विश्व

बलूचों के पोस्टर भी नहीं बर्दाश्त

पाकिस्तान की हुकूमत किस तरह बलूचों के साथ बर्बर सलूक करती है, यह बात अब किसी से छिपी नहीं। लेकिन हालत यह है कि पाकिस्तानी जुल्म के खिलाफ बलूचों के मुंह से अगर ‘उफ्’ तक निकल जाए तो वह भी उन्हें मंजूर नहीं।..

योग के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ा भारत का गौरव

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की घोषणा के बाद योग को अपनाने वालों की संख्या समूचे विश्व में बढ़ी है। यदि हम उस संख्या को भारत-भाव से जोड़कर रखने में सफल रहे तो विश्व में परिवारभाव का प्रसार होगा और भारत एक बार पुन: विश्व गुरु बन जाएगा..

दुनिया में योग की धूम

अनुमान है कि आज विश्व में दो से ढाई अरब लोग प्रतिदिन किसी न किसी रूप में योग करते हैं। इसका बड़ा रूप योग दिवस के दिन पूरी दुनिया में दिखता है। योग को दुनिया में पहुंचाने में अनेक लोगों और संगठनों का हाथ है। यहां प्रस्तुत है योग को लोकप्रिय बनाने में अमूल्य योगदान देने वाले कुछ योग साधकों का परिचय..

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस: दुनिया में गूंजी हमारी ज्ञान-परम्परा

आज विश्व वैमनस्य के अंगार में तपता प्रतिस्पर्धा के मायावी गलियारों में आंखें बंद किए लक्ष्य विहीन भागता जा रहा है और शक्ति परीक्षण की चुनौतियों की जय-पराजय में उलझ तबाही का सामान तैयार कर रहा है। कहीं भी शांति नहीं, साझा भाव नहीं, उल्लास नहीं, बस तनाव ही तनाव! दूसरी तरफ अंधाधुंध उद्योगीकरण से उपजे प्रदूषण से पर्यावरण दूषित हो रहा है और मनुष्य अपने ही द्वारा तैयार विषाक्त वातावरण में रोग-शोक का शिकार हो रहा है। ..

काठमांडू में भारत के लिए चीन की गहरी साजिश

नेपाल के कई विद्यालयों में चीनी भाषा मंदारिन को अनिवार्य कर दिया गया है. चीन लगातार नेपाल में अपना प्रभाव बढ़ा रहा है. यह भारत के लिए ठीक नहीं है. पर्वतीय और मैदानी इलाकों में बंटी नेपाली राजनीति को भारत के खिलाफ एकजुट करने का वामपंथी सपना हमें तोड़ना ही होगा...

उबल रहे बलूच पाकिस्तान से लड़ने को तैयार

बलूचिस्तान में पाकिस्तान सारी हदें पार कर रहा है। बलूच प्रदर्शनकारियों को घर से निकालकर पीटा जा रहा है। उन पर अत्याचार किए जा रहे हैं लेकिन दुनिया ने अपनी आंखें मूंद रखी है..

SCO Summit 2019 in Bishkek : आतंकवाद पर सभी सदस्य आए साथ, संयुक्त घोषणा पत्र जारी

किर्गिस्‍तान के बिश्‍केक में आयोजित दो दिवसीय एससीओ सम्‍मेलन के आखिरी दिन सभी सदस्य देशों ने आतंकवाद को लेकर सभी सदस्यों ने साझा घोषणापत्र जारी किया है।..

‘‘सच को गहराई से जानने और परखने का समय’’

देवर्षि नारद जी प्रथम संवादवाहक थे, बल्कि भारत का प्रथम हिंदी समाचार पत्र ‘उदन्त मार्तण्ड’ जिस दिन शुरू हुआ था, उस दिन पंचांग के अनुसार ज्येष्ठ कृष्ण द्वितीया यानी देवर्षि नारद जयंती थी। उन्होंने कहा कि 1976 में उप संपादक के स्थान पर ‘सब इंस्पेक्टर’ यह तय करता था कि कौन-सा समाचार छापना है ..

चर्च और यौनाचार: सलीब तले, सिसकती नन

भारत में केरल में चर्च के अंदर पादरियों द्वारा ननों के यौन शोषण की अनेक घटनाएं सामने में आई हैं..

अमेरिका में भी मोदी की जीत का जश्न

भाजपा के सागरपारीय मित्र (ओवरसीज फ्रेंड्स आफ बीजेपी) नामक संगठन ने भारत में भाजपा की प्रचंड जीत पर खुशी जताई है। इस संगठन ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में लोकसभा चुनाव में भाजपा की ऐतिहासिक जीत पर अमेरिका के 20 बड़े शहरों में जश्न मनाए जाने की घोषणा की है। ..

टाइम पत्रिका ने लिया मोदी पर यू टर्न कहा मोदी ने भारत को एक सूत्र में पिरोया

टाइम मैगजीन की वेबसाइट ने 28 तारीख को मनोज लाडवा का एक लेख प्रकाशित किया, जिसमें मोदी के लिए पत्रिका का सुर बदला हुआ नजर आया। इस नए लेख का शीर्षक है "मोदी ने भारत को जिस तरह से एकजुट किया है वैसा दशकों में कोई प्रधानमंत्री नहीं कर पाया" है। मोदी हैज यूनाइटेड इंडिया लाइक नो प्राइम मिनिस्टर इन डिकेड्स..

