विश्व

पाकिस्तान में कृष्ण मंदिर निर्माण के समर्थन में प्रदर्शन

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद के सेक्टर एच-9 में प्रस्तावित कृष्ण मंदिर के निर्माण के समर्थन में आवाजें उठने लगी हैं। मंदिर निर्माण के समर्थन में इस्लमाबाद प्रेस क्लब के सामने  इकट्ठा होकर प्रदर्शन किया गया।पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद के सेक्टर एच-9 में प्रस्तावित कृष्ण मंदिर के निर्माण के समर्थन में आवाजें उठने लगी हैं। मंदिर निर्माण के समर्थन में इस्लमाबाद प्रेस क्लब के सामने  इकट्ठा होकर प्रदर्शन किया गया। वे अपने हाथों में ‘मंदिर बनाओ’ लिखे बैनरलिए हुए थे। कई लोगों ..

पाकिस्तान— ‘मंदिर बना तो शव कुत्तों के आगे डाल देंगे’

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में प्रस्तावित कृष्ण मंदिर सह समुदायिक भवन को लेकर मीडिया और मजहबी कट्टरपंथियों का यह गठजोड़ एक बार फिर हिंदुओं के विरूद्ध खड़ा नजर आ रहा है। मंदिर निर्माण रोकने के लिए इस समय इनका जबर्दस्त दबाव है।पाकिस्तान के कट्टरपंथियों और वहां की मीडिया का हिंदुओं के प्रति रवैया एक जैसा है। दोनों इस कौम को अहमियत नहीं देते। उन्हें लगता है कि हिंदुओं को महत्व देने से उनका ‘दीन-इमान’ खतरे में पड़ जाएगा, इसलिए जितना संभव हो इन्हें दबाया जाए। पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद ..

बांदीपोरा में आतंकियों ने की भाजपा नेता वसीम बारी की हत्या, पिता और भाई को भी मार डाला

जम्मू-कश्मीर स्थित बांदीपोरा में आतंकियों ने बुधवार रात भाजपा नेता वसीम बारी की गोली मारकर हत्या कर दी। आतंकियों ने भाजपा के जिला प्रधान वसीम बारी, उनके पिता और भाई पर अंधाधुंध फायरिंग की, जिसमें तीनों की मौत हो गई।जम्मू-कश्मीर स्थित बांदीपोरा में आतंकियों ने बुधवार रात भाजपा नेता वसीम बारी की गोली मारकर हत्या कर दी। आतंकियों ने भाजपा के जिला प्रधान वसीम बारी, उनके पिता और भाई पर अंधाधुंध फायरिंग की, जिसमें तीनों की मौत हो गई। गौरतलब है कि वसीम बारी बांदीपोरा में भाजपा के जिला प्रधान थे।समाचारों के ..

‘अब झुकना नहीं प्रतिकार करना है’

 रॉबर्ट ओ’ब्रायनवुहान वायरस संक्रमण और चीन की हमेशा से देखने में आ रहीं चालबाजियों को अमेरिका ने न सिर्फ पहचाना है बल्कि कड़ा कदम उठाया है। अमेरिका ने अपने यहां चीन की कंपनियों और उसके लिए झूठा ‘प्रचार’ कर रहे लोगों या संगठनों के पर कतरे राबर्ट ओ’ब्रायनआज संयुक्त राज्य अमेरिका और हमारे मित्र देशों के सामने चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का उभरता कद और चुनौती गंभीर खतरा बन रहा है, लिहाजा इसका समाधान निकालना जरूरी है। राष्ट्रपति ट्रम्प के नेतृत्व में अमेरिका अंतत: चीनी कम्युनिस्ट ..

न चीन बदला, न चीनी मीडिया

नम्रता हसीजा चीन भारत के साथ प्रत्यक्ष लड़ाई नहीं चाहता, क्योंकि उसके लिए भारत एक बड़ा बाजार है, जिसे वह कतई खोना नहीं चाहता। इसलिए वह सीमा विवाद को तूल देकर भारत पर मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने का प्रयास कर रहा है। इसमें सरकारी नियंत्रण वाला आधिकारिक मीडिया उसका साथ दे रहा है। दोनों का रवैया वैसा ही है, जैसा डोकलाम विवाद के समय थावास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत और चीन के सैनिक डटे हुए हैं।भारत और चीन के बीच 3800 किलोमीटर से अधिक लंबी सीमा वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) कही जाती है। हालांकि दोनों देश एक-दूसरे ..

तिब्बत से गुजरेगी शांति की राह

पाञ्चजन्य ब्यूरोभारत की सीमा ऐतिहासिक रूप से तिब्बत से लगती है। 50 के दशक में तिब्बत पर चीन के कब्जे के बाद से भारत-चीन संबंध लगातार बिगड़ते रहे हैं। चीन की चाल को पहचानना आसान नहीं है। लेकिन तिब्बत के निर्वासित लोगों के मन के यह आस सदा से बनी हुई है कि समस्या सुलझेगी और वे फिर से अपनी धरती पर लौटेंगे। इस सबमें भारत की महत्वपूर्ण भूमिका है। तिब्बत को गंभीरता से लेते हुए हिमालयी क्षेत्र में शांति के प्रयास करने होंगे    तिब्बत का पोटाला पैलेस, दलाई लामा का अधिकृत स्थान    ..

पीओजेके में चीन-पाकिस्तान के खिलाफ स्थानीय नागरिकों का फूटा गुस्सा, बांध के अवैध निर्माण के खिलाफ किया प्रदर्शन

पांचजन्य ब्यूरो पाकिस्तान अधिक्रांत जम्मू-कश्मीर (पीओजेके) के मुजफ्फराबाद में स्थानीय नागरिकों ने चीन और पाकिस्तानी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया है। नीलम और झेलम नदी पर गैरकानूनी ढंग से बन रहे हाइड्रोपावर प्लांट के खिलाफ स्थानीय नागरिकों ने रैली निकालकर विरोध जताया। इस दौरान प्रदर्शन कर रहे नागरिकों ने पाकिस्तान और चीन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।पाकिस्तान अधिक्रांत जम्मू-कश्मीर (पीओजेके) के मुजफ्फराबाद में स्थानीय नागरिकों ने चीन और पाकिस्तानी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया है। नीलम ..

