जम्मू-कश्मीर: तालिबान समेत किसी भी चुनौती से निपटने में सक्षम है सेना और पुलिस–आईजी विजय कुमार

    दिनांक 23-अगस्त-2021   
Total Views |

कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने कहा कि तालिबान समेत किसी भी चुनौती से निपटने के लिए जम्मू कश्मीर पुलिस, सेना और अन्य सुरक्षा एजेंसियां समर्थ हैं।
as_1  H x W: 0
कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने कहा कि तालिबान समेत किसी भी चुनौती से निपटने के लिए जम्मू कश्मीर पुलिस, सेना और अन्य सुरक्षा एजेंसियां समर्थ हैं। उन्होंने कहा कि जिम्मेदार पुलिस अधिकारी होने के नाते यह मेरी जिम्मेदारी है कि घाटी में मौजूद आतंकियों की पूरी जानकारी हासिल करके उन्हें खत्म करना। इसके अलावा सेना के साथ मिलकर यहां लोगों को सुरक्षित व विश्वासपूर्ण माहौल देना भी हमारी जिम्मेदारी है। पुलवामा के अवंतीपोरा स्थित सेना की विक्टर फोर्स के मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत में आईजी ने कहा कि हम सभी प्रकार की चुनौतियों से पेशेवर तरीके से निपटने में सक्षम हैं। इस दौरान विक्टर फोर्स के जीओसी मेजर जनरल रशिम बाली भी मौजूद थे।
आईजीपी विजय कुमार ने कहा कि कश्मीर में शांति बनाए रखने में जनसहयोग बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि आम लोग आतंकियों की गतिविधियों की सूचनाएं सुरक्षाबलों तक पहुंचाते हैं, जिस कारण कई बड़ी वारदातों को टाला गया है। आम जनसहयोग के कारण ही कई नामी आतंकी भी मारे गए हैं। उन्होंने कहा कि अगर कोई बड़ी आतंकी घटना होगी, तो सबसे पहले नुकसान स्थानीय लोगों को ही होगा और पर्यटक यहां आने से डरेंगे। जिस कारण यहां की अर्थव्यवस्था प्रभावित होगी। उन्होंने आम नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि किसी भी तरह की आतंकी गतिविधियों के बारे में जानकारी मिलने पर तुरंत सुरक्षाबलों को सूचित करें।
घाटी में नेताओं पर आतंकी हमलों के संदर्भ में विजय कुमार ने कहा कि नेता आतंकियों के लिए आसान निशाना हैं। जिस तरह से अवकाश पर अपने घर जाने वाला कोई पुलिसकर्मी, सुरक्षाकर्मी या फिर आतंकियों को बेनकाब करने वाला पत्रकार हमेशा आतंकियों के निशाने पर होते हैं, उसी तरह राजनीतिक लोग भी आसान शिकार होते हैं। पुलिस ज्यादा से ज्यादा लोगों को सुरक्षा प्रदान कर रही है, फिर भी प्रत्येक को निजी तौर पर सुरक्षा प्रदान करना संभव नहीं है। उन्होंने कहा हम लगातार किसी व्यक्ति विशेष को आतंकी खतरे का आकलन करते हैं। उन्होंने कहा कि अगर हमें किसी व्यक्ति विशेष पर आतंकी खतरा महसूस होता है, तो हम उसे उसी समय सुरक्षा मुहैया कराते हैं। बीते दिनों कुलगाम में अपनी पार्टी के नेता गुलाम हसन लोन की हत्या का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस वारदात में शामिल रहे आतंकियों को चिन्हित किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि जल्द ही वह पकड़े जाएंगे या फिर किसी मुठभेड़ में मारे जाएंगे।
गौरतलब है कि बीते शनिवार को ही पुलवामा जिले के त्राल इलाके में सुरक्षाबलों ने जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकियों को मार गिराया था, जिसमें भाजपा नेता राकेश पंडिता का हत्यारा आतंकी वकील शाह भी शामिल था।