जम्मू-कश्मीर में हमले की साजिश रच रहा आतंकी मसूद अजहर, पीओजेके से घुसपैठ की फिराक में जैश के दहशतगर्द

    दिनांक 31-अगस्त-2021   
Total Views |

भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले की आशंका जताते हुए अलर्ट जारी किया है। खबरों के अनुसार सुरक्षा एजेंसियों ने पाकिस्तान अधिक्रांत जम्मू-कश्मीर में जैश-ए-मुहम्मद के आतंकियों की मौजूदगी की बात कही है।
jjj_1  H x W: 0

भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले की आशंका जताते हुए अलर्ट जारी किया है। खबरों के अनुसार सुरक्षा एजेंसियों ने पाकिस्तान अधिक्रांत जम्मू-कश्मीर में जैश-ए-मुहम्मद के आतंकियों की मौजूदगी की बात कही है। जैश के ये आतंकी पीओजेके के रास्ते घुसपैठ की फिराक में हैं। ये आतंकी आईईडी धमाके के जरिये किसी बड़े हमले को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं।

 
बता दें कि हाल ही में खबर आई थी कि पाकिस्तान में मौजूद आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद का सरगना मसूद अजहर ने अगस्त के तीसरे सप्ताह में कंधार में तालिबानी नेताओं से मुलाकात की थी। अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद मसूद अजहर ने जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए तालिबान से समर्थन की मांग की है। रिपोर्ट के मुताबिक आतंकी मसूद अजहर ने राजनीतिक आयोग के प्रमुख मुल्ला अब्दुल गनी बरादार समेत कई तालिबानी नेताओं से मुलाकात की थी।


वहीं इससे पहले मसूद अजहर ने अफगानिस्तान में तालिबान की जीत पर खुशी जताई थी। बता दें कि तालिबान और जैश-ए-मुहम्मद दोनों को शरिया कानून लागू करने में वैचारिक साथी माना जाता है। वहीं खबरों के मुताबिक जैश-ए-मुहम्मद के दहशतगर्दों ने तालिबानी आतंकियों से प्रशिक्षण लिया है। अत्याधुनिक हथियार चलाने के साथ ही सूचना प्रौद्योगिकी में प्रशिक्षित ये आतंकवादी एक सप्ताह पहले पाकिस्तान अधिक्रांत जम्मू-कश्मीर (पीओजेके) के हजीरा में स्थित जैश के ट्रेनिंग कैंप में पहुंचे हैं। हजीरा कैंप पुंछ जिले के चक्कां दा बाग के सामने स्थित है। सभी सुरक्षा एजेंसी सतर्क हैं और आतंकियों की सभी गतिविधियों पर निगरानी रख जा रही हैं।