पड़ोस : पाकिस्तान पर चीनी शिकंजे का फिर मिला सबूत

    दिनांक 01-जुलाई-2021   
Total Views |

पाकिस्तान पर चीन का कितना शिकंजा कसा हुआ है यह बात इमरान खान के ताजा साक्षात्कार से साफ हो जाती है
pakistan_1  H x
चीन के सीजीटीएन चैनल पर प्रधानमंत्री इमरान खान


हाल ही में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक साक्षात्कार में साफ का है कि चीन के साथ पाकिस्तान के बहुत अच्छे संबंध हैं। लेकिन अमेरिका और पश्चिमी देश उन पर दबाव बना रहे हैं कि हम या तो उनके साथ संबंध रखें या चीन के साथ। उन्होंने कहा कि यह बहुत अन्याय है। ये पश्चिमी ताकतें चीन के साथ संबंधों को तोड़ने के लिए हम पर दवाब बना रही हैं। इमरान खान ने कहा कि हमारे रिश्ते सभी के साथ अच्छे होने चाहिए। यह गलत है कि पाकिस्तान पर चीन से अपने रिश्तों को खत्म करने का दबाव बनाया जाए। ऐसा नहीं होगा।

29 जून को चीन के सरकारी चैनल चाइना ग्लोबल टेलीविजन नेटवर्क (सीजीटीएन) को दिए अपने साक्षात्कार में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि चीन के साथ संबंधों के कारण पाकिस्तान अमेरिका एवं पश्चिमी देशों से दबाव का अनुभव कर रहा है। वे कहते हैं कि पाकिस्तान कभी भी दबाव में नहीं आएगा। इमरान का कहना है कि पाकिस्तान और चीन के बीच 70 साल से बहुत खास संबंध हैं। दिलचस्प बात है कि इमरान के इस साक्षात्कार के कुछ अंश इंस्टाग्राम पर साझा किए गए हैं।

अमेरिका और चीन के बीच टक्कर का जिक्र करते हुए इमरान ने सीजीटीएन को बताया कि पाकिस्तान का मानना है, चीन के साथ टक्कर के चलते अमेरिका और पश्चिमी देशों का उनके जैसे देश पर पक्ष लेने का दबाव बनाना किसी दृष्टि से ठीक नहीं है। वे कहते हैं, ''हम किसी का पक्ष क्यों लें? हमारे सबके साथ अच्छे संबंध होने जरूरी हैं ऐसा नहीं होगा कि पाकिस्तान चीन के साथ संबंधों में बदलाव लाएगा या उन्हें कम करेगा। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि पाकिस्तान किसी भी दबाव के आगे नहीं झुकेगा।


पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि चीन के साथ संबंधों के कारण पाकिस्तान अमेरिका एवं पश्चिमी देशों से दबाव का अनुभव कर रहा है। वे कहते हैं कि पाकिस्तान कभी भी दबाव में नहीं आएगा। इमरान का कहना है कि पाकिस्तान और चीन के बीच 70 साल से बहुत खास संबंध हैं।