पाकिस्‍तान की मदद से पंजाब में फिर अपनी जड़ें जमाने में जुटे आतंकी

    दिनांक 31-अगस्त-2021   
Total Views |

पाकिस्‍तान एक बार फिर से पंजाब में आतंकवाद को हवा देने की कोशिश कर रहा है। इसके लिए आईएसआई और पाकिस्‍तान में बैठे आतंकी यहां स्‍लीपर सेल तैयार करने में जुटे हुए हैं और बेरोजगार युवाओं को पैसे का लालच देकर इसमें शामिल कर रहे हैं। साथ ही, ये आतंकी ड्रोन से अपने स्‍लीपर सेल को हथियारों और विस्‍फोटकों की आपूर्ति भी कर कर रहे हैं। हाल ही में अमृतसर के सीमावर्ती गांव से हथियार और विस्‍फोटक मिलने के बाद इस साजिश का खुलासा हुआ कि आतंकियों ने अपने स्‍लीपर सेल को सक्रिय भी कर दिया है। पंजाब पुलिस ने परामर्श जारी कर लोगों से सतर्क रहने को कहा है।
imamam_1  H x W
एनआईए द्वारा गिरफ्तार गुरमुख सिंह रोडे

दरअसल, पुलिस को सूचना मिली कि 7 अगस्‍त की रात को अमृतसर में भारत-पाक सीमा के पास एक ड्रोन दिखा, जो वापस पाकिस्‍तान की ओर चला गया। इसके बाद व्‍यापक तलाशी अभियान चलाया गया। जालंधर के पूर्व जत्‍थेदार के बेटे गुरमुख सिंह रोडे पुलिस के हत्‍थे चढ़ा। उसके पास से एक बैग मिला, जिसमें सात पैकेट थे। इनमें एक प्‍लास्टिक टिफिन, पांच हैंड ग्रेनेड और 100 कारतूस थे। बाद में खुफिया एजेंसियों ने खुलासा किया कि गुरमुख को ये विस्‍फोटक पाकिस्‍तान में बैठे आतंकी लखबीर सिंह रोडे और नांदेड़ के गैंगस्‍टर हरविंदर सिंह रिंदा संधू ने आईएसआई की मदद से भिजवाए थे। पंजाब पुलिस और राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी के अनुसार, इन दोनों ने पंजाब में 70 स्‍लीपर सेल सक्रिय हैं। लखबीर और हरविंदर द्वारा तैयार जिसमें 150 से अधिक सदस्‍य हैं। इसके लिए आईएसआई लखबीर और हरबिंदर को धन मुहैया करा रही है।

स्‍लीपर सेल में शामिल बेरोजगार युवा 18-32 वर्ष के हैं। कुछ स्‍लीपर सेल सक्रिय हैं, जिन्‍हें दीवारों पर खालिस्‍तानी नारे लिखने व पोस्‍टर चिपकाने की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है। इसके लिए इन्‍हें 5,000 से 20 हजार रुपये तक दिए जाते हैं। खास बात यह है कि एक स्‍लीपर सेल के आतंकी दूसरे सेल के आतंकियों को नहीं जानते-पहचानते। जांच एजेंसियों के मुताबिक, अभी तक हथियारों और विस्‍फोटकों की पूरी खेप बरामद नहीं हो पाई है। इसलिए अभी खतरा टला नहीं है। आतंकी इनका प्रयोग आने वाले त्‍योहारों के दौरान कर सकते हैं। जो टिफिन बरामद हुआ, उसमें दो-तीन किलो आईडी था, जो जिससे बड़े हमले को अंजाम दिया जा सकता था।

 

2019 में भी पंजाब में पाकिस्तान से ड्रोन से भेजे गए हथियार बरामद हुए थे। इस मामले में 22 आरोपियों को नामजद किया गया था।

राज्‍य पुलिस सतर्क

पंजाब पुलिस ने त्‍योहारी माह को देखते हुए परामर्श जारी कर लोगों से सतर्क रहने को कहा है। गुरमुख सिंह रोडे से पूछताछ के बाद यह अलर्ट जारी किया गया है। चिंता की बात यह है कि गुरमुख ने उसने तीन टिफिन बम की आपूर्ति करने की बात कबूली है, जिनके बारे में अभी तक कुछ पता नहीं चला है। गुरमुख पाकिस्‍तान में बैठे आतंकी लखबीर सिंह रोडे का भतीजा है। पुलिस और जांच एजेंसियों की समस्‍या यह है कि एक स्‍लीपर सेल में 2-3 सदस्‍य ही हैं और उन्‍हें दूसरे सेल के सदस्‍यों के बारे में कोई जानकारी ही नहीं होती। लखबीर जिसे विस्‍फोटकों की आपूर्ति के लिए कहता, गुरमुख उसे कर देता था। उसे विस्‍फोटक कौन दे गया या उसने किसे दिया, गुरमुख को नहीं मालूम। इसके अलावा, अमृतसर से गिरफ्तार दो आतंकी शम्‍मी और अमृतपाल सिंह भी स्‍लीपर सेल के ही हैं।