'बाइडेन हैं हार के जिम्मेदार, तालिबान के आगे अमेरिका ने टेके घुटने': निक्की हेली

    दिनांक 23-अगस्त-2021   
Total Views |

रिपब्लिकन नेता का कहना है कि बाइडेन प्रशासन ने बगराम एयरफोर्स बेस हाथ से जाने दिया। इतना ही नहीं, उन्होंने 85 अरब डॉलर की मशीनें और हथियार तालिबान के हवाले कर दिए।
woman_1  H x W:
निक्की हेली   (फाइल चित्र)


अमेरिका
की कद्दावर नेता निक्की हेली ने 22 अगस्त को यह कहकर अमेरिकी नेताओं को चौंका दिया कि अफगानिस्तान में अमेरिका ने तालिबान के आगे घुटने टेके हैं और इस 'हार' के जिम्मेदार हैं राष्ट्रपति जो बाइडेन।
भारतीय—अमेरिकी नेता निक्की जो बाइडेन पर जमकर बरसी हैं। उन्होंने साफ कहा कि अमेरिका ने तालिबान के आगे पूरी तरह से आत्मसमर्पण कर दिया है।’ निक्की संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी दूत रह चुकी हैं और अपने बेबाक बयानों के लिए जानी जाती हैं। उन्होंने अफगानिस्तान के वर्तमान हालात और अमेरिका की भूमिका पर तीखा हमला किया सीबीएस न्यूज चैनल को दिए अपने साक्षात्कार में। निक्की ने कहा कि अमेरिका ने अपने लिए काम करने वालों को अफगानिस्तान में अकेला छोड़ दिया।

अमेरिका की वरिष्ठ नेता हेली का कहना है, ‘बाइडेन प्रशासन तालिबान के साथ बातचीत नहीं कर रहा है। लगता है उन्होंने तालिबान के सामने पूरी तरह से घुटने टेक दिए हैं। उन्होंने बगराम एयरफोर्स बेस हाथ से जाने दिया, जो नाटो का एक खास केन्द्र था। इतना ही नहीं, उन्होंने 85 अरब डॉलर की मशीनें और हथियार तालिबान के हवाले कर दिए। हमें उनको वहां से वापस लाना चाहिए था।’

निक्की हेली ने बाइडेन प्रशासन की अफगानिस्तान से वापसी की नीति की तीखी आलोचना की। और सिर्फ निक्की ही नहीं, अमेरिका के कई नेताओं ने बाइडेन के इस फैसले की आलोचना करनी शुरू कर दी है।
 
निक्की हेली का कहना है, 'बाइडेन ने अमेरिकी लोगों के घुटने टिकवाए हैं। अमेरिकी नागरिकों को वापस लाने से पहले हमारे सैनिक वापस बुला लिए। हमारे अफगान सहयोगियों को बेसहारा छोड़ दिया।'

हेली का आगे कहना था, 'बाइडेन ने अमेरिकी लोगों के घुटने टिकवाए हैं। अमेरिकी नागरिकों को वापस लाने से पहले हमारे सैनिक वापस बुला लिए। हमारे अफगान सहयोगियों को बेसहारा छोड़ दिया, जिन्होंने मेरे पति जैसे कितने ही लोगों की उस जगह तैनाती के दौरान सुरक्षा की थी। यह पूरी तरह से किया गया आत्मसमर्पण और शर्मनाक नाकामयाबी है।' निक्की हेली बाइडेन प्रशासन की अफगानिस्तान के संदर्भ में बनी नीतियों की मुखर आलोचक हैं।

निक्की का कहना है कि उन्हें यकीन नहीं हो रहा कि तालिबान ने सच में अमेरिकी नागरिकों को बंधक बनाया है। ये डराने वाला वक्त है। हमें अपने उन सहयोगियों के साथ काम करना होगा, इस समय हम पर विश्वास नहीं कर रहे हैं। उन्हें लगता है कि हमने अपना विवेक खो दिया है। हमें अपने नागरिकों और सहयोगियों को वहां से बाहर निकालने के तरीके पता लगाने होंगे।

माना जा रहा है कि रिपब्लिकन पार्टी की नेता निक्की हेली 2024 के राष्ट्रपति चुनाव में एक प्रमुख उम्मीदवार होंगी।