बेतवा से जुड़ने के बाद हर साल लबालब भरेगी बड़वाल झील

    दिनांक 12-जुलाई-2021   
Total Views |
इस वर्ष के अंत तक बड़वाल झील, बेतवा नदी से जुड़ जायेगी. करीब 25 वर्ष बाद झांसी का  गुरसराय कस्बा, पेयजल संकट से निजात पा सकेगा. कस्बे के आसपास के करीब 45 गांवों को सिंचाई की भी सुविधा मिलेगी. यूपी सरकार इसके लिए बड़वाल झील को गुरसराय मुख्य नहर से भरने के लिए फीडर कैनाल का निर्माण करा रही है.
jheel_1  H x W:

 परियोजना की कुल लागत 48.74 करोड़ रुपये है. मार्च तक इसमें से 35.27 करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं. सिंचाई विभाग के अनुसार इस साल दिसंबर तक यह परियोजना पूरी हो जाएगी. गुरसराय कस्बे और आसपास के 45 गांवों के लिए बड़वाल झील पानी का मुख्य स्रोत है. पिछले 25 वर्षों में कम बारिश और अन्य वजहों से यह झील सिर्फ चार बार ही पूरी तरह भर सकी. इस समस्या का स्थायी हल निकालने के लिए बारिश के सीजन में बेतवा नदीके अतिरिक्त पानी से बड़वाल झील को भरने की योजना है. पारीक्षा वियर से निकलने वाली गुरसराय मुख्य नहर द्वारा पानी पम्पिंग स्टेशन तक पानी पहुंचाया जाएगा.


गुरसराय मुख्य नहर के दाहिने किनारे पर हेड रेगुलेटर एवं 5 किमी लंबी पोषक नहर का निर्माण होना है. इसके साथ ही 8 किमी. की लंबाई में चैनलाइजेशन का काम भी होना है. फिलहाल फीडर चैनल के लिए जमीन का अधिग्रहण हो चुका है. पोषक नहर के 5.2 किमी का काम भी पूरा हो  चुका है. 10 पक्के कामों में से 5 पूरे हो चुके हैं. दिसम्बर तक परियोजना पूरी हो जाएगी.