लंका का जिहादी डॉक्टर, हजारों हिंदू महिलाओं के गर्भाशय निकाले

जिस डॉक्टर का काम प्रसूताओं को मातृत्व का सुखद अहसास करवाने का था, उस डॉक्टर ने जिहाद के नाम पर उनके गर्भाशय निकाल दिए.यह डॉक्टर आतंकी संगठन तौहीद जमात से जुड़ा है..

एक्सक्लूसिव: ग्वादर में हमला, बड़ी तादाद में पाकिस्तानी-चीनी मारे गए

बलूचिस्तान की आजादी के लिए संघर्ष कर रहे संगठन बीएलए ने जिम्मेदारी ली। बलूचिस्तान की आजादी के लिए आगे ऐसे और हमलों की चेतावनी..

मसूद का वैश्विक आतंकी घोषित होना भारत की जीत

पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड पाकिस्तानी आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की मुहर लग गई है। वैश्वि​क आतंकी घोषित होने के बाद वह कहीं भी यात्रा नहीं कर सकेगा। विदेशों में यदि उसकी कोई संपत्ति है तो वह जब्त हो जाएगी।..

श्रीलंका में बुर्के पर प्रतिबंध पर तिलमिलाया देवबंद

श्रीलंका में हुए आतंकी हमले के बाद श्रीलंका सरकार ने मुस्लिम महिलाओं के बुर्का पहनने और चेहरा ढकने पर पाबंदी लगा दी है। उन्हें लोग नौकरी पर रखने को तैयार नहीं हैं। मुसलमानों के घर से बड़े जानवरों को हलाल करने के लिए रखा गया चाकू जमा कराया जा रहा है। मस्जिदों के लाउडस्पीकर को बंद कराया जा रहा है। मस्जिदों की जांच हो रही है..

उबल रहा ग्वादर का समंदर

चीन की आर्थिक-सैनिक महात्वाकांक्षा के कारण ग्वादर के लोगों का जीना मुहाल है। चीन के लाखों लोग यहां डेरा जमाए हुए हैं, जबकि बलूचों को भागने के लिए मजबूर किया जा रहा है। निर्माण गतिविधियों के कारण ग्वादर के समुद्र से झींगा गायब हो गई हैं। इन्हीं के बूते पेट पाल रहे मछुआरे बड़ी संख्या में पलायन कर चुके हैं। लेकिन काफी लोगों ने वहीं रहकर पाकिस्तान-चीन के जुल्मों के खिलाफ आवाज बुलंद करने का फैसला किया है।..

श्रीलंका बम धमाके- अब दक्षिण सीमा पर आ बैठा इस्लामिक आतंकवाद का दानव

यह भारतीय सीमा का वो सिरा है, जिसको लेकर हाल तक भारत ऐसे किसी खतरे को महसूस नहीं करता था. धमाके श्रीलंका में हुए हैं, लेकिन चुनौती भारत के लिए भी कम बड़ी नहीं है. याद रखना होगा कि राजीव गांधी की हत्या की साजिश और सामान इसी छोर से आया था...

बलूचिस्तान ऐसी जगह जहां कहां कितने लोग दफन हैं कोई नहीं जानता

बलूचिस्तान में मानवाधिकारों का जितना उल्लंघन होता है, उतना शायद कहीं नहीं होता। आधी सदी से भी अधिक समय से दुनिया का कोई कोना अगर लापता होते लोगों, सड़क किनारे मिलती लाशों और ऐसी कब्रों से जाना जाए जिसमें ढेर बनाकर लोग दफनाए गए हों, तो मानवाधिकार के हिमायती लोगों, संगठनों और देशों को अपने गिरेबान में झांकना तो पड़ेगा।..

पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदू महिलाओं का जीवन नर्क बन चुका है

पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाओं की स्थिति बहुत दयनीय है। उन्हें शारीरिक, मानसिक यातनाओं के साथ बुनियादी जरूरतों के लिए भी जूझना पड़ता है। हाल ही में जारी पाकिस्तान मानवाधिकार आयोग की रिपोर्ट में इसका जिक्र किया गया है। लेकिन इस पर अब तक कोई कदम नहीं उठाया गया है..

बलूचिस्तान में आजादी की गूंज

27 मार्च, 1948 को पाकिस्तान की फौज ने आजाद बलूचिस्तान पर कब्जा किया था। पहली बार इस मौके पर पूरे बलूचिस्तान में अनौपचारिक और गुपचुप तरीके से छोटे-छोटे समूहों में बड़ी संख्या में बैठकें हुईं। सामाजिक हताशा से जन्मी जनक्रांति ऐसे ही मुकामों से होकर गुजरती है। बलूचों की यह सक्रियता काफी कुछ कहती है..

बलूचों के प्रेरक हैं भगत सिंह

बलूचिस्तान के लोग भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, लाला लाजपत राय, सुभाष चंद्र बोस को अपना नायक मानते हैं। उन्हें लगता है कि आजादी के इन मतवालों के दिखाए रास्ते पर चलकर एक दिन बलूचिस्तान भी आजाद हो सकेगा..

