सोशल मीडिया

पाखंड का दूसरा नाम-भारतीय सेकुलर मीडिया

मुख्यधारा मीडिया के अनुसार भाजपा शासित राज्यों में होने वाले अपराध की हर छोटी-बड़ी घटना का सीधा संबंध वहां के मुख्यमंत्री और कई बार प्रधानमंत्री से होता है। लेकिन यही मीडिया बंगाल में हिंसा के लिए जिम्मेदार नेता का नाम अब तक नहीं पता कर पाया है। जब भाजपा नेता मुकुल रॉय ने कहा कि उनके कार्यकर्ता ममता बनर्जी के निर्देश पर मारे जा रहे हैं तो कुछ चैनलों को यह बयान 'अजीबोगरीब' लगा। ..

कठुआकांड को सांप्रदायिक रंग देने वाले मानवाधिकारी अब कहां हैं ?

कश्मीर घाटी में तीन साल की एक बच्ची के साथ बलात्कार हुआ। पीड़िता मुसलमान है और बलात्कारी भी। शायद यही कारण है कि किसी बुद्धिजीवी ने यह नहीं कहा, ‘इस देश में डर लगने लगा है।’ वे लोग कहां हैं, जिन्होंने पिछले साल जम्मू की एक ऐसी ही घटना को अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बनाने की कोशिश की थी..

रवैया बदलने को तैयार नहीं मीडिया का एक वर्ग

“ मीडिया का एक वर्ग चुनाव के बाद भी रवैया बदलने को तैयार नहीं है और एक सधे एजेंडे पर ही आगे बढ़ रहा है”..

लापरवाही और बेचारगी का मारा मीडिया

कांग्रेस के लिए मीडिया का प्रेम कोई छिपी बात नहीं है। 2019 के चुनावों से पहले यह बात खुलकर सामने आई है। कांग्रेस ने जब अपना घोषणापत्र जारी किया तो मीडिया के एक वर्ग का सारा जोर कुछ महत्वपूर्ण बातों को छिपाने पर था। तभी उन वादों को ज्यादा दिखाया गया जिनके बारे में सभी जानते हैं कि वे कभी पूरे नहीं होने वाले।..

सोशल मीडिया पर कांग्रेस की ओछी राजनीति

फेसबुक ने करीब 687 पेजों को अपने सिस्टम से हटा दिया। फेसबुक के अनुसार ये पेज भाजपा के खिलाफ स्थानीय स्तर पर ऐसे समाचारों को बढ़ावा दे रहे थे, जो हकीकत से दूर रहे हैं। सभी फर्जी आईडी से संचालित हो रहे थे..

जो किसी से भेदभाव नहीं करते वही मेरे शिव हैं

वो जिसने देवता ही क्यों बल्कि राक्षसों का भी ख्याल किया। सबको बराबर की मोहब्बत दी। उन सबके हिस्सों का ज़हर खुद पी लिया। वो जिनको मानने में देवता,इंसान,जानवर,राक्षस,संत सब हैं। आप सबको शिव त्रिशूल में दिखते होंगे हमें तो हर कोमल ह्रदय में शिव दिखते हैं। जिनको सबके जज़्बात का एहसास था। जो बिना किसी चालाकी के सबके अपने थे ।हर एक की पहुंच में थे। पाप पुण्य के ऊपर,वही तो शिव थे।..

सत्य के शिव

आखिर शिव में ऐसा क्या है? जो उत्तर में कैलास से लेकर दक्षिण में रामेश्वरम् तक वे एक जैसे पूजे जाते हैं। उनके व्यक्तित्व में कौन सा चुंबक है जिस कारण समाज के भद्रलोक से लेकर शोषित, वंचित, भिखारी तक उन्हें अपना मानते हैं। वे क्यों सर्वहारा के देवता हैं। उनका दायरा इतना व्यापक क्यों है?..

