टोक्यो में मीराबाई ने रचा इतिहास

    दिनांक 25-जुलाई-2021
Total Views |

ओलंपिक खेलों में पहले ही दिन भारत पदक तालिका में अपना खाता खोलने में सफल रहा। भारोत्तोलन में मीराबाई चानू ने रजत पदक जीत कर इतिहास रच दिया। भारत के टेनिस, बैडमिंटन और टेबल टेनिस खिलाड़ी एकल स्पर्धाओं में जीत कर आगे बढ़े जबकि हॉकी टीम पहला मैच जीत स्पर्धा में आगे बढ़ गई है।


मीराबाई चानू ने ओलंपिक मे 

प्रवीण सिन्हा

मणिपुर की 26 वर्षीय मीराबाई चानू ने शनिवार को महिला भारोत्तोलन के 49 किग्रा वर्ग में रजत पदक जीत पदक तालिका में भारत का खाता खोला। स्टार भारोत्तोलक मीराबाई ने रजत पदक जीतने के साथ ही इतिहास रच दिया। वह ओलंपिक खेलों की भारोत्तोलन स्पर्धा में रजत पदक जीतने वाली देश की पहली खिलाड़ी बनीं। इससे पहले वर्ष 2000 सिडनी ओलंपिक में कर्नम मल्लेश्वरी ने महिला भारोत्तोलन में कांस्य पदक जीता था। यही नहीं, ओलंपिक खेलों के इतिहास में भारत ने पदकों के अभियान की शुरुआत पहली बार पहले ही दिन की है। टोक्यो ओलंपिक के शेष बचे 15 दिनों में भारतीय खिलाड़ियों के लिए यह टॉनिक का काम करेगा।

पदक तालिका में खुला खाता

2017 विश्व चैंपियनशिप और 2018 राष्ट्रकुल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता मीराबाई ने टोक्यो में कुल 202 किग्रा (स्नैच में 87 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 115 किग्रा) भार उठाते हुए रजत पदक जीता। इस स्पर्धा का स्वर्ण पदक चीन की होऊ झी हुई ने कुल 210 किग्रा वजन उठाते हुए जीता।

हॉकी, टेनिस, बैडमिंटन व टेटे में आगे बढ़े

हालांकि टोक्यो ओलंपिक 2020 में परिणामों के लिहाज से भारत के लिए पहला दिन मिला-जुला साबित हुआ। मीराबाई की ऐतिहासिक सफलता के बीच भारतीय टेनिस, बैडमिंटन, टेबल टेनिस खिलाड़ियों ने व्यक्तिगत स्पर्धाओं में जीत हासिल कर दूसरे दौर में प्रवेश किया, जबकि पुरुष हॉकी टीम ने न्यूजीलैंड को 3-2 से हराकर धमाकेदार अंदाज में अपने अभियान की शुरुआत की। उधर, सुमित नागल 1996 अटलांटा ओलंपिक में लिएंडर पेस के पदक जीतने के बाद ओलंपिक खेलों में पुरुष एकल मुकाबला जीतने वाले पहले भारतीय टेनिस खिलाड़ी बने। सुमित ने पहले दौर में उज्बेकिस्तान के इस्टोमिन डेनिस को 6-4, 6-7, 6-4 से हराकर तहलका मचा दिया।

बैडिमिंटन के पुरुष एकल के पहले ही दौर में भारत के साईं प्रणीथ को हार का सामना करना पड़ा। लेकिन पुरुष युगल मुकाबले के पहले ही दौर में भारत के सात्विक साईराज रेड्डी व चिराग शेट्टी की जौड़ी ने भारी उलटफेर भरी जीत के साथ अपने अभियान की शुरुआत की। सात्विक व चिराग ने विश्व वरीयता क्रम में तीसरे नंबर पर मौजूद चीनी ताइपे के यांग व चि लिन वांग की जोड़ी को 21-16, 16-21, 27-25 से मात दी।

टेबल टेनिस मिश्रित युगल स्पर्धा में शरत कमल व मनिका बत्रा की जोड़ी को पहले ही दौर में तीसरी वरीय चीनी ताइपे की जोड़ी से हार का सामना करना पड़ा। लेकिन मनिका बत्रा ने महिला एकल के पहले दौर का मैच जीतते हुए व्यक्तिगत स्पर्धा में अपनी दावेदारी कायम रखी। उनके अलावा सुतीर्थ मुखर्जी ने भी पहले दौर का मैच जीत भारत की उम्मीदों को कायम रखा।

निशानेबाजी व तीरंदाजी में लगा झटका

दूसरी ओर, स्टार तीरंदाज दीपिका कुमारी व प्रवीण जाधव की जोड़ी मिश्रित टीम स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में दक्षिण कोरियाई टीम से हार गई। इसके अलावा टोक्यो में भारत के पदकों की प्रबल दावेदारी पेश करने गए सौरभ चौधरी और अभिषेक वर्मा को पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धाओं में निराशा हाथ लगी। भारत को सबसे बड़ा झटका क्वालीफाइंग दौर में शीर्ष पर रहे सौरभ का फाइनल में सातवें स्थान पर पिछड़ने से लगा। इसी तरह महिलाओं की 10 मी. एयर रायफल स्पर्धा में एलावेनिल वालारिवान और अपूर्वी चंदेला फाइनल के लिए भी क्वालीफाई नहीं कर सकीं।