वामपंथ का हो रहा पतन, सब तोड़ रहे नाता

“कार्ल मार्क्स के प्रसिद्ध सिद्धांत ‘द्वंद्वात्मक भौतिकवाद’ में मूल रूप से छह निर्णायक ऐतिहासिक चरण थे - आदिकालीन साम्यवाद, दासता, सामंतवाद, पूंजीवाद, सर्वहारा की तानाशाही और अंत में साम्यवाद।”..

'जिहाद' हो या 'क्रूसेड' सबका हल सिर्फ हिन्दुत्व के पास

जिहाद हो या क्रूसेड, इतिहास रक्तरंजित है. और एक तरफ हिन्दुत्व है, जिसने इन दोनों के ही हमलों को सहा. आज भी सह रहा है, लेकिन अपनी राह नहीं छोड़ रहा. क्योंकि हम रामराज्य में यकीन करने वाले लोग हैं. ऐसा राज्य, जहां सबके विचारों के लिए स्थान हो...

तो इसलिए मसूद अजहर को बचा रहा है दोगला चीन

चीन के पाकिस्तान में आर्थिक हित हैं, जिन्हें मसूद अजहर से खतरा है. चीन मसूद अजहर को खुश करने के लिए किसी भी हद तक जा सकता है. लेकिन सवाल ये उठता है कि चीन को अगर मसूद अजहर से डर लगता है, तो आर्थिक हितों के मामले में नई दिल्ली से क्यूं नहीं डरना चाहिए..

पाकिस्तान की नस नस में दगा मुकरना उसकी फितरत

दुनिया में कोई पाकिस्तान पर भरोसा नहीं करता, और पाकिस्तान को सबसे ज्यादा भरोसा अपने झूठों पर है| उसने दशकों से आतंकी पाले हैं, लेकिन कभी इकबाल ए जुर्म नहीं किया| अब वो ये कैसे मान ले कि उसकी पनाह में दुबके जिहादियों के एक बड़े गिरोह को भारत की वायुसेना ने ढेर कर दिया है| पाकिस्तान के झूठों का सिलसिला पाकिस्तान जितना ही पुराना है| भारत को पाकिस्तानी जिहादियों और उनके आकाओं से भी निपटना है और उनके “प्रोपेगैंडा वॉर” से भी।..

मुशर्रफ का इकरार: जैश और आईएसआई मिलकर करते हैं भारत पर आतंकी हमले

पाकिस्तान मसूद अजहर और जैश के खिलाफ कार्रवाई का जो दिखावा कर रहा है, उसकी पोल उनके ही पूर्व प्रधानमंत्री परवेज मुशर्रफ ने खोल दी है. मुशर्ऱफ ने कहा है कि जैश और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी मिलकर भारत पर आतंकवादी हमले करती हैं...

एक्सक्लूसिव: बलूच बोले छेड़ा है छोड़ो नहीं

भारत और पाकिस्तान के बीच मौजूदा तनाव के इस दौर में बलूचिस्तान के लोग बेशक भौतिक रूप से पड़ोसी मुल्क में हों, लेकिन उनका दिल भारत के लिए धड़कता है..

अगले 30 साल में हिंदू-विहीन हो जाएगा बांग्लादेश ?

बांग्लादेश से जिस तरह के आंकड़े आ रहे हैं, उन्हें देखते हुए कहा जाने लगा है कि आने वाले 30 वर्ष में बांग्लादेश हिंदू-विहीन हो जाएगा। पिछले अनेक वर्ष से वहां हिन्दुओं का तेजी से गिरता आंकड़ा चिंताजनक है। 5 साल में करीब 53,00000 हिंदू वहां से पलायन कर चुके हैं..

अपने हिसाब से इस्लाम को बदलेगा चीन , अगले 5 साल में होगा लागू

चीन में मुसलमानों के लिए इस्लाम का नया वर्जन लाने की तैयारी चल रही है। सुनकर थोड़ा अटपटा लगता है लेकिन ये सच है, चीन जल्द ही इस्लाम का चायनीज़ वर्जन लायेगा। इसके लिए खाका तैयार कर लिया गया है। चीनी सरकार ने शनिवार को 8 इस्लामिक संगठनों के साथ मीटिंग कर एक कानून पास किया है। जिसके तहत अगले 5 सालों में इस्लाम का चायनीज वर्जन तैयार कर लिया जायेगा। चीन के तमाम मुस्लिमों को इसी इस्लाम को मानना होगा। ..

पाक अधिक्रांत कश्मीर के स्कर्दू में पाकिस्तान के खिलाफ उमड़ा जन सैलाब, आंदोलनकारी शिया नेता गिरफ्तार

मुज़्ज़फराबाद के बाद पाकिस्तान अधिक्रान्त जम्मू कश्मीर के स्कार्दू में पाकिस्तान के खिलाफ एक बड़ा जनआंदोलन खड़ा हो गया है। शुक्रवार को पाकिस्तान सरकार ने गिलगित-बलतिस्तान यूथ अलायन्स के शिया लीडर शेख हसन जोहरी को गिरफ़्तार कर लिया। जिसके बाद स्कार्दू में भारी जन सैलाब सड़क पर उतर आया, और शहर पूरी तरह थम गया।हज़ारों लोगों ने विरोध प्रदर्शन में गिलगित-बलतिस्तान के स्थानीय लोगों ने पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और स्वायत्तता वापिस बहाल करने की मांग रखी। दरअसल गिलगित बलतिस्तान के लोग स्टेट सब्जेक्ट रूल ..