नेताजी और गांधी जी

मौटे तौर पर सुभाष चंद्र बोस और गांधीजी देश को आजाद करने के एक जैसा रास्ता चुना। प्रथम विश्व युद्ध के समय गांधीजी का ये मानना था कि भारतीयों को अंग्रेजों की मदद करनी चाहिए। इसके बाद जब वो युद्ध जीत जाएंगे तो पुरस्कार या वादे के अनुसार हमें आजाद कर देंगे।..

विपक्ष जानता है औंधे मुंह गिरेगा अविश्वास प्रस्ताव पर फिर भी...

आज़ादी के बाद से अभी तक लोकसभा में 26 बार अविश्वास प्रस्ताव लाए गए हैं। 21 बार अविश्वास प्रस्तावों पर वोटिंग हुई है। साल 1999 में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार एक वोट से हार गई थी। लेकिन यह जानकर आपको ताज्जुब होगा कि 26 बार लाए गए अविश्वास प्रस्तावों में से सबसे ज़्यादा 15 बार अविश्वास प्रस्ताव इंदिरा गांधी की सरकारों के ख़िलाफ़ लाया गया। यानी आज की कांग्रेस की प्रथम पुरोधा की सरकारों के ख़िलाफ़। इसका सीधा सा मतलब ये हुआ कि जब कांग्रेस सत्ता में थी, तब उसके विपक्ष को सरकार पर बिल्कुल भी भरोसा नहीं रहता ..

सांप छछुंदर के खेल में फंसी कांग्रेस!

कांग्रेस मुसलमानों की पार्टी है। राहुल गांधी के इस बयान के बाद कांग्रेस की स्थिति सांप और छछुंदर जैसी हो गई है न तो कांग्रेस इस बयान से पलट सकती है न बयान पर टिकी रह सकती है।गौर करने वाली बात है कि क्या अब कांग्रेस में सभी अपने नाम के आगे मोहम्मद या मुगल लिखना शुरू कर देंगे। राहुल गांधी के इस बयान के बाद बेहतर है कि कांग्रेस के लोग अपने नाम के आगे मोहम्मद लिखना शुरू कर दें।..

वहाबी इस्लाम ने ही पैदा किए हैं आतंकवादी

वहाबी या सलाफ़ी इस्लाम क्या है इस बात को आप इस छोटी सी विडियो को देख कर समझ सकते हैं.. इस्लाम का ये वही मत है जिसने सारी दुनिया में आतंकवादी पैदा किये हैं और करता जा रहा है.. आम हिन्दुस्तानी या दूसरे धर्म के लोग अभी तक इस जानकारी से अनजान थे कि इस्लाम के किस मत की वजह से इस्लाम का ये रूप आज बना है.. इसीलिए वो सारे मुसलमानों से नफ़रत करने लगे हैं.. मगर अब धीरे धीरे इन्टरनेट के ज़रिये लोग जागरूक हो रहे हैं और समझ रहे हैं. इस विडियो में एक मौलाना जिसने अरबी वेशभूषा धारण कर रखी है ये भारतीय वहाबी मौलाना ..

हिंदू धर्म और हिंदी में तलाक का विकल्प नहीं

हिन्दू धर्म में शादी के बाद पति-पत्नी के एक हो जाने के बाद उनके अलग होने का कोई प्रावधान नहीं है। हमारे यहां शादी को ईश्वरीय विधान माना जाता है और पति-पत्नी को विष्णु और लक्ष्मी का रूप। हिंदी में तलाक का कोई विकल्प ही नहीं है। तलाक व डाइवोर्स शब्द हमारे नहीं हैं।..

आपातकाल के बाद इंदिरा हारीं तो जीती थी देश की जनता

रात को एक बजे अचानक पूरे बाजार में जोर-जोर से शोर होने लगा। हमारे नीचे सरदार सुरजीत सिंह रहते थे जो टेलिफोन आॅपरेटर थे। वे अपनी एक्सचेंज से लगातार देशभर की चुनावी खबरें ले रहे थे। एक बजे उन्होंने ही हल्ला करना शुरू किया और पूरे बाजार को जगा दिया। इंदिरा गांधी रायबरेली से चुनाव हार गई है। मेरे पिताजी भी भाव विभोर हो गए। वो भी जोर से चिल्लाए - सरदार जी.......! इंदिरा गांधी चुनाव नहीं हारी है। देश की जनता जीत गई है। ..

