अफगानिस्तान : तालिबानी आतंकवादियों ने 43 लोगों की हत्या की

    दिनांक 26-जुलाई-2021   
Total Views |
अमेरिकी फौजों के अफगानिस्तान से वापस लौटने के बाद तालिबान वहां फिर से अपने पांव पसार रहा है। शरिया कानूनों के आड़ में फिर से वहां आम लोगों पर अत्याचार शुरू हो गए हैं, निर्दोष नागरिकों को मारा जा रहा है

afganistan _1   
अफगानिस्तान के गजनी प्रांत में तालिबान ने 43 लोगों की हत्या कर दी है। इन लोगों में आम नागरिक और सुरक्षाकर्मी शामिल हैं। टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार अन्य क्षेत्रों में भी इस तरह की घटनाएं सामने आई हैं। मारे गए दो युवकों के पिता ने बताया कि उनके बेटों की हत्या उस समय की गई जब ये लोग अपने परिवार के साथ इलाके से बाहर जा रहे थे। यह लोग न तो सुरक्षााधिकारी थे न सरकारी कर्मचारी थे।
सिविल सोसाइटी एक्टविस्ट मीरा नादेरी ने बताया कि मलिस्तान जिले में प्रवेश करने के बाद आतंकवादियों ने लोगों की हत्या कर दी। आतंकियों के समूह ने कई दुकानों पर लूटपाट भी की और कई दुकानों को नष्ट कर दिया।
उल्लेखनीय है कि अफगानिस्तान में तालिबान के आतंकवादी तेजी से अपनी रणनीति के अनुसार आगे बढ़ते हुए कई जिलों पर कब्जा कर चुके हैं। तालिबान ने अशरफ गनी को हटाने की मांग की है। उनका कहना है कि अगर अशरफ गनी की सरकार चली जाएगी तो वे लोग हथियार डाल देंगे।
अफगान सुरक्षा बलों ने पिछले 12 घंटों में परवान के सोरख-ए-परसा जिले और गजनी के मलिस्तान जिले पर फिर से कब्जा कर लिया है।

महिलाओं और बच्चों को भी नहीं छोड़ रहा तालिबान
अफगानिस्तान के जिलों पर तालिबानी काले कानून फिर शुरू हो गए हैं। यहां अफगान परिवारों की लड़कियों से आतंकी जबरन शादी कर रहे हैं। पुरुषों के लिए मस्जिद में रोज नमाज पढ़ने, टोपी लगाने और दाढ़ी बढ़ाने का फरमान जारी कर दिया गया है। यही नहीं महिलाओं पर भी 2001 से पहले लागू रहे शरिया कानून थोपना शुरू कर दिया गया है। अफगानिस्तान में तेजी से काबिज हो रहे तालिबान के संबंध में अमेरिका के रक्षा मंत्री लायड आस्टिन ने चिंता जताई है।