भारत—चीन विवाद— तिलमिलाई कांग्रेस का वेबुनियादी राग

आशीष राय भारत—चीन विवाद के वर्तमान परिदृश्य में कांग्रेस द्वारा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को निशाना बनाना उसकी घ्रणित मानसिकता को दिखाता है। हकीकत में देखें तो संघ का समविचारी संगठन—स्वदेशी जागरण मंच शुरू से ही स्वदेशी सामानों के प्रयोग हेतु जनमानस तैयार करता रहा है और एक बार फिर चीनी सामानों के बहिष्कार के लिए अलख जगा रखी है। ऐसे में संघ या उसके विचार पर प्रश्न चिन्ह खड़ा करके कांग्रेस पार्टी एक बार फिर खुद को कठघरे में खड़ा कर रही हैगलवान घाटी में चीनी सैनिकों और भारतीय सैनिकों के ..

गलवान में दबी चीन की गर्दन

पाञ्चजन्य ब्यूरो चीन ‘वन रोड, वन बेल्ट’ परियोजना के जरिए प्राचीन रेशम मार्ग, जिससे एशिया, यूरोप और अफ्रीका आपस में जुड़े हुए थे, को फिर से तैयार कर रहा है। उसका कहना है कि इससे इस क्षेत्र में प्रगति होगी, लेकिन सुरक्षा विशेषज्ञों का मानना है कि इसके पीछे चीन की विस्तारवादी नीति छिपी है। इसलिए यह रेशम मार्ग चीन विरोधी देशों के लिए फंदा से कम नहीं है। कैसे यह फंदा है, इसके जरिए चीन छोटे देशों को किस तरह अपने जाल में फंसा सकता है, वर्तमान में भारत और चीन के बीच तनाव क्यों है, दक्षिण चीन सागर ..

म्यांमार ने कहा आतंकियों की मदद कर चीन, दुनिया से मांगी मदद

म्यांमार आर्मी चीफ ने तल्ख लहजे में चीन को चेतावनी देते हुए कहा कि वह यहां के आतंकी समूहों को हथियार न दे। जनरल ने इसे लेकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय से सहयोग की भी मांग की..

तिब्बत की निर्वासित सरकार ने कहा चीन कर रहा अत्याचार, संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद का विशेष सत्र बुलाने की मांग की

चीन पर तिब्बत में “सांस्कृतिक नरसंहार” का आरोप लगाते हुए केंद्रीय तिब्बत प्रशासन ने रविवार को संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) से अनुरोध किया कि वह चीन द्वारा तिब्बत और उसके तहत आने वाले अन्य क्षेत्रों में किये जा रहे “मानवाधिकार उल्लंघनों” पर एक विशेष सत्र बुलाए..

वामपंथ : ‘बीएलएम’ की बैसाखी और भारत के वामपंथी

प्रशांत पोलमुसलमानों की अमेरिका के अश्वेतों से तुलना हो ही नहीं सकती। अमेरिका में अश्वेतों ने गुलामी का जीवन जिया है। भारत में मुस्लिम आक्रांता के रूप में आए, हिंदुओं को गुलाम बनाया, उनको बर्बरतापूर्वक माराअमेरिका में ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ आंदोलन के तहत आगजनी करते उपद्रवी तत्व  (फाइल चित्र)आज से करीब एक महीने पहले, अर्थात 25 मई को अमेरिका के मिनीसोटा प्रांत के मिनियापोलिस शहर में एक अमेरिका के मिनीसोटा प्रांत के मिनियापोलिस शहरद्वारा गर्दन दबाने से मौत हुई। भरी सड़क पर, दिनदहाड़े हुई ..

पाकिस्तान पंजाब में फैलाना चाह रहा था कोरोना, मंसूबा हुआ नाकाम

करतारपुर गलियारा खोलने के बहाने पंजाब में कोरोना फैलाने का पाकिस्तानी मंसूबा भारत ने किया निरस्त, दरअसल पाकिस्तान महाराजा रणजीत सिंह की पुण्यतिथि के बहाने करतारपुर ​गलियारा खोलना चाह था जिसे विदेश मंत्रालय ने ठुकरा दिया है ..

भारत की उत्तरी सीमा

भारत की उत्तरी सीमा ..

मीडिया को हथियार बनाकर भारत को डराना चाहता है चीन

चीन भारत के साथ प्रत्‍यक्ष लड़ाई नहीं चाहता। उसके भारत एक बड़ा बाजार है, जिसे वह कतई खोना नहीं चाहता। इसलिए वह सीमा विवाद को तूल देकर भारत पर मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने का प्रयास कर रहा है और आधिकारिक मीडिया में लगातार प्रोपेगैंडा खबरें छाप रहा है ..

भारतीय सैनिकों से हुई झड़प में मारे गए चीन के सैनिकों के परिवारों ने मांगा सम्मान

और यह सम्मान चीन की सरकार अपने मारे गए सैनिकों को देने को तैयार नहीं है। चीन के लोगों में इस बात का गुस्सा दिखने लगा है। मारे गए सैनिकों के परिजन मांग रहे हैं सम्मान और चीन का कहना है अभी ये जरूरी नहीं हैपूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में 15 जून की रात हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान बलिदान हुए तो चीन के 43 सैनिक मारे गए। यह संख्या और भी ज्यादा हो सकती है। भारत का यदि एक भी सैनिक बलिदान होता है तो पूरे देश की आंखें नम होती हैं। भारत के सैनिकों के सर्वोच्च बलिदान के बाद सरकार भी उन्हें पूरा सम्मान देती ..

बलूचिस्तान में फौजी जुल्म के खिलाफ उतरीं महिलाएं

बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा में एक बड़ी रैली निकाली गई जिसकी अगुवाई महिलाओं ने की। इसमें हर उम्र के हजारों लोग शामिल हुए और इमरान सरकार के खिलाफ जमकर नारे लगे। दरअसल, बलूचिस्तान में बढ़ते फौजी जुल्म के साथ-साथ लोगों का सब्र भी टूटता जा रहा है ..

