कट्टर इस्लामी बोको हराम ने ढेर किए 12 मुस्लिम गांव वाले!

    दिनांक 31-अगस्त-2021   
Total Views |
इस्लामिक स्टेट का हिस्सा मानने वाले इस जिहादी गुट के निशाने पर नाइजीरिया के मुस्लिम ही आ रहे हैं। यह आतंकी गुट अब तक ले चुका है सैकड़ों जानें
captan_1  H x W
बोको हराम के आतंकी   (फाइल चित्र)


नाइजीरिया
से प्राप्त एक समाचार के अनुसार, इस्लामी जिहादियों के जत्थे ने लोकल गवर्नमंट एरिया में कानकारा की दान-कुमेजी बस्ती पर देर शाम अचानक हमला करके लोगों में दहशत फैला दी। अत्याधुनिक हथियारों से लैस आतंकियों को देखकर जब गांव वाले भागने लगे तो हत्यारों ने उन पर गोलियां दागनी शुरू कर दीं जिसमें 12 लोगों के मारे जाने और अनेक के घायल होने की खबर है।

नाइजीरिया के द गार्जियन अंग्रेजी दैनिक के अनुसारी, 26 अगस्त की देर शाम यह हमला हुआ था। गांव वाले जब जाने बचाने को खेतों की तरफ भागे तो वहां पहले से घात लगाकर बैठे इस्लामी जिहादियों ने उन पर गोलियां बरसानी शुरू कर दीं।

27 अगस्त को मरने वालों को इस्लामी रीति से दफन किया गया। योबे सूबे में वहां की सेना ने जिहादी गुटों बोको हराम और उसके आका इस्लामिक स्टेट आफ वेस्ट अफ्रीका प्रोविंस के संयुक्त हमले को कड़ी टक्कर देकर आतंकियों को खदेड़ दिया। सेना ने खदेड़े गए आतंकियों के छोड़े अत्याधुनिक हथियार अपने कब्जे में ले लिए हैं। नाइजीरिया में सेना का मनोबल पिछले कुछ समय से गिरता दिखा है, बड़ी तादाद में उसके सैनिक सेना से बाहर हुए हैं। वहां के सेनाध्यक्ष ने योबे सूबे में सेना को मिली कामयाबी की प्रशंसा करते हुए सैनिकों से और सतर्क रहने को कहा है। उन्होंने जनता से भी अपील की है कि सेना और तथ्यात्मक जानकारियों उपलब्ध कराएं ताकि आतंक विरोधी अभियान कामयाब हो सके। 

नाइजीरिया के द गार्जियन अंग्रेजी दैनिक के अनुसारी, 26 अगस्त की देर शाम यह हमला हुआ था। गांव वाले जब जाने बचाने को खेतों की तरफ भागे तो वहां पहले से घात लगाकर बैठे इस्लामी जिहादियों ने उन पर गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। 

उल्लेखनीय है कि दान-कुमेजी बस्ती पर हुए हमले में मारने वाले इस्लामवादी थे तो उनकी गोलियों का शिकार बनने वाले भी मुस्लिम ही थे। हालांकि बोको हराम गुट हर जगह कहता है कि वह मुस्लिमों को निशाना नहीं बनाता, लेकिन उसने कई मौकों पर यह भी कहा है कि जो भी इस्लामी खलीफा का विरोध करेगा उसे वे मारेंगे, फिर चाहे वो कोई हो।