बांग्लादेश में हसीना की जीत के मायने

शेख हसीना की अवामी लीग संसदीय चुनावों में 300 में से 288 सीटों पर विजयी रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हसीना को फोन पर बधाई दी। उम्मीद है, वहां भारत-हित पर और अधिक ध्यान दिया जाएगा..

कनाडा ने माना-खालिस्तानी आतंकी हैं

कनाडा सरकार ने पहली बार माना है कि इस्लामी आतंकवादियों के साथ-साथ खालिस्तानी आतंकवाद से कनाडा को खतरा है। यह भारत के लिए राहत की बात है कि इस विषय पर कनाडा भी सतर्क हो रहा है राकेश सैन लगता है, आतंकवाद को लेकर कनाडा की नीति में बदलाव आ रहा है। वहां की सरकार ने पहली बार खालिस्तानियों को आतंकवादी माना है। 2018 के लिए आई ‘पब्लिक रपट’ में देश को खालिस्तानी आतंकवाद से खतरा बताया गया है। यह रपट जस्टिन ट्रूडो सरकार में जनसुरक्षा मंत्री राल्फ गुडाले ने प्रस्तुत की है। इसमें इस्लामी आतंकी संगठन इस्लामिक ..

पाकिस्तान में मिटाए जा रहे हिंदुओं के नामोनिशान

पाकिस्तान में हिन्दुओं की कोठियां, हवेलियां और धार्मिक महत्व के स्थलों को तोड़कर बिल्डरों की मिलीभगत से बहुमंजिले बाजार बनाए जा रहे हैं। जो इमारतें बच गई हैं, उनकी स्थिति दयनीय है और इन पर भी बिल्डरों की नजर है..

पाकिस्तान में हिंदू संस्कृति मिटाने की साजिश

पाकिस्तान ऐतिहासिक मंदिरों को देश की धरोहर न मानकर उन्हें मिटाने पर आमादा है, जिसके कारण उनके बचे-खुचेअवशेष भी मिटने के कगार पर हैं। अकेले लाहौर में ही पिछले कुछ वर्षों में एक हजार मंदिर नेस्तनाबूद कर दिए गए..

पाकिस्तान में फुटपाथ पर रहने को विवश हैं हिंदू

पाकिस्तान में हिंदू जोगी समुदाय बीन और सांप छोड़कर हस्तकला से अपना जीविकोपार्जन कर रहे हैं । पाकिस्तान में जब से हिन्दू जोगी समुदाय के मकानों और खेत-खलिहानों पर अवैध कब्जे हुए, तब से वे फुटपाथों पर रह रहे हैं। उन्हें न तो बुनियादी सुविधाएं मिलती हैं और न ही समुचित इलाज। - मलिक असगर हाशमीपाकिस्तान में हिंदू जोगी समुदाय बीन और सांप छोड़कर हस्तकला से अपना जीविकोपार्जन कर रहे हैं पाकिस्तान में हिन्दू समुदाय की हैसियत अपनों में बेगाने जैसी है। उनका वजूद, भाषा, संस्कृति, धर्म, संपत्ति सब ..

नवजातों के लिए सबसे खतरनाक है पाकिस्तान

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में हिन्दुओं की सर्वाधिक आबादी है, लेकिन वे बुनियादी सुविधाओं से वंचित हैं। भूख और कुपोषण के कारण थारपरकर में कई नवजात एक माह भी जीवित नहीं रह पाते  - मलिक असगर हाशमीजुल्म की दास्तांपाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिन्दुओं को तरह-तरह से प्रताड़ित किया जा रहा है। पहले उनका जबरन कन्वर्जन करते थे और अब संपत्तियां छीन कर उन्हें बेघर किया जा रहा है। हिन्दू धर्म स्थलों के नामोनिशान मिटाए जा रहे हैं। हिन्दू उत्पीड़न पर चार कड़ियों की एक शृंखला शुरू की जा रही है। प्रस्तुत है इसकी दूसरी ..

वामपंथियों ने हमेशा श्रीराम के अस्तित्व को नकराने का काम किया

बरसों बाद अयोध्या में हलचल है। रामभक्तों की नजर सर्वोच्च न्यायालय और सरकार की ओर है। उन्हें उम्मीद है उनके आराध्य भगवान श्रीराम तंबू में अस्थायी मंदिर की बजाय जल्दी ही भव्य मंदिर में विराजेंगे। तथ्य स्पष्ट बता रहे हैं कि विवादित स्थल ही भगवान श्रीराम की जन्मभूमि है। जो लोग उन तथ्यों को नकारते हैं उनकी मंशा जगजाहिर है। इस आलेख में भगवान श्रीराम की ऐतिहासिकता प्रस्तुत की गई है। विभिन्न संदर्भ ग्रंथों से श्रीराम के संबंध में अनेक तथ्य समाहित किए गए हैं..