तन्वी सेठ उर्फ सादिया पर हो कार्रवाई

गैर मुस्लिम औरत चाहे जितनी खूबसूरत हो, तुम उनसे शादी मत करो, जब तक कि वो इस्लाम कबूल न कर लें।" कुरान की इस आयत (सूरा बकरा २.२२१) के बारे में हो सकता है गैर मुस्लिम लड़कियां बिल्कुल न जानती हों लेकिन हर मुसलमान इसके बारे में जानता है। इसलिए जब भी कोई मुसलमान किसी गैर मुस्लिम लड़की से शादी करता है तो उसे इस्लाम कबूल करवाता ही है। चोरी छिपे। उसकी जानकारी में या फिर चाहे जैसे। जब तक उस लड़की को इस्लाम कबूल न करवा लिया जाए, उसका धर्म परिवर्तन करके नाम न बदल दिया जाए, मुस्लिम उससे शादी नहीं करेगा। अगर ..

फर्जी खबरों का चलन खतरनाक

बीते कुछ समय से सेना निशाने पर है। किसी बाहरी दुश्मन के नहीं, बल्कि उस मीडिया के जो खुद को प्रगतिशील और स्वतंत्र होने का दावा करता है।..

इस्लाम में संवाद नाम की कोई चीज नहीं

हर साल चर्च से पैसा लेकर देश भर में डॉक्टर आंबेडकर की तस्वीर की तख्ती लटकाकर हजारों लोग मनुस्मृति को जलाते हैं। सोचिए यदि किसी दिन ऐसा ही आयोजन कुरआन को जलाने का हो तो इस देश में क्या आलम होगा?..

कैराना में भाजपा की हार पर फैलाया जा रहा भ्रम

कैराना को लेकर भरम फैला दिया गया है कि यूपी में भाजपा का जादू उतर गया है। भाजपा यूपी हार रही है, तो समझो देश हार रही है। मैं इस अधकचरे विश्लेषण से कतई सहमत नहीं हूँ। भाजपा को 46.5 प्रतिशत वोट मिले है । साझा विपक्ष को 51.1 प्रतिशत। अब आप 2017 से तुलना करें, जब भाजपा को 38.2 प्रतिशत वोट मिले थे और विपक्ष के कुल बोत 57.2 प्रतिशत थे। यानी भाजपा के वोट बढ़े है और साझा विपक्ष होने के बावजूद भाजपा विरोधी वोट घट गई। यानी 19 फीसदी का अंतर घटा कर भाजपा सिर्फ साढ़े 4 प्रतिशत पर ले आई है, इस का मतलब यह हुआ कि विपक्ष ..

इस्लाम में संवाद नाम की कोई चीज नहीं

हर साल चर्च से पैसा लेकर देश भर में डॉक्टर आंबेडकर की तस्वीर की तख्ती लटकाकर हजारों लोग मनुस्मृति को जलाते हैं। सोचिए यदि किसी दिन ऐसा ही आयोजन कुरआन को जलाने का हो तो इस देश में क्या आलम होगा?..

ऐसा रोजा रखने का क्या फायदा ?

रोज़ा या निर्जल व्रत एक तरह का कर्मकांड या प्रैक्टिस है.. इसमे जान बूझकर भूखा रहा जाता है ताकि अल्लाह को ख़ुश किया जा सके.. और अल्लाह को ख़ुश करना मतलब जन्नत.. और जन्नत मतलब हूरें, शराब, कबाब और अय्याशी...

अल्‍जाइमर एक रोग : दो ​गणितज्ञ और परिस्थितियों का त्रिकोण

एक दिलचस्प कहानी विश्व के दो महान गणितज्ञ एक अमेरिकी जॉन नैश और दूसरे भारतीय वशिष्ठ नारायण सिंह के बारे में..

