देश के सीमावर्ती क्षेत्रों में मस्जिद और मदरसे बनाने के लिए विदेशी मदद

    दिनांक 10-सितंबर-2021   
Total Views |

अनेक कट्टरवादी तत्व भारत में हिंदुओं का कन्वर्जन कराने और अवैध मस्जिद और मदरसों का निर्माण कराने में लगे हैं। इसके लिए इन लोगों को भारत के मुसलमान तो पैसा देते ही हैं, साथ ही विदेश में रहने वाले मुसलमान भी इन्हें मदद करते हैं।

man_1  H x W: 0


भारत के सीमाई क्षेत्रों कोअशांत करने के उद्देश्य से कई संगठन काम कर रहे हैं। इनमें कई गैर—सरकारी संगठनों के साथ—साथ मजहबी संगठन भी अहम भूमिक निभा रहे हैं। ये लोग सीमा क्षेत्रों में जरूरत न होते हुए भी मस्जिद और मदरसे बनवा रहे हैं। इसके लिए इन्हें विदेश से जम कर मदद मिल रही है। एक ऐसा ही मामला गुजरात में सामने आया है।

पिछले दिनों गुजरात पुलिस ने सलाहुद्दीन शेख नामक एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। उस पर हिंदुओं का कन्वर्जन कराने का आरोप है। शेख वडोदरा का रहने वाला है और एक गैर—सरकारी संगठन चलाता है। उसके इस संगठन को विदेश से काफी मदद मिलती है और उसका इस्तेमाल हिंदुओं का कन्वर्जन कराने और मस्जिद और मदरसों का निर्माण कराने में होता है।

शेख की अन्य हरकतों की जांच चल रही है। अब तक हुई जांच से पता चला है कि शेख के संगठन को ब्रिटेन के एक व्यापारी ने दुबई के रास्ते हवाला के जरिए 40 करोड़ रु. भेजे थे। इनमें से कई लाख रुपए कच्छ में बन रही छह मस्जिदों के लिए भेजे गए हैं। बता दें कि कच्छ गुजरात में वह जगह है, जिसकी सीमा पाकिस्तान से मिलती है। पिछले कुछ वर्षों में इस क्षेत्र में बड़ी संख्या में मस्जिदें बनी हैं। इनमें हवाला का पैसा लग रहा है। इसकी जानकारी होने पर इन मस्जिदों में आने—जाने वाले और इनसे जुड़े लोगों पर निगरानी रखी जा रही है। इसी क्रम में शेख को पकड़ा गया है। पूछताछ में यह भी पता चला है कि शेख ने दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून यानी सीएए के विरोध में शाहीनबाग में बैठे लोगों की भी मदद की थी। शेख खुद कई बार शाहीनबाग आ चुका है। शेख के संबंध इन दिनों उत्तर प्रदेश की जेल में बंद मोहम्मद उमर से भी हैं। यह वही उमर है जिस पर हिंदुओं के कन्वर्जन कराने के अनेक आरोप हैं। इसलिए यह भी कहा जा रहा है कि शेख को मिलने वाला पैसा उमर को भी मिला होगा, क्योंकि दोनों का काम एक ही है और वह है चाहे जैसे हो हिंदुओं को मुसलमान बनाना।

ऐसे ही नेपाल और बांग्लादेश से लगी भारतीय सीमाओं पर भी मस्जिदें और मदरसे बन रहे हैं। कहा जा रहा है कि इनके लिए भी विदेश से पैसा आता है।
कैप्शन
पुलिस की गिरफ्त में सलाहुद्दीन शेख