तमिलनाडु : चर्च की आड़ में देह व्यापार, पादरी हुआ गिरफ्तार

    दिनांक 16-जुलाई-2021   
Total Views |
विदेशों में ही नहीं, भारत में भी मस्जिदों और चर्च में यौन शोषण, देह व्यापार होने की खबरें सामने आती रही हैं
faderaction_1  
फेडरल चर्च ऑफ इंडिया और पादरी लाल एन.एस. शाइन सिंह   (फाइल चित्र)

कन्याकुमारी में एक चर्च में देह व्यापार में रत एक पादरी आखिरकार पुलिस की गिरफ्त में आ ही गया। उसके साथ पुलिस ने चार महिलाओं सहित कुल सात लोगों को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में आरोपित पादरी और एक व्यक्ति, शिबिन ने चर्च में देह व्यापार का कारोबार चलाने का अपराध स्वीकार किया है।
तमिलनाडु के कन्याकुमारी स्थित 'फेडरल चर्च ऑफ इंडिया' के इस आरोपित पादरी का नाम है लाल एन.एस. शाइन सिंह। उसके माना है कि वह चर्च से देह व्यापार का कारोबार चला रहा था। 

‘द कम्युन’ में इस संबंध में रपट प्रकाशित की है। खबरों में अनुसार, 14 जुलाई को तमिलनाडु पुलिस ने जिस पादरी और सात अन्य को कन्याकुमारी के जिस चर्च में देह व्यापार चलाने के आरोप में पकड़ा है वह फेडरल चर्च ऑफ इंडिया एसटी मंगडु क्षेत्र में ज्योति नगर के 'डायोसिस आफ क्राइस्ट एंग्लिकन चर्च ऑफ इंडिया' से जुड़ा है। पता चला है कि पुलिस को वहां यह सब घृणित कार्य किए जाने की सूचना मिली थी, जिसके बाद पुलिस ने चर्च पर छापा मारा। वहां से पता चला कि इस चर्च में आलीशान कारों में अनेक आदमियों और औरतों का अक्सर आना—जाना होता था।

फेडरल चर्च ऑफ इंडिया जिले के बड़े चर्च में से एक माना जाता है। इस जगह देह व्यापार में लिप्त पादरी लाल एन.एस. शाइन सिंह चर्च का संस्थापक और अध्यक्ष है। शुरुआती जांच में यह बात भी सामने आई है कि चर्च के आला अधिकारियों ने चर्च परिसर को देह व्यापार के कारोबार के लिए प्रयोग किया था। इसी खुफिया जानकारी के बाद पुलिस ने चर्च पर अचानक छापा मारा और अपराधियों को रंगे हाथ पकड़ा।                              

बताते हैं, यह फेडरल चर्च ऑफ इंडिया जिले के बड़े चर्च में से एक माना जाता है। इस जगह देह व्यापार में लिप्त पादरी लाल एन.एस. शाइन सिंह चर्च का संस्थापक और अध्यक्ष है। शुरुआती जांच में यह बात भी सामने आई है कि चर्च के आला अधिकारियों ने चर्च परिसर को देह व्यापार के कारोबार के लिए प्रयोग किया था। इसी खुफिया जानकारी के बाद पुलिस ने चर्च पर अचानक छापा मारा और अपराधियों को रंगे हाथ पकड़ा। रिपोर्ट में है कि पकड़ी गईं महिलाओं में एक 19 साल की लड़की भी है जिसकी मां ने उसे जबरदस्ती देह व्यापार में धकेला था।
पादरी बिशन लाल सहित अन्य गिरफ्तार लोगों के विरुद्ध स्थानीय निथिरविलई पुलिस थाने में अभियोग दर्ज करके आगे की कार्रवाई की जा रही है। बहरहाल, इन पंक्तियों के लिखे जाने तक   चर्च की ओर से इस संबंध में कोई बयान नहीं आया है।