पाकिस्तान में फिर भड़का सिंधुदेश का शोला

सिंधुदेश की मांग को पाकिस्तान छोड़कर भारत सहित दुनिया के विभिन्न हिस्से में बसे सिंधियां का भी भरपूर समर्थन प्राप्त है। पाकिस्तान के सिंध प्रांत की अपनी विशिष्ट संस्कृति और सूफीवाद के लिए वैश्विक स्तर पर अलग पहचान है।पाकिस्तान में ‘सिंधुदेश’ का लावा फिर शोला बनकर धधक उठा है। इसके चलते अलगाववादियों एवं सेना के बीच सीधा संघर्ष शुरू हो गया है। इमरान खान सरकार से कोरोना संक्रमण और इससे उपजी बदहाली नहीं संभल पा रही। बीस करोड़ की आबादी वाले इस छोटे से देश में संक्रमितों की संख्या दो लाख ..

पाकिस्तान: सिख नाबालिग लड़की का मजहबियों ने किया अपहरण, दिल्ली गुरूद्वारा प्रबंध समिति ने इमरान खान को याद दिलाया वादा

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में जकोबाबाद में वजीर हुसैन नामक एक युवक ने अपने साथियों के साथ मिलकर सिख लड़की का पहले अपहरण किया गया और फिर जबरन कन्वर्जन कराकर उससे निकाह कर लिया अल्पसंख्यकों के अधिकार और उनकी सुरक्षा को लेकर लंबी-लंबी हांकने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को अपने ही देश के हिंदू, सिखों, ईसाइयों की फिक्र नहीं। उन्हें तरह-तरह से प्रताड़ित किया जा रहा है। यहां तक कि रोजाना मजहबी गुंडे कन्वर्जन की नियत से अल्पसंख्यकों की बहु-बेटियां दिन दहाड़े उठा ले जा रहे हैं। ..

दुनिया में योग का परचम

आज पूरी दुनिया में योग की ख्याति भारत की ज्ञान परंपरा के प्रतिनिधि के रूप में है। तन और मन को स्वस्थ रखने की चाहत में लोग योग की तरफ न केवल आकर्षित हो रहे हैं, बल्कि इससे लाभान्वित भी हो रहे हैं। अमेरिका, यूरोप ही नहीं, तमाम मुस्लिम देशों में भी योग को खुले दिल से अपनाया जा रहा हैएरियल योग’ व्यायाम की एक हाइब्रिड शैली है, जिसे जोसेफ पिलेट ने विकसित किया था। जिस तरह हिंदुत्व का केंद्रीय भाव मनुष्य ही नहीं, बल्कि संपूर्ण प्राणी जगत का कल्याण है, प्रकृति के एक-एक अंग के अस्तित्व का सम्मान ..

इस दर्द की दवा क्या है!

आज चीन भारत ही नहीं, अपने अन्य पड़ोसी देशों के लिए एक ‘दर्द’ बन गया है। इस दर्द का इलाज जल्दी होना चाहिए, अन्यथा यह और अंगों को भी संक्रमित कर सकता है। विस्तारवादी चीन को कभी भी हल्के में नहीं लेना चाहिए चीन के विरोध में प्रदर्शन करते हांगकांग के निवासी (फाइल चित्र)चीन यदि लोकतांत्रिक देश होता तो आज तिब्बत की यह दशा न होती। भारत के साथ गढ़े गए सीमा विवाद न होते। ‘पंचशील’ समझौते का सम्मान होता। जिस तरह चीन अपनी भौगोलिक विस्तारवादी नीति के चलते भारत समेत अपने पड़ोसी देशों और हड़पने ..

चीन को महंगा पड़ा टकराव

पाञ्चजन्य ब्यूरोचीन बार-बार भारत को उकसा रहा है। पहले डोकलाम और अब गलवान घाटी, पैंगोंग त्सो और नाकु-ला में घुसपैठ की कोशिश और भारतीय सैनिकों पर अंधरे में धोखे से घातक हमला। एलएसी पर चीन के भारत से कई गुना अधिक सैनिक थे, इसके बावजूद उन्हें मुंह की खानी पड़ी। भारत के जहां 20 सैनिक बलिदान हुए, वहीं चीन के 45 सैनिक मारे गए। दरअसल, हिमाकत चीन की आदत बन गई है, इसलिए अब उसे सबक सिखाना जरूरी हो गया है। उसे मालूम होना चाहिए कि यह 1962 का भारत नहीं हैगलवान घाटी में चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच ..

चीन का विरोध चरम पर

उमेश्वर कुमारकोरोना संक्रमण फैलाने को लेकर चीन के प्रति गुस्सा तो पहले से ही था। अब लद्दाख सीमा पर उसने जो हरकत की है, उसके कारण जनभावनाएं उबाल पर हैं। आम उपभोक्ता से लेकर कारोबारी और सरकार ने भी चीनी सामान के बहिष्कार का फैसला कर लिया हैकोलकाता में चीनी उत्पादों के बहिष्कार की मांग को लेकर प्रदर्शन करते लोग दुनियाभर में चौतरफा घिरने के बाद चीन अपनी बौखलाहट भारत के समक्ष दिखा रहा है। उसने न केवल वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) का उल्लंघन किया, बल्कि धोखे से भारतीय सैनिकों पर हमला किया, जिससे हमारे ..

चीन में जारी है सत्ता संघर्ष

ऐसा माना जा रहा है कि गलवान के संघर्ष के पीछे चीन का अंदरूनी सत्ता संघर्ष है। प्रधानमंत्री ली केकियांग और राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच आर्थिक नीतियों को लेकर काफी मतभेद हैं। इससे जनता का ध्यान हटाने के लिए गलवान विवाद शुरू किया गया हैचीन में सत्ता के दो बड़े चेहरे (बाएं से) राष्ट्रपति शी जिनपिंग और प्रधानमंत्री ली केकियांगगलवान घाटी में चीनी सेना की उकसावापूर्ण कार्रवाई से चीन के मोहल्लों की छोटी दुकानों का सीधा संबंध हो सकता है? ऊपरी तौर पर भले ही यह बात अटपटी लगे, लेकिन चीनी सेना की खूनी कार्रवाई ..

