बिहार: मैं गरीब जरूर हूं, लेकिन रुपयों के लिए अपना धर्म नहीं बदलूंगा, चर्च के चोगेधारी हिन्दुओं पर डाल रहे कन्वर्जन का दबाव

    दिनांक 14-सितंबर-2021   
Total Views |

बिहार के सीतामढ़ी स्थित पुपरी क्षेत्र में कन्वर्जन के लिए लालच देने का मामला सामने आया है। शिकायतकर्ता वीरेंद्र ने कहा कि मैं गरीब जरूर हूं, लेकिन रुपयों के लिए अपना धर्म नहीं बदल सकता। एजेंट मुझ पर मांस खाने का दबाव भी बना रहे हैं। कन्वर्जन तथा मांस नहीं खाने पर जान से मारने तथा झूठे केस में फंसाकर जेल भिजवाने की धमकी दे रहे हैं
issai_1  H x W:

बिहार
के सीतामढ़ी स्थित पुपरी क्षेत्र में कन्वर्जन के लिए लालच देने का मामला सामने आया है। प्रखंड के झझीहट गांव निवासी एक व्यक्ति ने सीतामढ़ी पुलिस अधीक्षक को शिकायत दी है। शिकायत में कहा है कि एक मत विशेष का एजेंट उन्हें कन्वर्जन के लिए एक लाख रुपये देने की बात कह रहा है। आरोप लगाया है कि गांव में रहने वाले इन एजेंटों ने अब तक 12 से ज्यादा लोगों का कन्वर्जन करवाया है।

शिकायत के अनुसार कन्वर्जन करने वालों में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अति पिछड़ा वर्ग के लोग शामिल हैं। इन्हें लालच, दबाव और बहला-फुसलाकर कन्वर्जन करवाया गया है। इस तरह गांव के गरीब लोगों का कन्वर्जन करवाने का खेल चल रहा है। शिकायत मिलने के पश्चात पुलिस अधीक्षक ने पुपरी थानाध्यक्ष को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

शिकायत करने वाले व्यक्ति का नाम वीरेंद्र कुमार है और वह अति पिछड़ा वर्ग से संबंधित हैं। वीरेंद्र ने लिखित शिकायत में कहा है कि उसके घर के समीप रहने वाला एक धर्म गुरु शिक्षण संस्थान भी चलाता है. उसने कन्वर्जन करने के लिए एक लाख रुपये का प्रलोभन भी दिया। वीरेंद्र ने इसकी शिकायत स्थानीय थाना में भी की।

पिछले कई महीने से चर्च के चोगेधारी अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति परिवार के लोगों का कन्वर्जन करवा रहे हैं। लालच से नहीं मानने पर दबाव और धमकी देकर हिन्दू धर्म छोड़ ईसाइयत को अपनाने के लिए तैयार किया जा रहा है। सबसे पहले अनुसूचित जाति के एक परिवार का कन्वर्जन करवा ईसाई बनाया था। इसके बाद अनुसूचित जाति के कई परिवारों का कन्वर्जन करवाया गया.

वीरेंद्र ने कहा कि मैं गरीब जरूर हूं, लेकिन रुपयों के लिए अपना धर्म नहीं बदल सकता। एजेंट मुझ पर मांस खाने का दबाव भी बना रहे हैं। कन्वर्जन तथा मांस नहीं खाने पर जान से मारने तथा झूठे केस में फंसाकर जेल भिजवाने की धमकी दे रहे हैं।