पाकिस्तान में बेघर हो रहे हिंदू उनकी संपत्तियों पर कब्जा कर रहे मुसलमान

पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिन्दुओं को तरह-तरह से प्रताड़ित किया जा रहा है। पहले उनका जबरन कन्वर्जन और अब संपत्तियां छीन कर उन्हें बेघर किया जा रहा है। हिन्दू धर्म स्थलों के नामोनिशान मिटाए जा रहे हैं। हिन्दू उत्पीड़न पर चार कड़ियों की एक शृंखला शुरू की जा रही है। प्रस्तुत है इसकी पहली कड़ी..

क्यों गर्म है पाकिस्तान और ईरान की सरहद पर माहौल

मुसलमान 1400 साल पुराने शिया और सुन्नी के संघर्ष में आज तक उलझे हुए हैं। मजहवी राजनीति से प्रेरित सत्ताओं का का संघर्ष इतना उलझा हुआ है कि कोई उससे एक तरफा बाहर नहीं आ सकता..

थाईलैंड में शाकाहार की धूम

सेहत को ध्यान में रखते हुए शाकाहार बहुत तेजी से विश्वभर में लोकप्रिय होता जा रहा है। हर वर्ष भोजन के लिए बहुत से जानवरों को मारा जाता है लेकिन अब लोग तेजी से शाकाहार अपना रहे हैं। थाइलैंड में हर वर्ष शाकाहार को बढ़ावा देने के लिए 9 दिनों का वेजिटेबल फेस्टिवल मनाया जाता है। इन दिनों थाइलैंड में जोरों—शोरों से वेजिटेबल फेस्टिवल मनाया जा रहा है ।..

हैवानियत का नाम पाकिस्तान

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र में विश्व को पाकिस्तान की असलियत से परिचित कराया है। दुनिया के सामने उसके दोहरे चेहरे को बेनकाब किया है। भारतीय विदेश मंत्री ने साफ शब्दों में संयुक्त राष्ट्र को आगाह किया कि अगर समय के साथ बदलाव को अंगीकार नहीं किया गया तो इसका हश्र भी लीग ऑफ नेशंस जैसा ही होगा..

इस्राइलियों के लिए दूसरी मां की तरह है भारत

भारत को दुनियाभर में आध्यात्मिक का केंद्र ऐसे ही नहीं कहा जाता। पूरे विश्व से लोग यहां आते हैं, धर्म का मर्म समझने के लिए, अध्यात्म को जानने के लिए, शांति के लिए। हजारों की संख्या में विदेशी मूल के लोग हैं जो भारत में वर्षों से रह रहे हैं। उनका ज्यादातर समय यहीं पर बीतता है। बहुत कम समय के लिए वे लोग अपने देश के लिए जाते हैं। ऐसे ही व्यक्ति हैं इस्राइल के रहने वाले गिल रोन शमा...

अब किसके दम पर उछलेगा पाकिस्तान

अमेरिका ने पाकिस्तान की आर्थिक सहायता की रकम में कटौती करने की घोषणा की है। अमेरिका से मिली जिस रकम के दम पर पाकिस्तान ने अपना जिहादी तंत्र खड़ा किया अब वह उसे मिलनी बंद हो जाएगी। पाकिस्तान में अमेरिका द्वारा की गई आर्थिक कटौती को लेकर अमेरिका के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं..

चमकते सितारे आइए, जानते हैं जकार्ता में अपनी प्रतिभा का सिक्का जमाने वाले कुछ सितारों को

सौरभ चौधरी (16 वर्ष) (एयर पिस्टल निशानेबाज); जन्म- कलीना गांव, मेरठ (उत्तर प्रदेश)उपलब्धियां जकार्ता एशियाई खेल -2018 में स्वर्ण2018 जूनियर विश्व कप, सूल (जर्मनी) में स्वर्णयुवा एशियाई निशानेबाजी प्रतियोगिता-2017 (जापान) में स्वर्णयुवा एशियाई निशानेबाजी प्रतियोगिता-2016 (तेहरान) में रजतसौरभ ने वरिष्ठ श्रेणी में पहली बार अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लेते हुए एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया। वे एशियाई खेलों के इतिहास में भारत की ओर से स्वर्ण पदक जीतने वाले पांचवें निशाने..

खेलों में भारत का बढ़ता कद

जकार्ता एशियाई खेलों में भारतीय खिलाड़ियों ने ऐतिहासिक प्रदर्शन किया। भारत ने 15 स्वर्ण सहित कुल 69 पदक जीत इन खेलों में देश को दुनिया में अग्रणी बना दिया। युवा खिलाड़ियों ने अपनी विलक्षण प्रतिभा से भारतीय खेल जगत का कद तो बढ़ाया ही, बेहतर भविष्य की उम्मीद भी जगाई..

शिकागो की धरती पर विश्व बंधुत्व पर मंथन

शिक्षा संस्थानों में शिखर तक पहुंचे भारतीय मूल के शिक्षाविद, वरिष्ठ चिकित्सक, आईटी एवं मैनेजमेंट कर्मी इस ‘कशमकश’ में हैं कि कर्म भूमि से जन्म भूमि तक के सफ़र को कैसे सुहाना बनाया जाए।..

