बीएसएफ ने मंदिर में तोड़फोड़ व लूट में आरोपित बांग्लादेशी घुसपैठिये जहांगीर को किया गिरफ्तार

    दिनांक 28-अगस्त-2021   
Total Views |
बीएसएफ की 153वीं बटालियन के जवानों ने बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास से भारत छोड़कर भागने की कोशिश कर रहे एक वांछित बांग्लादेशी युवक को गिरफ्तार किया है। उस पर तमिलनाडु के पेरमदुरई स्थित मंदिर में तोड़फोड़ व लूट की साजिश में शामिल होने का आरोप है।
19_1  H x W: 0  
बीएसएफ की 153वीं बटालियन के जवानों ने बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास से भारत छोड़कर भागने की कोशिश कर रहे एक वांछित बांग्लादेशी युवक को गिरफ्तार किया है। उस पर तमिलनाडु के पेरमदुरई स्थित मंदिर में तोड़फोड़ व लूट की साजिश में शामिल होने का आरोप है। दरअसल गिरफ्तारी के डर से वह वापस बांग्लादेश भाग रहा था। तमिलनाडु पुलिस को उसकी तलाश थी और इसके लिए बंगाल पुलिस व अन्य एजेंसियों को वहां की पुलिस द्वारा अलर्ट किया गया था। इसके बाद बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर मुख्यालय, कोलकाता ने भी अपनी जिम्मेदारी के क्षेत्र में सीमा पर जवानों को सतर्क कर दिया था।
दरअसल, राष्ट्रविरोधी गतिविधियों में शामिल यह अति वांछित अपराधी गुरुवार को बीएसएफ के हत्थे चढ़ गया, जब वह सीमा चौकी घोजाडांगा के क्षेत्र से बॉर्डर पार कर भागने की फिराक में था। आरोपित का नाम जहांगीर विश्वास है। वह बांग्लादेश के सतखीरा जिले का रहने वाला है।
तमिलनाडु पुलिस के आरोप के अनुसार जहांगीर एवं उसके साथियों ने पेरमदुरई के एक मंदिर में तोड़फोड़ व उसमें मौजूद बहुत सारे सोना-चांदी को लूटने की साजिश रची थी। इस बारे में पता चलने पर पुलिस ने उसके तीन साथियों को पकड़ा जबकि जहांगीर गिरफ्तारी के डर से भाग गया था। इसके बाद तमिलनाडु पुलिस ने उसे भगोड़ा घोषित कर उसकी गिरफ्तारी के लिए सभी एजेंसियों से मदद मांगी थी।