पाकिस्तान : नवाज शरीफ ने इमरान को सुनाई खरी-खोटी, चुनावी हिंसा पर विपक्षी उम्मीदवार ने कहा, इससे तो भारत अच्छा

    दिनांक 26-जुलाई-2021   
Total Views |

नवाज शरीफ ने वीडियो पोस्ट करके कहा कि कुछ लोगों ने 2018 में देश में हुए चुनाव में बहुमत पर डकैती डाल दी, इसी वजह से लोगों को ‘महंगाई, गरीबी तथा बेरोजगारी’ का सामना करना पड़ रहा ह

imaran_1  H x W
 चुनावी रैली में इमरान खान। (प्रकोष्ठ में) नवाज शरीफ  

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर जमकर बरसे हैं पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ। एक साक्षात्कार में नवाज ने इमरान को 'नालायक' और 'अनाड़ी' तक कह डाला। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के पू्र्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने लंदन से पीओके में चुनाव के संबंध में पोस्ट किए वीडियो में इमरान को खूब सुनाया है। नवाज का साफ कहना था कि अब सबक सिखाने का वक्त आ गया है। 24 जुलाई को पोस्ट किए वीडियो में नवाज शरीफ ने कहा कि कुछ लोगों ने 2018 में देश में हुए चुनाव में बहुमत पर डकैती डाल दी, इसी वजह से लोगों को ‘महंगाई, गरीबी तथा बेरोजगारी’ का सामना करना पड़ रहा है। नवाज शरीफ का कहना था कि उनकी अगुआई वाली सरकार ने पाकिस्तान को विकास के रास्ते पर लाने का काम किया था, लेकिन आज लोगों को तमाम परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

इमरान खान की तरफ संकेत करते हुए नवाज ने कहा, 'क्या आपको पता है कि हमारी हुकूमत ने पाकिस्तान को अंधेरे से बाहर निकाला था? लेकिन फिर कुछ लोगों ने 2018 के चुनाव में चोरी की, देश को खुशी और कामयाबी के रास्ते से हटा दिया। फिर उन्होंने…एक नालायक, नाअहल और अनाड़ी व्यक्ति की शिकस्त को जीत में बदल दिया गया और उसे देश पर राज करने दिया गया। इसी वजह से अवाम को काफी कुछ सहना पड़ा है। हम सब महंगाई, गरीबी तथा बेरोजगारी के नतीजों की सजा भुगत रहे हैं। लेकिन अब वक्त आ गया है, उन्हें सबक सिखाने का।'
इस बीच खबर मिली है कि 25 जुलाई को पीओके में हुए चुनावों में इमरान की पार्टी पीटीआई ने जबरदस्त हिंसा की। इसमें विपक्षी दलों के कई कार्यकर्ता घायल हुए। इससे गुस्साए विपक्षी उम्मीदवार ने तो भारत को पाकिस्तान में बुलाने की पैरवी कर दी।

पीओके के चुनाव में इमरान की पार्टी की हिंसा से माहौल इतना खराब हुआ कि एक विपक्षी उम्मीदवार ने तो यहां तक कह दिया कि इमरान की हुकूमत में हो रही हिंसा से तो भारत ही अच्छा है, वहां के लोग कम से कम चुनावी हिंसा तो नहीं करते हैं। पीओके के लोग पाकिस्तान सरकार से बेहद नाराज हैं। यहां चल रही परियोजनाओं से इस क्षेत्र के संसाधनों का दोहन किया जा रहा है।

नया पाकिस्तान बनाने का वादा कर सत्ता पाने वाले इमरान वैसे भी विपक्ष के निशाने पर ही रहते हैं। पाकिस्तान से लगातार हिंसा की खबरें आती रहती हैं। वहां आंतकवादियों को पनाह का मामला अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उसकी फजीहत करा रहा है।


अब पीओके के चुनाव में इमरान की पार्टी की हिंसा से माहौल इतना खराब हुआ कि एक विपक्षी उम्मीदवार ने तो यहां तक कह दिया कि इमरान की हुकूमत में हो रही हिंसा से तो भारत ही अच्छा है, वहां के लोग कम से कम चुनावी हिंसा तो नहीं करते हैं। बहरहाल इन चुनावों को लेकर नवाज शरीफ का कहना था कि लोगों ने उनकी पार्टी पीएमएल-एन का समर्थन किया है। नवाज का यह वीडियों पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एन) के ट्विटर अकाउंट से पोस्ट किया गया है।

बता दें कि पीओके के लोग पाकिस्तान सरकार से बेहद नाराज हैं। साथ ही यहां चल रही परियोजनाओं से इस क्षेत्र के संसाधनों का दोहन किया जा रहा है। यहां के लोग त्रस्त हैं। उन्हें इससे कोई फायदा नहीं पहुंच रहा है। आज भी यहां के ज्यादातर लोगों को लकड़ी के चूल्हे पर खाना बनाना पड़ता है। लोगों को बिजली नहीं मिलती। मंगला बांध और अन्य परियोजनाओं से पैदा होने वाली बिजली पाकिस्तान के दूसरों शहरों में जाती है। कुल मिलाकर इमरान सरकार इस इलाके के लोगों से दोयम दर्जे का व्यवहार कर रही है।