सुरेश चिपलूनकर के वाल से साभार

तमिलनाडु के तूतीकोरिन में वेदांता कम्पनी के मुद्दे पर हुई पुलिस फायरिंग में बारह लोगों की मृत्यु के मामले में "भारत के सबसे भ्रष्ट" वित्तमंत्री पी.चिदंबरम ने मोदी सरकार पर हमला बोला है... इस सम्बन्ध में पप्पू एंड कम्पनी को कुछ याद दिलाना चाहता हूँ...

'आप'का नाटकीय अंदाज खोल देते हैं बंद सभी राज

अभी अभी आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता व कवि डॉ. कुमार विश्वास का एक ट्वीट देखा जिसमें उन्होंने शपथ ग्रहण समारोह में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के शिरकत करने पर तंज कसा है..! कवि विश्वास लिखते हैं ,'कल तलक ख़ुद को जो सूरज का पुत्र कहता था, जा के लटका है फ्यूज बल्बों की झालर में ख़ुद'..! ..

कुचक्र रचने में पहले से माहिर है कांग्रेस

19 मई 2019 से जरा पीछे चलते हैं. 1996 में. 13 दिन की सरकार के मुखिया तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने लोकसभा में कहा-मैं संख्याबल के सामने सर झुकाता हूं. मैं अपना इस्तीफा राष्ट्रपति को देने जा रहा हूं. तब भी कांग्रेस के चेहरे पर वही दंभ भरी मुस्कान थी, जो आज कर्नाटक विधानसभा में थी...

हिंदी साहित्य में टूटती वामपंथी गिरोहबंदी

रूस की क्रांति के बाद लेनिन-स्टालिन के नेतृत्व में जिन देशों पर वामपंथियों का आधिपत्य हुआ, वहां कम्युनिस्ट पार्टी और उसके सहयोगियों का एक गिरोह बना। ..

त्रिपुरा में बदलेगा स्कूली पाठयक्रम

त्रिपुरा के छात्र अब स्कूल में कार्ल मार्क्स, लेनिन और हिटलर के बारे में नहीं बल्कि भारतीय महापुरुषों के बारे में पढ़ाया जाएगा। सरकार सभी स्कूलों में एनसीईआरटी की किताबों से ही पढ़ाई करवाएगी। सूबे के मुख्यमंत्री बिप्लव देव ने एक इंटरव्यू के दौरान यह घोषणा की है।..

भारत-मॉरीशस संबंध : मॉरीशस ने कहा— ‘धन्यवाद भारत’

राष्ट्रपति कोविंद ने युवाओं का खूब उत्साहवर्धन किया। उन्होंने कहा कि युवाओं को भारत में अपनी जड़ों की न केवल तलाश करनी चाहिए बल्कि उनसे जुड़ने का भी प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मॉरीशस में रह रहे भारतीय मूल के लोग दोनों देशों के बीच सेतु का काम कर रहे..

‘‘धर्म आधारित उद्योग हों’’

पिछले दिनों भोपाल के समन्यव भवन में अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत का चतुर्थ प्रादेशिक अधिवेशन संपन्न हुआ। समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह श्री दत्तात्रेय होसबाले उपस्थित रहे। उन्होंने कहा कि संगठन का मूल उद्देश्य है,..

‘‘जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान भारत के अविभाज्य अंग’

गत दिनों नागपुर में जम्मू-कश्मीर अध्ययन केंद्र की ओर से चार दिवसीय ‘सप्तसिंधु जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख महोत्सव’ का आयोजन किया गया। समारोह का उद्घाटन राष्टÑीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत ने किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा ..

केरल/ रपट : सिंगूर की सीखभूली माकपा

इन दिनों केरल के किसान अपने खेतों को बचाने के लिए आंदोलन कर रहे हैं। हैरानी बात है कि इन आंदोलनकारियों में शामिल किसान माकपा के कार्यकर्ता हैं। इनका कहना है कि माकपा अब सिंगूर और नंदीग्राम जैसी घटना केरल में दोहराना चाहती है, जो उसके लिए घातक  हो सकत..