अंदर से खोखला है चीन

 डॉ. गुलरेज शेखबाहर से चीन भले ही चीन मजबूत और ताकतवर दिखता हो, लेकिन हकीकत में वह अंदर से खोखला है। चीन ने अपने यहां ऐसा तंत्र विकसित कर लिया है, जिसके चलते उसकी आंतरिक कमजोरियां या अन्य सूचनाएं बाहर नहीं आ पातीं। अगर उसकी कमजोरी पर एक जोरदार प्रहार हो जाए तो चीन बिखर जाएगाचीन की दीवार से सटे इनर मंगोलिया, निंगजिया सहित अन्य इलाके पिछड़े हुए हैं। यही चीन की कमजोरी भी हैं।दूर से प्रतीत होता है कि चीन एक विशालकाय आग उगलता ड्रैगन है, पर यदि ध्यान से देखा जाए तो इस ड्रैगन का पेट कच्चा है और सही ..

चीन की आंतरिक चुनौती

संतोष कुमार वर्माइन दिनों चीन अपने अंदर की चुनौतियों से ही परेशान है। तमाम बंदिशों के बावजूद बहुत सारे लोग सरकार की नीतियों की आलोचना करने लगे हैं। सवाल यह भी है कि क्या इन सबसे ध्यान हटाने के लिए ही चीन अपने पड़ोसियों से बैर मोल ले रहा है रोजगार के लिए प्रदर्शन करते चीन के युवा (फाइल चित्र) एक छद्म समाजवादी गणराज्य के रूप में 1949 में अस्तित्व में आने वाला पीपुल्स रिपब्लिक आफ चाइना हमेशा से ही अपने सर्वोच्चतावादी और विस्तारवादी स्वप्नों को पूर्ण करने के लिए जिन उपायों का सहारा लेता आया है उन्हें ..

चीन से कई मोर्चों पर लड़ी जाएगी लड़ाई

हर चीज की एक कीमत होती है। भारत की सीमा पर चीन ने जो हरकत की है, उसकी भी एक कीमत है और भारत जो कदम उठाएगा, उसकी भी एक कीमत होगी। लेकिन विस्तारवादी महत्वाकांक्षाओं से प्रेरित होकर लद्दाख की गलवान घाटी में चीन की इस हरकत के बाद भारत के पास जवाब देने के अलावा कोई रास्ता नहीं। वस्तुत: चीन के साथ एक लंबी लड़ाई की पृष्ठभूमि तैयार हो चुकी है, जो कई मोर्चों पर एक साथ लड़ी जाएगीगलवान घाटी का वह इलाका जहां हाल में चीनी सैनिकों ने धोखे से भारत पर घात किया था (उपग्रह चित्र)15/16 जून  की रात को गलवान घाटी में ..

पाकिस्तानः पानी के लिए पिता-पुत्री को मजहबी गुंडों ने किया लहूलुहान, नाबालिग बच्ची अस्पताल में बेहोश

गत दिनों सिंध के थारपारकर में एक हिंदू और उसकी नाबालिग बच्ची की पानी लेने के दौरान जिहादियों ने इतनी बुरी तरह पिटाई कर दी कि दोनों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। पिटाई से घायल बासंत मेघवाड़ की नाबालिग पुत्री कई घटे तक बेहोश रही।पाकिस्तान के सिंध में गर्मी के साथ जल संकट बढ़ते ही हिंदुओं की मुसीबतों में बढ़ोतरी हो जाती है। वे साल भर अपहरण और कन्वर्जन से परेशान रहते हैं। गर्मी आने पर सार्वजनिक स्थलों से पानी लेने से रोकने के लिए उन्हें मारा-पीटा जाता है। गत दिनों सिंध के थारपारकर में एक हिंदू और उसकी ..

आम खाने से क्यों डर रहे पाकिस्तानी !

पाकिस्तान के लोग आम खाने से डर रहे हैं। उन्हें लगता है कि आम खरीदने फल मंडी गए तो कोरोना दबोच लेगा। इस भय के कारण पाकिस्तान के अधिकांश फल मंडियों से ग्राहक गायब हैं।पाकिस्तान के लोग आम खाने से डर रहे हैं। उन्हें लगता है कि आम खरीदने फल मंडी गए तो कोरोना दबोच लेगा। इस भय के कारण पाकिस्तान के अधिकांश फल मंडियों से ग्राहक गायब हैं। परिणामस्वरूप आम उत्पादन में विश्व में छठे नंबर पर रहने वाले इस देश के व्यापारियों एवं उत्पादकों के सामने आम कौड़ियों के भाव बेचने या सड़कों पर फेंकने के अलावा कोई रास्ता नहीं ..

जम्मू—कश्मीर में आतंक की कमर तोड़ रहे सुरक्षाबल, 6 महीने में 4 आतंकी संगठनों के सरगना समेत 106 आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने इस साल अभी तक 4 आतंकी संगठनों के सरगना समेत 106 आतंकियों को मार गिराया है। कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने पिछले दिनों एक संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही थी।जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने इस साल अभी तक 4 आतंकी संगठनों के सरगना समेत 106 आतंकियों को मार गिराया है। कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने पिछले दिनों एक संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही। इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं सुरक्षाबलों को बधाई देता हूं क्योंकि यह इतिहास में पहली बार है कि आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, ..

चीन से तनाव के बीच राजनाथ का रूस दौरा महत्वपूर्ण माना जा रहा है

रूस रवाना हुए रक्षामंत्री राजनाथ का यह दौरा अत्यंत महत्वपूर्ण माना जा रहा है। खासकर ऐसे में जब गलवान घाटी में भरत-चीन के बीच हिंसक टकराव को एक हफ्ता ही हुआ है, जिसमें भारत ने 20 सैनिकों को खोया है और चीन के भी कथित 100 से अधिक सैनिक मारे गए हैं।..

गलत हाथों में खेलता नेपाल, सीमावर्ती इलाकों में एफएम के जरिए भारत विरोधी प्रचार

उत्तराखंड से लगी नेपाल सीमा पर नेपाल की ओर से भारत विरोधी गतिविधियों में तेज़ी आयी है।चीन समर्थक नेपाली लॉबी ने अब एफएम रेडियो का सहारा लेकर भारत विरोधी प्रचार शुरू कर दिया है।उत्तराखंड से लगी नेपाल सीमा पर नेपाल की ओर से भारत विरोधी गतिविधियों में तेज़ी आयी है।चीन समर्थक नेपाली लॉबी ने अब एफएम रेडियो का सहारा लेकर भारत विरोधी प्रचार शुरू कर दिया है। नेपाली जनपद दार्चुला से आगे घटिबगड़ में सीमांत क्षेत्र में बन रही सड़क के निर्माण में नेपाली सैनिक वर्दी में चीनी मूल के लोग काम करते देखे गए हैं, जिसके ..