विश्व हिंदू कांग्रेस: हिंदू दर्शन के प्रति भ्रांतियां दूर करने में सहायक होगी--स्वामी विज्ञानानंद

विश्व हिंदू परिषद के संयुक्त सचिव स्वामी विज्ञानंद का कहना है कि शिकागो हिंदू कांग्रेस में भारत वंशी समुदाय में हिंदू दर्शन के प्रति भ्रांतियां दूर होंगी और दुनिया में उनकी अमिट छाप बनने में सहायक होगा।..

विश्व हिंदू कांग्रेस की सफलता क्यों जरूरी ?

विश्व में ईसाई और मुस्लिमों के बाद हिन्दुओं की संख्या आती है। लेकिन हिन्दुओं के पास उनके समक्ष वैश्विक स्तर पर आने वाली समस्याओं को रखने के लिए कोई मंच नहीं है। जबकि मुसलमानों के लिए विश्व स्तर पर काम करने के लिए ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कॉपोरेशन (ओआईसी) है। ..

इस्लामिक पाखंड के धुर विरोधी थे सर नायपॉल

भारतीय मूल के लेखक सर विद्याधर सूरजप्रसाद नायपॉल नहीं रहे। उन्हें प्यार से लोग सर विद्या कहते थे। उन्होंने जो लिखा वह अद्भुत है। साहित्य के लिए उन्हें नोबेल और बुकर पुरस्कार दिए गए। अपनी लेखनी से वामपंथियों और इस्लामिक पाखंडों की कलई खोलने वाले सर विद्या की लेखनी ने जहां उनके प्रशंसकों की फौज खड़ी की तो कथित बुद्धिजीवी उनके कड़े आलोचक भी रहे। बाबरी विध्वंस में कार सेवकों की भूमिका को उन्होंंने हिंदुओं की नव जागृति करार दिया था ..

सेवा इंटरनेशनल को पुनर्निर्माण के लिए मिला 500,000 अमेरिकी डॉलर का अनुदान

सेवा इंटरनेशनल के द्वारा मानव कल्याण के लिए किए जा रहे कार्यों को देखते हुए अमेरिका की रेड क्रास सेवा ने पांच लाख अमेरिकी डॉलर का अनुदान देने का फैसला किया है। सेवा इंटरनेशनल को यह रकम टेक्सास के ब्राजोरिया काउंटी में नष्ट हो चुके व क्षतिग्रस्त मकानों के पुनर्निर्माण के लिए यह रकम दी गई है। भारत की गैर लाभकारी संगठन सेवा इंटरनेशनल को पिछले साल अमेरिका के टेक्सास राज्य में आये हार्वे तूफान के कारण तबाह हो गये घरों के पुनर्निर्माण के लिए 500,000 अमेरिकी डॉलर का अनुदान दिया गया है। अमेरिका की रेड क्रास ..

फौजियों ने बूथ कैप्चर कर जिताया इमरान को

यह ‘इलेक्शन’ नहीं ‘सेलेक्शन’ था। फौज जबरदस्ती लोगों को बूथों तक ले गई और पसंद के कैंडिडेट को वोट दिलाया गया। कई जगहों पर फौजियों ने खुद ही बूथ कैप्चर कर वोट डाले। सबकुछ पहले से लिखी स्क्रिप्ट के मुताबिक हुआ। सेना ने इमरान को इसी तरह जिताया। आप वीडियो में देख सकते हैं फौज स्वयं पोलिंग बूथ पर खड़े होकर वोट डाल रहे हैं। प्रस्तुत है तुरबत, बलूचिस्तान से शकीर बलोच की पांचजन्य के लिए ग्राउंड रिपोर्ट..

पाकिस्तान में इमरान की नहीं सेना की जीत हुई

पाकिस्तान में इमरान को वहां की ताकतवर सेना ने खड़ा किया और वे उस सेना के मुखौटाभर हैं। कूटनीति का तकाजा है कि भारत इमरान को बधाई तो दे पर उन पर आंख मूंदकर भरोसा न करे ..

बलूचिस्तान से पाञ्चजन्य की रिपोर्ट: इमरान को ऐसे जिताया फौज ने

पाकिस्तान के सियासत में बेशक इमरान खान एक नए मुकाम पर पहुंच गए हों, और पाकिस्तान को बदलने की बात कर रहे हों लेकिन बलूचिस्तान के लिए कुछ भी नहीं बदला। वहां पहले भी फौज तय करती थी कि कौन जीतेगा, आज भी यही हो रहा है। पूरे बलूचिस्तान में फौज के जवान लोगों को जबरन उठाकर पोलिंग बूथ तक ले गए और उन्हें अपने पहले से तय कैंडिडेट को वोट दिलवाए।..

तेल और गैस पर वैश्विक जंग

मध्य एशिया और अफगानिस्तान में गैस और तेल पर वर्चस्व के खेल की दूसरी बाजी शुरू हो चुकी है। इस लड़ाई में यूरेशिया का भविष्य और लगभग 5 खरब डॉलर कीमत वाले तेल और गैस के व्यापार पर दबदबा दाव पर लगा है। किसी भी देश की तरक्की में तेल और गैस का बड़ा हाथ रहता है, इसलिए इस जंग के बादल मंडराने लगे हैं अमेरिका द्वारा निर्मित बाकू केहान पाइप लाइन 1904 में रॉयल जियोग्राफिकल सोसाइटी के तत्वावधान में भूगोल के प्रोफेसर सर फोर्ड मैकिन्डर ने एक व्याख्यान दिया था। विषय था, 'इतिहास की भौगोलिक धुरी।'इस व्याख्यान ..

