जैकी चान को भाया कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना, पार्टी में शामिल होने की जताई इच्‍छा

    दिनांक 13-जुलाई-2021   
Total Views |
हॉलीवुड के एक्‍शन अभिनेता जैकी चान ने चीन की कम्‍युनिस्‍ट पार्टी के 100 वर्ष पूरे होने पर आयोजित एक कार्यक्रम में पार्टी की तारीफ की। इसी कार्यक्रम में उन्‍होंने पार्टी में शामिल होने की रुचि दिखाई।
jap_1  H x W: 0
 
हॉलीवुड स्‍टार जैकी चान चीन की सत्‍तारूढ़ कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ऑफ चाइना में शामिल होना चाहते हैं। उन्‍होंने सत्‍तारूढ़ पार्टी की तारीफ करते हुए इसे ‘महान’ बताया। जैकी कई सालों से कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ऑफ चाइना से जुड़े हुए हैं। वे चाइनीज पीपुल्स पॉलिटिकल कंसल्टेटिव कॉन्फ्रेंस (सीपीपीसीसी) के सदस्य भी रह चुके हैं। यह सीपीसी की एक सलाहकार संस्‍था है, जिसमें पार्टी द्वारा नामित पेशेवरों को सदस्‍य बनाया जाता है।
 

मार्शल आर्ट के जानकार 67 वर्षीय अभिनेता ने हाल ही में बीजिंग में एक कार्यक्रम के दौरान सीपीसी में शामिल होने की इच्छा जताई है। दरअसल, चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के 100 साल पूरे होने के अवसर पर उत्‍सव मनाया गया। इस दौरान सत्‍तारूढ़ दल ने चीनी फिल्‍म जगत की शीर्ष हस्तियों को आमंत्रित किया था। 1 जुलाई को आयोजित इस सेमिनार में राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने थियानमेन चौक नरसंहार स्थल से लोगों को संबोधित किया था। इसी कार्यक्रम में जैकी, जो चाइना फिल्म एसोसिएशन के उपाध्यक्ष हैं, ने सीपीसी की तारीफ की थी।

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स को दिए साक्षात्‍कार में जैकी ने कहा, ‘‘मैं सीपीसी की महानता को देख सकता हूं। यह पार्टी जो कहती है और वादा करती है, उसे 100 साल में नहीं, बल्कि कुछ ही दशकों में पूरा करेगी। मैंने कई देशों की यात्रा की है। मैं कह सकता हूं कि हाल के वर्षों में हमारे देश ने तेजी से विकास किया है। मैं जहां भी जाता हूं, चीन का नागरिक होने की वजह से गर्व महसूस करता हूं। दुनियाभर में ‘फाइव-स्टार रेड फ्लैग’ (चीन का राष्‍ट्रीय ध्‍वज) का सम्मान किया जाता है।’’ इसी में उन्‍होंने आगे कहा कि वे सीपीसी का सदस्‍य बनना चाहते हैं।

जैकी चान वैसे तो हांगकांग के हैं, लेकिन 2019 में उन्‍होंने हांगकांग में लोकतंत्र समर्थकों के खिलाफ बीजिंग द्वारा की गई कार्रवाई का समर्थन करते रहे हैं। इसके कारण कई बार उन्‍हें आलोचना का भी सामना करना पड़ा है। उस समय उन्‍होंने कहा था कि हांगकांग और चीन उनका घर है। उन्‍होंने कहा था, ‘‘ चीन मेरा देश है, मुझे अपने देश और अपने घर से प्यार है। हांगकांग पर चीन के नियंत्रण का विरोध करते हुए लंबे समय तक जबरदस्‍त विरोध प्रदर्शनों के बाद बीजिंग ने पिछले साल राष्ट्रीय सुरक्षा कानून पारित कर इस पर काबू पा लिया था।