भारत अकेला देश है, जो चीन को तिब्बत के कारण पानी पिला-पिला कर मार सकता है

डॉ. शैलेन्द्र कुमारअनेक जानकारों का मानना है कि चीन को यदि कोई परास्त कर सकता है, तो वह भारत है और अब हम अपने बीस सैनिकों के बलिदान के बाद चीन को परास्त करना अपना पुनीत कर्तव्य भी समझते हैं। इसलिए जैसा कि प्रसिद्ध कवि चंदवरदाई ने पृथ्वीराज चौहान से कहा था, ‘मत चूको चौहान’, उसी प्रकार कहा जा सकता है कि ‘मत चूको भारत।’पिछले दो महीनों से हम चीन के साथ लद्दाख की गलवन घाटी में उलझे हुए हैं। पर जब तक बात केवल उलझने तक ही सीमित थी, तब तक तो सह्य थी। लेकिन बीते सप्ताह ..

गालवान के संघर्ष के पीछे चीन का अंदरूनी सत्ता संघर्ष

चीन में बेरोजगारी दर बढ़ कर बीस प्रतिशत को पार कर गई है। इससे देश में अफरातफरी का माहौल है। चीन में करीब एक अरब चालीस करोड़ कार्यबल है। लेकिन इनमें से ज्यादातर हिस्सा सूक्ष्म,छोटे और मझोले उद्योगों या कारोबार में काम करते हैं। इनमें से करीब साठ करोड़ लोगों की कमाई राष्ट्रीय औसत से भी कम है..

पाकिस्तान: मजहबी गुंडों के दवाब में खुदकुशी कर रहे हिन्दू नवयुवक-युवतियां

पाकिस्तान स्थित सिंध प्रांत में आए दिन हिन्दू नवयुवक और युवतियों के शव फंदे से लटकते पाए जाते हैं। लेकिन पाकिस्तान का हिंदू समाज इन मौतों को खुदकुशी नहीं मानता। वह इसके पीछे मानता है कि मजहबी गुंडे उनकी संपत्तियों को हड़पने के लिए इतना दवाब बना देते हैं कि उनके सामने खुद को समाप्त करने के अलावा कोई चारा नहीं बचता। इस वजह से अक्सर शवों पर पिटाई के गहरे जख्म मिलते हैं।बॉलीवुड के प्रतिभाशाली अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या की गुत्थी अनसुलझी है। अभी लगातार कयासों का दौर चल रहा है। आत्महत्या के ..

लताड़ के बाद पाकिस्तान ने रिहा किए भारतीय उच्चायोग के कर्मचारी

दिल्ली में पाकिस्तान के कार्यकारी उच्चायुक्त सैयद हैदर अली शाह को विदेश मंत्रालय में बुलाकर फटकार लगाने पर आखिकर इस्लामाबाद की सड़कों से गायब भारतीय उच्चायोग के दो कर्मियों को करीब बाहर घंटे बाद छोड़ दिया गया।दिल्ली में पाकिस्तान के कार्यकारी उच्चायुक्त सैयद हैदर अली शाह को विदेश मंत्रालय में बुलाकर फटकार लगाने पर आखिकर इस्लामाबाद की सड़कों से गायब भारतीय उच्चायोग के दो कर्मियों को करीब बाहर घंटे बाद छोड़ दिया गया। चूंकि पाकिस्तान के नस-नस में साजिश रची है, इसलिए इस ताजे मामले में भी वह अपनी हरकतों से ..

हिन्दू व्यापारी का शव श्मशान ले गए तो मजहबी कटृटरपंथियों ने की मारपीट,अर्थी को भी फेंका

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के दादू शहर में भी एक ऐसी घटना सामने आई है। शहर के प्रतिष्ठित व्यापारी के शव के साथ श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार के समय न केवल बुरी तरह परेशान किया गया बल्कि वहां मोैजूद लोगों के साथ मारपीट भी की गई।पाकिस्तान में हिंदुओं का अब अंतिम संस्कार भी मुश्किल है। जिहादी इसमें भी अड़ंगा लगाने लगे हैं। श्मशान घाटों पर अवैध कब्जे के साथ शवों का अंतिम संस्कार करने वालों से मारपीट भी शुरू हो गई है। पाकिस्तान के सिंध प्रांत के दादू शहर में भी एक ऐसी घटना सामने आई है। शहर के प्रतिष्ठित व्यापारी ..

कोविड-19/एचसीक्यू : दवा-विरोधी दावे हवा

डॉ. राजेन्द्र ऐरन मुख्य रूप से भारत में बनने वाली हायड्रॉक्सीक्लोरोक्विन (एचसीक्यू) दवा पर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि इससे कोरोना के मरीजों को कोई फायदा नहीं मिल रहा है, जबकि भारतीय चिकित्सक इसे बहुत कारगर मान रहे हैं। भारत ही नहीं, दुनियाभर के अनेक वैज्ञानिक डब्ल्यूएचओ के इस दावे पर सवाल उठा रहे हैंभारत 77 देशों में एचसीक्यू दवा  निर्यात करता है। कारगर है एचसीक्यू  कोरोना एक वायरस जनित वैश्विक महामारी है जिसने 216 देशों में 65,00000 से अधिक लोगों को संक्रमित कर ..

अमेरिकी दंगे : दंगों की वामपंथी कलुष-कथा

 सत्यवतीनन्दनभारत में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में शाहीनबाग में धरना-प्रदर्शन और दिल्ली में दंगा तथा अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद भड़की हिंसा, दोनों की पटकथा एक जैसी ही है, केवल स्थान का अंतर है। भारत की तरह अमेरिका में भी सोशल मीडिया पर फर्जी पोस्ट और  फर्जी खबरों के जरिए विद्वेष की आग फैलाई जा रही है जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद अमेरिका के एक  शहर में आगजनी और हिंसा में लिप्त भीड़अमेरिका, आॅस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और कनाडा जैसे देश आज से 200 साल पहले अपने वर्तमान ..

