अफगानिस्तान के हालात देखकर सीएए का विरोध करने वाले अकाली दल के बदले सुर

    दिनांक 25-अगस्त-2021   
Total Views |

सीएए और कृषि कानूनों के मामले में सरकार का विरोध कर रहे अकाली दल के सुर बदले नजर आ रहे हैं। अफगानिस्तान के हालात और वहां से हो रहे पलायन को देखते हुए अकाली दल का कहना है कि सीएए के तहत भारतीय नागरिकता देने की समयसीमा बढ़ाई जाए ताकि अफगानिस्तान से आने वाले सिखों व हिंदुओं को इसका लाभ मिल सके
affganistan_1  

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पिछले दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा से गठबंधन तोड़ने वाले शिरोमणि अकाली दल के नेताओं के सुर अब इस कानून को लेकर बदले नजर आ रहे हैं। अब वे इसके विरोध के बजाय कानून के प्रविधान में संशोधन की मांग करते हुए इसका लाभ उठाना चाहते हैं। उनका कहना है कि सीएए के तहत भारतीय नागरिकता देने की समयसीमा बढ़ाई जाए, ताकि अफगानिस्तान से आने वाले सिखों व हिंदुओं को इसका लाभ मिल सके।

अफगानिस्तान के हालात को देखते हुए अकाली दल के नेता और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के निर्वतमान अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने सोशल मीडिया के जरिए मोदी सरकार से सीएए की समय सीमा को दिसंबर 2014 से बढ़ा कर 2021 तक करने की मांग की है। इस ट्वीट में उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से अफगानिस्तान में फंसे हिंदू और सिख शरणार्थियों को लाने का भी अनुरोध किया है।

 बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद वहां अफरा तफरी का माहौल है। अफगान के लोग अपनी जान बचाने के लिए घर-बार छोड़कर दूसरे देशों में शरण ले रहे है। इसी को लेकर मनजिंदर सिंह सिरसा ने चिंता जाहिर करते हुए अपनी प्रतिक्रिया दी।