कैसा होगा पाकिस्तान के नए नेतृत्व का भारत के लिए रुख?

चुनाव में उतरने को तैयार तीन बड़ी पार्टियों-पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी, पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) और तहरीके इंसाफ - के नेताओं के भारत से विभाजन पूर्व संबंध रहे हैं। यह देखना दिलचस्प होगा कि ये जीते तो अपने पुरखों की धरती को लेकर इनका क्या रुख रहेगा..

अफगानिस्तान में खतरे में हिंदू-सिख समुदाय

1970 के दशक में जहां अफगानिस्तान में हिन्दुओं-सिखों की आबादी लगभग 9 लाख थी। व्यापार में दोनों ही समुदायों का वर्चस्व था। वहीं आज हालात इतने खराब हो चले हैं कि आरक्षित सीट से चुनाव में उतरे प्रत्याशी की ही हत्या की गई। इस हमले के पीछे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ बताया जा रहा है..

अफगानिस्तान में हिंदुओं-सिख समुदाय पर आत्मघाती हमला, 19 की मौत

फगानिस्तान के जलालाबाद में रविवार को सिखाें और हिंदुओं के एक जत्थे पर आत्मघाती हमला किया गया। इसमें 19 लोगों की मौत हो गई। आतंकी हमले में मरने वाले लोगों में 11 सिख और 6 हिंदू थे। ..

गिलगित-बाल्टिस्तान हमारा है और हम इसे लेकर रहेंगे

पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर के हिस्से को लेकर हमारी नीतियों में एक अजीब तरह की उदासीनता रही थी। इसी का नतीजा है कि पाकिस्तान अब गिलगित और बाल्टिस्तान को अपने पांचवें राज्य के तौर पर मान्यता देने की तैयारी कर रहा है। हाल ही में पाकिस्तान ने गिलगित-बाल्टिस्तान के स्वरूप को बदलने का प्रयास किया है। पाकिस्तानी हुकूमत ने हालिया आदेश के जरिये गिलगित-बाल्टिस्तान में स्थानीय परिषदों के ज्यादातर अधिकार ले लिए हैं। इसे इन इलाकों पर पूरी तरह कब्जा करने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। भारत ने ..

मलक्का जलडमरूमध्य में भारत ने की चीन की घेराबंदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हिन्द प्रशांत क्षेत्र में रणनीतिक रूप से अत्यंत महत्वपूर्ण मलक्का जलडमरूमध्य के दोनों ओर बसे इंडोनेशिया एवं सिंगापुर के साथ बेहद अहम रक्षा समझौते करके दक्षिण पूर्वी एशियाई क्षेत्र और हिन्द महासागर में चीन की महत्वाकांक्षाओं पर लगाम लगाने का पुख्ता इंतज़ाम कर दिया है।..

इंडोनेशिया मुस्लिम बहुल पर बोलबाला हिंदू संस्कृति का

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच दिन के इंडोनेशिया, मलेशिया और सिंगापुर दौरे पर हैं। पहले दिन वह इंडोनेशिया पहुंचे और राष्ट्रपति जोको विडोडो से मुलाकात की। वहां उनका शाही अंदाज में स्वागत हुआ इंडोनेशिया मुस्लिम बहुल है लेकिन यहां हिंदू संस्कृति का बोलबाला है। मुस्लिम बहुल इंडोनेशिया में अनेक हिन्दू जनजातियां हैं जिनमें लोगों के नाम भले मुस्लिम हों, पर व्यवहार में वे हिन्दू ही हैं। भारत के प्रति उनमें अनूठी आस्था है। इंडोनेशिया के करेंसी पर भी गणपति की मूर्ति है।..

बर्बादी की राह पर पाकिस्तान!

अमेरिकी मदद रुकने के बाद पाकिस्तान भारत की बढ़ती ताकत को लेकर बौखला गया है। इसी घबराहट में उसने 2018-19 के अपने रक्षा बजट में 20 प्रतिशत से भी अधिक की बढ़ोतरी की है..

डालर पर अमेरिकी डर

अमेरिका अपने हितों की रक्षा की खतिर कुछ भी कर सकता है। उसने हाल ही में भारत को उन देशों की सूची में डाल दिया है, जो मुद्रा के मूल्यन में हेरा-फेरी करते हैं। दरअसल यह कदम अमेरिकी दादागिरी और धौंस का द्योतक है..

इस कारण हुई थी उत्तर और दक्षिण कोरिया की दुश्मनी

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन के बीच हुई शिखर वार्ता ऐतिहासिक माना जा रहा है। उत्तर कोरिया के इस नरम रुख का पूरे विश्व की राजनीति पर प्रभाव पड़ना तय है। आखिर उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया दुश्मन क्यों बनें। क्यों दुनियाभर से उत्तर कोरिया को आर्थिक प्रतिबंध झेलने पड़े । हम आपको सीरीज दर सीरीज इस बात की जानकारी देंगे। हमारी पहली किश्त में पढ़िए उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया एक दूसरे के विरोधी कैसे बने? इस लंबी चली दुश्मनी का कारण क्या था ?..