जी-7 में भारत को जाते देख तिलमिलाया चीन

दुनिया में भारत के बढ़ते कद से चीन ने जैसे आपा खो दिया है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने धमकी दी है कि अगर भारत चीन-विरोधी खेमे में जा बैठता है तो इसका नतीजा उसके लिए बुरा होगा। वैसे, मजेदार बात यह है कि अब उसकी भी जुबान पर 'भारत-प्रशांत' चढ़ गया है..

भारत ने सागर में ड्रैगन को घेरा

चीन की अकड़ के कारण दक्षिण चीन सागर लंबे समय से टकराव का क्षेत्र बना हुआ है और दुनिया के सामने चीन की चालों की काट खोजने के अलावा विकल्प नहीं। भारत ने ऑस्ट्रेलिया के साथ एक अहम समझौता करके एशिया प्रशांत क्षेत्र में ड्रैगन की घेराबंदी कर दी है।लद्दाख में चीन के साथ तनातनी के बीच भारत ने भारत-प्रशांत समुद्री क्षेत्र में चीन की घेराबंदी कर दी है। भारत और ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिण चीन सागर से लगते इस अहम समुद्री क्षेत्र में एक-दूसरे के ठिकानों के इस्तेमाल का महत्वपूर्ण समझौता किया है। ऐसे समय में जब दुनिया ..

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद चिंतित, अफगानिस्तान में तालिबान को सत्ता सौंपी तो अलकायदा के बीच होगा टकराव

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने सचेत किया है कि तालिबान को अफगानिस्तान की सत्ता सौंपी गई तो खूंखार आतंकवादी संगठन ‘अल कायदा’ और तालिबान के बीच खूनीसंघर्ष हो सकता है। परिषद ने यह निष्कर्ष अफगानिस्तान में सरकार की स्थापना को लेकर तालिबानियों की ओर से संयुक्त राष्ट्र को सौंपी गई रिपोर्ट के आधार निकाला है।संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने सचेत किया है कि तालिबान को अफगानिस्तान की सत्ता सौंपी गई तो खूंखार आतंकवादी संगठन ‘अल कायदा’ और तालिबान के बीच खूनीसंघर्ष हो सकता है। परिषद ने ..

तनाव बढ़ाता रहेगा चीन

जयदेव रानाडेचीन ने जम्मू-कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र में भी पाकिस्तानी भाषा बोलनी शुरू कर दी है क्योंकि उस क्षेत्र से उसके आर्थिक हित जुड़े हैंलद्दाख सीमा पर चीन के सैनिकों के सामने दीवार बनकर खड़े भारतीय जवान (दाएं)भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा पर पिछले कुछ वक्त में कम से कम छह स्थानों पर चीनी सैनिकों की घुसपैठ हुई है। इसने एक बार फिर से भारत—चीन रिश्तों में तनावों को रेखांकित किया है। भारत-चीन संबंधों और भारतीय जनमत पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाली ये घुसपैठ ऐसे समय पर हुई है जब भारत ..

ताईवान का पक्ष बलवान

 नम्रता हसीजाचीन ताईवान कों डब्ल्यूएचओ में दुबारा शामिल करने के रास्ते में रोड़े अटका रहा है, लेकिन कोरोना के खिलाफ सफल लड़ाई में ताईवान की एक बड़ी भूमिका है। दुनिया का एक बड़ा वर्ग आक्रामक रुख वाले चीन के नहीं बल्कि ताईवान के साथ है। भारत को बहुत समझदारी से ताईवान के पाले में खड़ा होना होगा  ताईवान के स्वास्थ्य मंत्री चेन शि चुंग (मध्य में) गत दिनों जेनेवा में ताईवान के समर्थन में बैनर थामे दिखे यह सुखद आश्चर्य ही है कि हाल में मुख्यधारा मीडिया के एक वर्ग ने ताईवान संबंधी चंद लेख छापे और ..

तियानमेन चौक नरसंहार: जब चीन ने अपने छात्रों पर चलवा दिए थे टैंक

आकाश शर्मा 'नयन'साल 1989 का एक जून इतिहास में दर्ज एक ऐसा ही दिन था जब चीन में लोकतंत्र की लोकतांत्रित मूल्यों की ऐसी हत्या की गई थी जिससे सारी दुनिया स्तब्ध रह गई थी। इसी दिन तियानमेन पर लोकतंत्र के लिए प्रदर्शन कर रहे अपने छात्रों को चीन ने टैंक से रौंद दिया था यूं तो इतिहास के आईने में हर एक क्षण बेशकीमती होता है और अपने साथ कोई न कोई ऐसी बात रखता है जिससे आने वाली पीढ़ी उसे याद रख सके। साल 1989 का इतिहास में दर्ज एक ऐसा ही साल था जब लोकतांत्रिक मूल्यों के विषय में हिंदुस्तान ही नहीं बल्कि ..

विवादों पर भारी नेपाल से रिश्तों की गहराई

 नेपाल ने कई इलाकों में भारत के साथ लगती सीमा को नए सिरे से परिभाषित करने वाले बिल को फिलहाल टाल दिया है। अब दोनों देशों को परस्पर विवाद को बातचीत से सुलझाने के लिए जरूरी समय मिल गया। हमारे रिश्ते एक-दूसरे के सरोकारों के प्रति संवेदनशील हैं और कोई वजह नहीं कि मिल-बैठकर इसे सुलझा न सकें।नेपाल ने अंतिम समय में अपने नए नक्शे को संवैधानिक मान्यता देने वाले विधेयक को संसद में पेश नहीं किया और इस तरह दोनों देशों के राजनीतिक रिश्तों में आया गतिरोध फिलहाल दूर हो गया है। ‘राजनीतिक’ का विशेष ..

पाकिस्तान: इमरान सरकार के मंत्री तारिक बशीर के इशारे पर हिन्दुओं के घर जमींदोज किए गए

पाकिस्तान में मई की तेज तपिश और कोरोना संक्रमण में भारी उछाल के बीच हिंदुओं से छत छिनने का एक नया सिलसिला शुरू हुआ है। पिछले दिनों बहावलपुर में इमरान सरकार के आवास मंत्री तारिक बशीर चीमा के नेतृत्व में हिंदुओं के आवास जमींदोज कर दिए गए ..

