अफगानिस्तान : अफगान फौज को बड़ी कामयाबी, तालुकान से खदेड़ा तालिबानियों को

    दिनांक 13-जुलाई-2021   
Total Views |
कई दिनों से तालिबान का जबरदस्त प्रतिरोध झेलते आ रहे अफगान फौजियों को तालुकान में जिहादियों को खदेड़ने में सफलता मिली है
talibani_1  H x
तालिबानी लड़ाके  (फाइल चित्र)

अफगानिस्तान पर तालिबान के बढ़ते कब्जे के बीच एक राहत भरी खबर मिली है। अफगान फौज ने जबरदस्त हवाई हमले करके ताजिकिस्तान की सरहद से सटे एक बड़े उत्तरी सूबे के एक बड़े शहर से तालिबानी जिहादियों को कब्जा नहीं करने दिया। अफगान फौज के हवाई हमलों से करीब 55 तालिबानी लड़ाके मारे गए और शेष भाग खड़े हुए।

तालिबान ने उत्तरी सूबे ताखर पर हमला बोला था जो असफल हो गया। सूबे के गवर्नर अब्दुल्ला करलुक ने बताया है कि तालिबानियों के उग्र हमलों को असफल कर दिया गया है। उन्हें जबरदस्त चोट पहुंची है। इस कार्रवाई में 55 जिहादी मारे गए हैं और करीब 90 घायल हुए हैं।

रायटर के हवाले से प्राप्त समाचार के अनुसार, अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ने ट्वीट करके बताया है ताखर सूबे के केंद्र, तालुकान के बाहरी इलाके में अफगानी वायुसेना के हवाई हमलों में करीब एक दर्जन तालिबानी लड़ाके मारे गए हैं।

तालिबानी बढ़त के निशाने पर आया तालुकान एक बड़ा शहर है। खबर है कि 12 जुलाई को तालिबानी हत्यारों ने पश्चिमी सूबे बड़घिस की राजधानी पर दस्तक दी थी। उन्होंने वहां कुछ पुलिसकर्मियों और रक्षा इंतजामों को जब्त कर लिया था। विशेष बलों ने उनसे टक्कर ली, जिससे पहले तालिबानों ने गवर्नर के कार्यालय पर कब्जा करने की भरूपर कोशिश की थी जो असफल कर दी गई।

ताखर पुलिस के प्रवक्ता खलील असिर का कहना है कि तालिबान जिहादियों ने 10 जुलाई की रात को तालुकान पर चारों तरफ से घेरकर हमला बोला था, लेकिन उन्हें फौज और स्थानीय लोगों से जबरदस्त टक्कर का सामना करना पड़ा। इसी जवाबी कार्रवाई में दर्जन से ज्यादा तालिबानी हलाक हो गए।

तालिबानी बढ़त के निशाने पर आया तालुकान एक बड़ा शहर है। खबर है कि 12 जुलाई को तालिबानी हत्यारों ने पश्चिमी सूबे बड़घिस की राजधानी पर दस्तक दी थी। उन्होंने वहां कुछ पुलिसकर्मियों और रक्षा इंतजामों को जब्त कर लिया था। विशेष बलों ने उनसे टक्कर ली, जिससे पहले तालिबानों ने गवर्नर के कार्यालय पर कब्जा करने की भरूपर कोशिश की थी जो असफल कर दी गई।

अमेरिकी और नाटो सैनिकों के अफगानिस्तान से निकलने के बीच तालिबानियों ने अपने कट्टर मजहबी उन्माद का जहर फैलाना शुरू कर दिया है। ऐसे में पेंटागन का बयान है कि बहुत संभव है कि तालिबान कई जिला केंद्रों पर कब्जा करने के बाद सूबाई केंद्रों पर अपनी धमक दिखाए।