पाकिस्तान-फिर धधका खैबर पख्तूनख्वा

मुशर्रफ पर आरोप है कि उन्होंने बड़ी रकम लेकर 4,000 पाकिस्तानियों को विदेशियों के हवाले कर दिया। आतंकवाद से लड़ाई के नाम पर अपनी जेब भरने के इस खेल से खैबर पख्तूनख्वा, सिंध और बलूचिस्तान में आजादी के लिए सुलगती आग और भड़केगी..

क्या तीसरे विश्वयुद्ध की तरफ बढ़ रही है दुनिया

सीरिया पर अमेरिकी हमले से स्थिति बिगड़ती जा रही है। कई विशेषज्ञ इसे तृतीय विश्वयुद्ध का आगाज मान रहे हैं। पिछले दिनों लंदन जासूसी कांड और जहर देने के..

उम्र छोटी जज्बा बड़ा,अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी पर फहराया तिरंगा

कहते हैं यदि हौसला हो तो कोई काम मुश्किल नहीं होता। हैदराबाद के एक छोटे बच्चे ने एक ऐसा कारनामा कर दिखाया जिसको करने में बड़ों—बड़ों के पसीने छूट जाएं। हैदराबाद के इस बच्चे से महज सात साल की उम्र में अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी पर तिरंगा फहराकर विश्व रिकॉर्ड बनाया है। ..

ईरान में धार्मिक स्वतंत्रता की बढ़ती माँग

ईरान में सरकार ने 29 महिलाओं को सिर का हिजाब फेंकने के लिए गिरफ्तार किया है। वहाँ सार्वजनिक रूप से महिलाओं का अपना सिर न ढँकना एक अपराध है। लेकिन बड़ी संख्या में महिलाएं इस का प्रतिरोध कर रही हैं। वे इसे साफ तौर पर उन के ‘जीवन में मजहब का अनुचित दखल’ कह कर विरोध कर रही हैं। यह एक बड़ी बात है। ..

चीन-अमेरिका का ध्यान सिर्फ अपने फायदे पर

कारोबार युद्ध छिड़ने की प्रक्रिया चल निकली है। चीन और अमेरिका ने ताल ठोक दी है। अमेरिका ने यह उठाया है कि स्टील पर आयात शुल्क बढ़ाकर 25 प्रतिशत कर दिया और अल्युमिनियम पर आयात शुल्क दस प्रतिशत कर दिया। बदले में चीन ने भी तमाम अमेरिकी आइटमों पर कर ठोंकने की तैयारी कर ली। ..

पाकिस्तान/हिन्दू उत्पीड़न-जाएं तो जाएं कहां?

द हिंदू अमेरिका फाउंडेशन’ की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान और बांग्लादेश जैसे देशों में, जहां हिंदू अल्पसंख्यक हैं, वहां उन्हें हिंसा, सामाजिक उत्पीड़न और हाशिए पर डाल दिए जाने के हालात का सामना करना पड़ रहा हैलोकेन्द्र सिंह पाकिस्तान जब बनाय..

विमर्श/इस्लामी आतंक -मोसुल के सबक पहचानें

मोसुल में आईएसआईएस के हाथों 39 भारतीयों की भयानक हत्याएं सिर्फ टीवी बहसों का मुद्दा बनकर न रहें। इसके पीछे छुपी उस कट्टर सोच पर भी गंभीरता से विचार करना जरूरी है जो गैर मजहबियों के कत्ल की पैरवी करती है। हैरतअंगेज है कि मारे गए केशधारियों के साथी बांग्लाद..

ईरान आंदोलन :उन्मादी अंधेरों में जरतुश्त का जुगनू

ईरान में जरतुश्त पंथियों में अस्मिता का भाव जाग्रत होने के बाद से वहां इस्लाम के शिकंजों से छूटने की सरगर्मी बढ़ने लगी है। लोग अब इस्लाम की बंदिशों में जकड़े रहने को तैयार नहीं शंकर शरणईरान में सरकार ने 29 महिलाओं को सिर का हिजाब उतार फेंकने पर गिर..

बढ़ता भारत, चीन की चिंता

 चीन विश्व के तमाम शक्तिशाली देशों के साथ भारत के बढ़ते संबंधों पर चिंतित है। पाकिस्तान के पाले में बैठा चीन दक्षिण एशिया में थानेदार की भूमिका बनाए रखना चाहता है, लेकिन भारत उसे कड़ी टक्कर दे रहा है  सुधेन्दु ओझापूरे भारतीय उपमहाद्वीप, मध्य..

पाकिस्तान- इमरान! ये तुमने क्या किया

पाकिस्तान में इमरान खान के तीसरे निकाह के बाद  सियासतदानों समेत अवाम में आक्रोश व्याप्त है। इसके चलते राजनीतिक और सामाजिक स्तर पर निरंतर हो रहे हमले और आलोचना का पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी को भी एहसास हो चला है कि पार्टी प्रमुख की यह हरकत आम चुना..