मंदिर जाने पर कट्टरपंथियों के निशाने पर आई यूएई की राजकुमारी हिंड अल कासिमी, दिया करारा जवाब

संयुक्त अरब अमीरात की शहजादी हिंड अल कासिमी ने उन्हें आड़े हाथ लिया है, जिन्होंने उन्हें इस्लाम से खारिज करने को लेकर अभियान छेड़ रखा है। उन्होंने ऐसे लोगों को कड़ी फटकार लगाते हुए कुरान की आयतों को ठीक से समझने की सलाह दी है..

तो क्या चीन में कोरोना से साढ़े छह लाख लोग संक्रमित हुए ?

कोविड-19 से चीन में कितने लोग संक्रमित हुए, यह ऐसी पहेली है जिसका सही जवाब तो ड्रैगन को ही पता होगा, लेकिन चीन की मिलिट्री से जो जानकारी निकली है, उसके मुताबिक वहां संक्रमितों की संख्या बताए जा रहे आंकड़ों से लगभग आठ गुना ज्यादा है ..

जिसकी खैरात पर पाकिस्तान चलता है उसी यूएई के खिलाफ अभियान चलाता है

कोरोना वायरस संकट के समय भी यूएई ने आर्थिक और मेडिकल सहायता पाकिस्‍तान को उपलब्‍ध कराई। मगर यह हैशटैग चला रहे पाकिस्‍तानी यूजर्स शायद यह सब भूल गए हैं..

लद्दाख और उत्तरी सिक्किम में भारत और चीन के बीच तनाव बढ़ा, भारतीय सेना ने तैनाती बढ़ाई

चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। लद्दाख और उत्तरी सिक्किम में चीन के कारनामों के चलते भारत और चीन के बीच तनाव बढ़ रहा है। चीन द्वारा लद्दाख में सैनिकों की संख्या बढ़ाए जाने के बाद भारत ने भी अपनी सैन्य तैनाती यहां पर बढ़ा दी है। हाल के दिनों में यहां दो बार भारत और चीन के सैनिकों में छोटी—छोटी झड़पें हो चुकी हैं..

अमेरिका ने शुरू किया ऑपरेशन चीन

आखिरकार अमेरिका ने चीन के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। सीनेट ने चीन पर प्रतिबंध का रास्ता साफ कर दिया है तो ट्रंप ने चीन में किए गए अरबों डॉलर के पेंशन फंड के निवेश को वापस करने का फरमान सुना दिया है..

पाकिस्तान: मुल्ला-मौलवी मदरसों में कर रहे बच्चों का यौन उत्पीड़न

मजहबी लोकतांत्रिक देश पाकिस्तान के मदरसों के बंद कमरों से दिल दहलाने वाली कहानियां बाहर आ रही हैं। इन बंद कमरों में लंबी दाढ़ी, सिर पर टोपी, हाथ में तसबीह धरे लोग न जाने कितने मासूमों की जिंदगी में रोजाना जहर घोल रहे हैं..

पाकिस्तान : सिंध में सोते हुए हिन्दुओं को जलाया

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में मुसलमानों ने हिन्दुओं के घरों में आग लगा दी। इस आग से कई परिवार जिंदा जल गए। मासूम बच्चों को भी नहीं बख्शा गया।हजारों साल से पाकिस्तान के सिंध प्रांत में बसे सिधी हिंदुओं को उजाड़ने के लिए किए जा रहे खड़यंत्र के तहत उन पर हमले तेज हो गए हैं। हाल के दिनों में मजहबी कट्टरपंथियों द्वारा उन्हें निशाना बनाने का क्रम इस कदर बढ़ा है कि वे एक आपदा के सदमे से उबरते है, दूसरा सामने खड़ा मिलता है।  सिंध के थारपारकर जिले के ताड़दो के हल और मटियारी गांव में 21 हिंदुओं के घरों में आगजनी, ..

भारत में कोरोना, इस्लामोफोबिया और पश्चिमी मीडिया

एक तरफ देश कोरोना के साथ युद्ध में प्राणप्रण के साथ लगा हुआ है। वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग, जिसमें मीडिया का एक वर्ग भी शामिल है, इसे बहुसंख्यक और अल्पसंख्यक की लड़ाई में परिवर्तित करना चाहता है ..

पाकिस्तानी सेना की पोल खोलने वाला पत्रकार क्यों स्वीडन में मारा गया ?

अपने देश की सेना की पोल खोलने वाले पाकिस्तानी पत्रकार साजिद हुसैन स्वीडन में मारे गए। उसका शव एक महीने बाद स्वीडन की एक नदी से बरामद किया गया। स्टॉकहोम पुलिस को अब तक की जांच में पत्रकार की हत्या के सबूत मिले हैं।  अपने देश की सेना की पोल खोलने वाले पाकिस्तानी पत्रकार साजिद हुसैन स्वीडन में मारे गए। उसका शव एक महीने बाद स्वीडन की एक नदी से बरामद किया गया। स्टॉकहोम पुलिस को अब तक की जांच में पत्रकार की हत्या के सबूत मिले हैं। साजिद हुसैन पाकिस्तानी सेना से भयभीत होकर स्वीडन में निर्वासित ..

पाकिस्तान: यूएससीआईआरएफ की हिदायत के बावजूद हिंदुओं को राशन नहीं, दंपती ने भूख से की खुदकुशी

अमेरिका तथा यूएससीआईआरएफ की नसीहतों के बावजूद कोरोना संक्रमण के दौरान पाकिस्तान में हिंदू और ईसाइयों के उत्पीड़न का दौर थमा नहीं है। महामारी से कोहराम के बीच भी उन्हें रोटी-पानी से वंचित रखा जा रहा है..

पाकिस्तान: हिन्दू महिला ने पानी भर लिया तो सिर फोड़ डाला

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों से बुरी तरह जूझते पाकिस्तान में हिंदुओं पर अत्याचार नहीं थम रहा। फिर दिल दहला देने वाली ऐसी ही दो घटनाएं सामने आई हैं। एक ओर नी लेने गई एक हिन्दू महिला को कट्टरपंथियों ने इतनी बुरी तरह से मारा वह मरणासन्न है। वहीं दो नाबालिग हिंदू लड़कियों का अपहरण कर लिया गया है ..

