पीएमएल-एन के प्रत्‍याशी को ‘भारत से मदद’ मांगने की बात कहना भारी पड़ गया

    दिनांक 27-जुलाई-2021   
Total Views |
पाक अधिक्रांत कश्‍मीर के एक प्रत्‍याशी को ‘भारत से मदद’ मांगने की बात कहना भारी पड़ गया। नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्‍तान मुस्लिम लीग (पीएमएल-एन) ने उसे कारण बताओ नोटिस जारी किया है।
gujar_1  H x W:
पीएमएल-एन के उम्‍मीदवार चौधरी मुहम्‍मद इस्‍माइल गुर्जर

पीएमएल (एन) ने चौधरी मुहम्‍मद इस्‍माइल गुर्जर को पाकिस्‍तान अधिक्रांत कश्‍मीर के एलए-35 जम्‍मू-2 से विधानसभा चुनाव में उम्‍मीदवार बनाया था। गुर्जर ने रविवार को गुजरांवाला में मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा था कि अगर स्थानीय प्रशासन ने उनके साथ सहयोग नहीं किया तो वह ‘भारत की मदद लेंगे।’ इस पर पार्टी महासचिव अहसान इकबाल ने कहा कि गुर्जरको सात दिनों के भीतर लिखित जवाब देने को कहा गया है। अगर वे सात दिन में पार्टीको संतोषजनक जवाब देने में विफल रहे तो उनके खिलाफ सख्‍त अनुशासनात्‍मक कार्रवाई की जा सकती है।

क्‍यों कही मदद मांगने की बात?

गुर्जर शासकीय उच्‍च विद्यायल नंबर-2 में एक मतदान केंद्र से उपायुक्‍त ने कथित तौर पर पीएमएल-एन और ऑल जम्‍मू एंड कश्‍मीर मुस्लिम कांफ्रेंस के पोलिंग एजेंटों को बाहर कर दिया था। इसके बाद एजेंटों की उपायुक्‍त के साथ तीखी बहस हो गई, जिसके बाद मतदान प्रक्रिया रोक दी गई। गुर्जर का आरोप था कि पुलिसकर्मियों की मौजूदगी के बावजूद उनका चुनाव शिविर ‘नष्ट’ किया गया। उन्‍होंने चेतावनी दी थी कि अगर मतदान प्रक्रिया शांतिपूर्ण तरीके नहीं हुई तो उनकी पार्टी को भी दिक्‍कत होगी। साथ ही, दावा किया था कि उपायुक्त ने उनके पोलिंग एजेंटों को जाने के लिए कहा था और उन्हें धमकी दी थी। उन्होंने कहा था कि सरकार कार्रवाई करे नहीं तो अशांति फैल जाएगी और लोग मारे जाएंगे। बाद में जियो न्यूज से सफाई में कहा कि उनका बयान प्रशासन के लिए था। उन्होंने कहा, "भारत अधिकृत कश्मीर में कश्मीरियों को मारता है और यहीं पर ये लोग हमारे शिविरों को गिरा रहे हैं।"