पाकिस्तान : अब दर्ज होगी विदेशियों की पूरी जानकारी

    दिनांक 09-जुलाई-2021   
Total Views |
अफगानिस्तान में बदले हालात के चलते पाकिस्तान की सरकार ने विदेशियों के पंजीकरण का फैसला लिया है
pajki_1  H x W:
पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख राशिद

इस्लामाबाद से पीटीआई के हवाले से आई खबर के अनुसार, पाकिस्तान अब देश में रह रहे विदेशियों की हर जानकारी दर्ज करने जा रही है। यह जानकारी खुद वहां के गृहमंत्री शेख राशिद ने मीडिया को दी है। शेख राशिद अहमद का कहना है कि गृह मंत्रालय ने तमाम विदेशी लोगों के पंजीकरण का फैसला किया है। फिर वे विदेशी अफगानी हों या अमेरिकी। राशिद का कहना है कि गत सत्तर साल में चालीस से पचास हजार तक अज्ञात लोग पाकिस्तान में आए हैं, लेकिन उनकी कहीं कोई जानकारी दर्ज नहीं है। सरकार को नहीं पता कि वे हैं कहां, कहां बसे हैं, क्या कर रहे हैं।

8 जुलाई को इस्लामाबाद में मीडिया से बात करते हुए शेख राशिद ने आगे कहा कि यह फैसला पड़ोसी देश अफगानिस्तान में तेजी से बदल रहे सुरक्षा के हालात को देखते हुए लिया गया है। इस्लामाबाद में इसी चिंता से उपजी है सभी विदेशियों के पंजीकरण की योजना। पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख राशिद ने कहा कि पाकिस्तान में रहने वाले विदेशियों को बैंक खाते खोलने, कारोबार शुरू करने, सिम कार्ड लेने और यात्रा एवं अन्य कानूनी गतिविधियों में उनकी मदद करने के लिए विशेष 'अन्य देशीय कार्ड' जारी करने की योजना है।

pajki1_1  H x W
पाकिस्तान में पड़ोसी अफगानिस्तान से आए लोग  (फाइल चित्र)

आने वाले समय में अफगानिस्तान से बड़ी तादाद में लोग उनके देश का रुख करेंगे, जो पहले से ही कर्ज में आकंठ डूबे इस्लामी देश के लिए मुसीबत की बात होगी। यह आशंका पुख्ता होती है गृह मंत्री की इस बात से कि, पिछले दिनों कुछ लोगों को नकली अफगानी पहचान पत्र बनाने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया है।

खबर है कि अमेरिका और नाटो की सेनाओं ने युद्धग्रस्त अफगानिस्तान से अपने सैन्य बलों की वापसी की प्रक्रिया लगभग पूरी हो गई है, संभवत: 90 फीसदी सैनिक वापस हो चुके हैं। इससे बनी परिस्थिति में तालिबान और स्थानीय जिहादियों के मजबूत होने का खतरा बढ़ गया है। पाकिस्तानियों को लगता है, इससे आने वाले समय में अफगानिस्तान से बड़ी तादाद में लोग उनके देश का रुख करेंगे, जो पहले से ही कर्ज में आकंठ डूबे इस्लामी देश के लिए मुसीबत की बात होगी। यह आशंका पुख्ता होती है गृह मंत्री की इस बात से कि, पिछले दिनों कुछ लोगों को नकली अफगानी पहचान पत्र बनाने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया है।

पाकिस्तान के हुक्मरानों की मानें तो सभी वीजा आवेदनों को ऑनलाइन उपलब्ध कराया है और वीजा भी 30 दिन के अंदर जारी किए गए हैं। इससे पहले वहां की विभिन्न सुरक्षा एजेंसियां ऑनलाइन आए सभी आवेदनों पर नजर डालती हैं, उनकी समीक्षा करती हैं और यदि वे तीस दिन के अंदर कुछ संदिग्ध नहीं पाते तो वीजा जारी कर दिया जाता है।