'देखो अपना देश' पहल को बढ़ावा देने के लिए रेलवे शुरू करेगा 'श्री रामायण यात्रा'

    दिनांक 04-सितंबर-2021   
Total Views |
ramayan train_1 &nbs 
 आईआरसीटीसी ने श्रीरामायण यात्रा के लिए पिछले साल बिना एसी और एसी3 श्रेणी वाली ट्रेन शुरू की थी। अब यह यात्रा पूरी तरह वातानुकूलित और सभी सुविधाओं से युक्‍त होगी।
भगवान श्रीराम के भक्तों के लिए एक अच्छी खबर है। भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) ने धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए ‘श्री रामायण यात्रा’ शुरू की है। इसके लिए डीलक्‍स एसी पर्यटक ट्रेन चलाई जाएगी।
आईआरसीटीसी ने भारत सरकार की पहल ‘देखो अपना देश’ को बढ़ावा देने के लिए विशेष पर्यटक ट्रेन चलाने का फैसला लिया है। आईआरसीटीसी द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार, यात्रा 7 नवंबर को दिल्‍ली सफदरजंग रेलवे स्‍टेशन से शुरू होगी और भगवान श्रीराम के जीवन से जुड़े सभी प्रमुख स्थानों की यात्रा को कवर करेगी। यह ट्रेन पहले केवल स्लीपर क्लास के साथ संचालित होती थी। लेकिन अब डीलक्‍स एसी पर्यटक ट्रेन के साथ कई अन्‍य आधुनिक सुविधाएं भी मिलेंगी। यह यात्रा 17 दिनों की होगी।
यात्रा का पहला पड़ाव अयोध्‍या होगा, जहां पर्यटक श्रीराम जन्मभूमि मंदिर, हनुमान मंदिर और इसके अलावा नंदीग्राम में भारत मंदिर का दर्शन कर सकेंगे। अयोध्या के बाद अगला पड़ाव बिहार में सीतामढ़ी, सीता की जन्मस्थली और नेपाल के जनकपुर में राम-जानकी मंदिर होगा। सीतामढ़ी के बाद ट्रेन वाराणसी के लिए रवाना होगी। यहां पर्यटक सड़क मार्ग से वाराणसी, प्रयाग, श्रृंगवेरपुर और चित्रकूट के मंदिरों में जाएंगे। वाराणसी, प्रयाग और चित्रकूट में रात्रि विश्राम की व्यवस्था की जाएगी।
ट्रेन का अगला पड़ाव नासिक होगा, जबकि हम्पी और रामेश्वरम इस यात्रा का अंतिम गंतव्य होगा। इसके बाद ट्रेन 17वें दिन दिल्ली लौटेगी। इस पूरे दौरे में मेहमान करीब 7500 किलोमीटर का सफर तय करेंगे। स्टेट ऑफ आर्ट डीलक्स एसी टूरिस्ट ट्रेन में दो बढ़िया डाइनिंग रेस्तरां, एक आधुनिक किचन, कोचों में शॉवर क्यूबिकल्स, सेंसर-आधारित वॉशरूम फंक्शन, फुट मसाजर सहित कई आश्चर्यजनक सुविधाएं उपलब्‍ध होंगी। इस यात्रा पर प्रति व्यक्ति 82,950 रुपये लागत आएगी। इसमें यात्रा भाड़ा, एसी होटलों में भोजन व आवास, एसी वाहनों में दर्शनीय स्थल, यात्रा बीमा और आईआरसीटीसी टूर मैनेजर्स की सेवाएं शामिल हैं। यात्रा के इच्‍छुक 18 वर्ष या उससे अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए पूरी तरह से टीकाकरण अनिवार्य है। इसके अलावा, आईआरसीटीसी सभी पर्यटकों को फेस मास्क, हैंड ग्लव्स और सैनिटाइजर रखने के लिए एक सुरक्षा किट भी प्रदान करेगा।