डिजिटल के संस्थापक जिमी लाई और अन्य के साथ मिलकर विदेशी ताकतों को चीन पर प्रतिबंध लगाने उसकी नाकाबंदी करने और अन्य शत्रुतापूर्ण गतिविधियों में शामिल होने के लिए उकसाया।

हांगकांग की सर्वाधिक पढ़ी जाने वाली दूसरी वेबसाइट
एप्पल डेली हांगकांग का लोकप्रिय टैब्लॉइड अखबार है, जिसकी स्थापना 1995 में हांगकांग के प्रसिद्ध उद्यमी और लोकतंत्र समर्थक जिमी लाई ने की थी। यह अख़बार चीनी भाषा में प्रिंट और डिजिटल संस्करण प्रकाशित करता है, जबकि अंग्रेजी संस्करण केवल डिजिटल माध्यम में उपलब्ध है। इसकी लोकप्रियता का पता इस बात से भी चलता है कि जनवरी 2019 में रॉयटर्स इंस्टीट्यूट के द्वारा कराये गए सर्वेक्षण में, एप्पल डेली अखबार और इसकी समाचार वेबसाइट हांगकांग में सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली दूसरी वेबसाइट थी। हांगकांग के चीनी विश्वविद्यालय द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण में  एप्पल डेली,  2019 का  तीसरा सबसे भरोसेमंद समाचार पत्र माना गया।

लोकतंत्र समर्थक लाई के खिलाफ वर्ष में दूसरी कार्यवाही
पिछले एक वर्ष में यह दूसरी घटना है जब हांगकांग पुलिस ने एप्पल डेली के खिलाफ बड़ी कार्यवाही की है,  इसके पूर्व  पिछले वर्ष इस मीडिया समूह के संस्थापक  जिमी लाई और अन्य अधिकारियों को नेशनल सिक्यूरिटी लॉ  के उल्लंघन और कथित धोखाधड़ी के संदेह में गिरफ्तार किया गया था। लोकतंत्र के धुरंधर समर्थक लाई, 2019 से  अनधिकृत सभाओं में अपनी भूमिका के आरोप में 20 महीने की जेल की सजा काट रहे हैं| पिछले महीने, हांगकांग सरकार ने लाई के नेक्स्ट डिजिटल और उसके स्वामित्व वाली तीन कंपनियों के सभी शेयरों और स्थानीय बैंक खातों को सील कर दिया था। नेशनल सिक्यूरिटी लॉ के तहत इन्हीं कथित अपराधों के लिए जुलाई में उन पर फिर से मुकदमा चलाया जाना है, और इस बात की पूरी संभावना है कि उन्हें आजीवन कारावास की सजा दे दी जाए।

हांगकांग लंबे समय से स्वतंत्र प्रेस के गढ़ के रूप में जाना जाता था, और कई अंतरराष्ट्रीय समाचार संगठनों ने शहर में क्षेत्रीय मुख्यालय स्थापित किए। परन्तु हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक आन्दोलनों के प्रारंभ होते ही चीन ने यहाँ अपने कठोर कानूनों के द्वारा दमन और उत्पीड़न प्रारंभ कर दिया | पिछले वर्ष ही हांगकांग में नेशनल सिक्यूरिटी लॉ लागू किया गया और उसके बाद से इस कानून का इस्तेमाल लोकतंत्र समर्थक कार्यकर्ताओं, वकीलों और राजनेताओं को जेल में डालने में किया गया है।

गिरफ्तारी की विश्वव्यापी निंदा
ऐप्पल डेली के विरुद्ध हुई इस छापेमारी और गिरफ्तारियों की विश्वव्यापी निंदा हो रही है। संयुक्त राज्य अमेरिका, यूरोपीय संघ और यूनाइटेड किंगडम के साथ-साथ संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार प्रवक्ता ने इसकी आलोचना की है। परन्तु निर्लज्ज चीन इसे  प्रेस की स्वतंत्रता का दमन नहीं मानता। इसके विपरीत चीन के विदेश मंत्रालय ने चेतावनी देते हुए कहा कि विदेशी ताकतों को  "हांगकांग के कानून से खिलवाड़ करना बंद कर देना चाहिए"।

चीन के विरुद्ध आंदोलन की पूर्वपीठिका
परन्तु यह दमन चीन के सरकार के विरुद्ध एक नए आन्दोलन की पूर्वपीठिका बन सकता है। इस घटना की अगली सुबह इस लोकतंत्र समर्थक अखबार ने पहले पन्ने पर लिखा है, "हमें आगे बढ़ना चाहिए"। हांगकांग के लोगों ने भी चीन के विरोध और इस अखबार के पक्ष में जिस तरह समर्थन व्यक्त किया किया है, उससे यही प्रतीत होता है। इस दिन रोज की तरह छापी जाने वाली अस्सी हज़ार प्रतियों के बजाय पांच लाख प्रतियों में विशेष संस्करण छापा गया, और जिन्हें प्राप्त करने के लिए, हांगकांग के लोगों ने प्रबल उत्साह व्यक्त किया। यह चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के अन्यायपूर्ण शासन के विरुद्ध एक नए आन्दोलन का आरम्भ है!