सिंध में आजादी के लिए हथियारबंद आंदोलन की स्थितिः बलोच नेता डॉ. अल्लाह नजर बलोच

सिंध के महान राष्ट्रवादी नेता जी.एम. सैयद ने सिंधुदेश को पाकिस्तान से आजादी दिलाने का सपना देखा था और इसके लिए लगातार काम कर रहे थे। आज सिंध की जो स्थिति है, उसमें वहां की सभ्यता, वहां की संस्कृति को जिंदा रखने का एक ही तरीका है। और वह है, पाकिस्तान से आजादी ..

भारत विरोधी गठजोड़ का मुस्लिम देशों में हिंदू विरोधी अभियान

भारत विरोधी गठजोड़ ने विश्व के 52 मुस्लिम देशों में रहने वाले भारत के लाखों हिंदुओं के खिलाफ पिछले दिनों ट्विटर पर एक भ्रामक कैंपेन चलाया। उक्त गठजोड़ द्वारा सोशल मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया तथा समाचार पत्रों में भारत के खिलाफ मुस्लिम विरोधी फेक न्यूज चलाकर ऐसा माहौल बनाने की कोशिश की जैसे भारत में मुस्लिमों का उत्पीड़न किया जा रहा हो ..

कोविड-19 अमेरिका ने फैलाया ! चुपकर झूठे !

दुनिया को वायरस-आतंकवाद का शिकार बना चुका चीन परेशान है। परेशान इसलिए नहीं कि उसके कारण दुनिया में इतनी मौतें हो गईं। परेशान इसलिए कि दुनिया उससे सवाल कर रही है। उससे हिसाब मांग रही है, मुआवजा मांग रही है। इसी कारण चीन आए दिन उल्टे-सीधे तर्क लेकर सामने आ खड़ा होता है ..

पाकिस्तान: कट्टरपंथी मुसलमानों ने हिंदू युवक की गला रेतकर की हत्या

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के सांघर जिले के पारा कस्बे में परचून की दुकान चलाने वाले स्व धर्मू मल्ही के युवा पुत्र टेकराम मल्ही को उसके घर में गला रेत कर मार डाला गया। लेकिन भारत के कथित सेकुलरों को पड़ोसी देश में हिन्दुओं पर होता यह जुल्म नहीं दिखता ..

करतारपुर गुरुद्वारा के निर्माण ने खोली पाकिस्तान की पोल, बनाए थे फाइबर के गुंबद

करतारपुर गुरुद्वारा के निर्माण ने खोली पाकिस्तान की पोल, बनाए थे फाइबर के गुंबद ..

पाकिस्तान: जकात, फितरा और खैरात से राहत सामग्री बांटी जा रही है, जिसमें हिंदू और ईसाइयों का कोई हक नहीं

कोराना वायरस के फैलाव ने पाकिस्तानियों की एक और घिनौनी तस्वीर दुनिया के सामने पेश की है। यहां अल्पसंख्यकों को एक-एक रोटी के लिए तरसाया—तड़पाया जा रहा है..

पृथ्वी दिवस पर विशेष: प्रकृति की सुरक्षा सबकी जिम्‍मेदारी

पृथ्‍वी के गर्भ से विभिन्‍न प्रकार के खनिज, ईंधन, धातु, रत्‍न और यहां तक कि पानी का भी दोहन करके इनसानों ने इसे खोखला कर दिया है। मनुष्य प्रकृति से अपना संबंध पहचान ले तो वह उसे नुकसान नहीं पहुंचा सकता। इस समग्र और एकात्म दृष्टि और इसके अनुरूप व्यवहार से ही प्रकृति सुरक्षित रह सकती है ..

पाकिस्तान: कोरोना की आड़ में 'गायब' किए 1800 आतंकी

कोरोना संकट से जूझते विश्व में अगर कोई देश अपनी नापाक हरकतों को लगातार गुपचुप अंजाम दे रहा है तो वह देश है पाकिस्तान। पिछले दिनों खबर मिली थी कि उसने कोरोना संक्रमण के मरीजों और मृतकों की सही संख्या छुपाई थी। अब पता चला है कि उसने अपनी आतंकियों की सूची में से कई नाम गुपचुप तरीके से रातोरात हटा दिए हैं। उस सूची में जहां कभी 7600 आतंकियों के नाम थे, अब उसमें कुल 3800 नाम रह गए हैं..

पाकिस्तान- कोराना का कोहराम, लाशें छिपाने में लगी है इमरान सरकार

इमरान खान सरकार कोराना वायरस से पाकिस्तान में बहुत कम लोगों के ग्रसित होने और इससे मौत होने का दावा करती आ रही है. लेकिन हकीकत ऐसी नहीं है..

“आप हिंदुओं को मत समझाइये. तब्लीगियों को ट्यूशन दीजिए मोहतरमा.”

आरिफ अजाकिया कराची के मेयर थे. कश्मीर में पाकिस्तान की करतूतों का खुलासा किया तो पाकिस्तान से निष्कासित कर दिए गए. अब वो फ़्रांस में रह रहे हैं. हाल ही में उन्होंने सबा नकवी, आएशा खानम शेरवानी , राणा अय्यूब जैसे पत्रकारों को तबलीगियों की तरफदारी करने के कारण आड़े हाथों लिया. उन्होंने अकबरुद्दीन ओवैसी और सबा नकवी जैसे “ताजमहल” की धौंस देने वाले मुस्लिम नेतृत्व के तर्कों और दावों को भी तार-तार करके रख दिया..

पाकिस्तान— कोरोना से बेहाल पाकिस्तान आया भारत के चरणों में

पूरे विश्व में जब कोरोना वायरस को लेकर हाहाकार मचा है। खुद पाकिस्तान भी इससे छटपटा रहा है और इससे छुटकारा पाने के लिए उसे भारत की मदद चाहिए। लेकिन इसके बावजूद इसकी भारत विरोधी गतिविधियां थमने का नाम नहीं ले रही हैं..

आरोग्य सेतु एप को लेकर दुष्प्रचार में जुटी भारत तोड़ो ब्रिगेड

भारत के बाहर आरोग्य सेतु एप को गोपनीयता की आड़ लेकर बदनाम किया जा रहा है। विदेशी मीडिया में लंबे चैड़े लेख लिखे जा रहे हैं तो वहीं तथाकथित बौद्धिकों के निजी सोशल मीडिया समूहों में इसके विरोध में संदेश पोस्ट किए जा रहे हैं..