पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

भारत

भूटान ने अपनाया भारत का भीम-यूपीआई

WebdeskJul 14, 2021, 03:09 PM IST

भूटान ने अपनाया भारत का भीम-यूपीआई

वर्चुअल कार्यक्रम के दौरान भूटान में भीम-यूपीआई की शुरुआत करती वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमन

सिंगापुर के बाद भीम-यूपीआई अपनाने वाला दूसरा और भीम यूपीआई क्‍यूआर आधारित भारतीय भुगतान प्रणाली अपनाने वाला पहला देश बना भूटान। भारत के रूपे कार्ड को यूएई, सिंगापुर और भूटान पहले ही अपना चुके हैं।

भूटान ने भारत एकीकृत भुगतान प्रणाली भीम-यूपीआई को अपने यहां लागू किया है। एक आभासी कार्यक्रम के दौरान वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमन और भूटान के वित्‍त मंत्री ल्योंपो नमगेय शेरिंग ने संयुक्‍त रूप से मंगलवार को भूटान में भीम यूपीआई (BHIM UPI) एप को लांच किया। सिंगापुर के बाद भीम एप अपनाने वाला भूटान दूसरा देश है।

भीम-यूपीआई अपनाने वाला भूटान दुनिया का पहला देश है, जहां भारत के यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) के मानकों के आधार पर क्‍यूआर (QR) कोड तैयार किया जाएगा। इसके अलावा दुनिया में केवल भूटान में ही भीम-यूपीआई के साथ भारत का रूपे (RuPay) कार्ड भी प्रयोग किया जाता है। इस लोकार्पण से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 2019 में भूटान यात्रा के दौरान किया गया वादा पूरा हुआ है। भारत एवं भूटान के बीच रूपे कार्ड की स्वीकार्यता पहले ही क्रियान्वित हो चुकी है। भीम यूपीआई के क्रियान्वित होने से भारत एवं भूटान के भुगतान इन्फ्रास्ट्रक्चर एक-दूसरे से अच्छी तरह से जुड़ गए हैं।

कोरोनाकाल में भीम से 22 अरब लेन-देन

एप लांचिंग के अवसर पर निर्मला सीतारमन ने कहा कि भारत से सालाना दो लाख से अधिक लोग भूटान घूमने जाते हैं। भीम एप शुरू होने से उन्‍हें वहां लेन-देन में आसानी होगी। लांच के बाद सीतारमन ने भूटानी ओजीओपी आउटलेट से जैविक उत्पाद खरीदने के लिए भीम-यूपीआई से लेन-देन किया। यह आउटलेट भूटान में स्थानीय समुदायों द्वारा जैविक रूप से बनाए गए ताजा कृषि उत्पाद बेचता है। वित्‍त मंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान भीम-यूपीआई से भारत में डिजिटल लेनदेन का बड़ा मंच बना। 2020-21 में इससे 41 लाख करोड़ रुपये 22 अरब लेन-देन किए गए। 2020 में यूपीआई के जरिए 457 अरब डॉलर का करोबार हुआ, जो देश के लगभग 15 प्रतिशत जीडीपी के बराबर है।

 

भूटान में ऐसे किए जा सकेंगे भुगतान

भारत इंटरफेस फॉर मनी (बीएचआईएम) भारत का डिजिटल भुगतान एप्लिकेशन है जो यूपीआई के माध्यम से काम करता है। यह तत्काल रीयल-टाइम भुगतान प्रणाली है। यूपीआई कई बैंक खातों को एक ही मोबाइल एप्लिकेशन में सक्षम बनाता है। देश के नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीएल) की अंतरराष्‍ट्रीय शाखा एनपीसीएल इंटरनेशनल पेमेंट्स लिमिटेड (एनपीआईएल) ने भूटान की रॉयल मॉनेटरी अथॉरिटी (आरएमए) के साथ साझीदारी की घोषणा की है। इसी के तहत वहां भीम यूपीआई क्‍यूआर आधारित भुगतान किए जा सकेंगे।

सिंगापुर पहले ही अपना चुका भीम और रूपे कार्ड

इससे पहले, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 मई, 2018 को सिंगापुर में भीम, रूपे कार्ड और एसबीआई एप को लांच किया था। रूपे से सिंगापुर की 33 साल पुरानी नेटवर्क फॉर इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स ट्रांसफर्स (एनईटीएस) से जोड़ा गया गया था। यानी रूपे के उपयोक्ता सिंगापुर में उन सभी जगहों पर भुगतान कर सकते थे, जहां एनईटीएस स्वीकार्य था। इसके बाद, नवंबर 2019 में पहली बार सिंगापुर फिनटेक महोत्‍सव में क्यूआर कोड आधारित भुगतान सेवा भीम-यूपीआई का वैश्विक स्तर पर प्रदर्शन किया गया। इससे पहले अगस्त में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूएई के बाजार में रूपे कार्ड की पेशकश की थी। तब संयुक्त अरब अमीरात पश्चिम एशिया का पहला देश बन गया था, जिसने इलेक्ट्रॉनिक भुगतान की भारतीय प्रणाली को अपनाया। भारत इससे पहले सिंगापुर और भूटान में रूपे कार्ड का चलन शुरू हो चुका था।

Follow Us on Telegram

Comments

Also read:पराग अग्रवाल ट्विटर के नए सीईओ, दुनिया की बड़ी कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों में एक और ..

UP Chunav: Lucknow के इस मुस्लिम भाई ने खोल दी Akhilesh-Mulayam की पोल ! | Panchjanya

योगी जी या अखिलेश... यूपी का मुसलमान किसके साथ? इसको लेकर Panchjanya की टीम ने लखनऊ में एक मुस्लिम रिक्शा चालक से बात की. बातों-बातों में इस मुस्लिम भाई ने अखिलेश और मुलायम की पोल खोलकर रख दी.सुनिए ये योगी जी को लेकर क्या सोचते हैं और यूपी में 2022 में किसपर भरोसा करेंगे.
#Panchjanya #UPChunav #CMYogi

Also read:एडमिरल आर. हरि कुमार बने नौसेना प्रमुख, संभाली देश की समुद्री कमान ..

संयुक्त  किसान मोर्चा में फूट, आंदोलन वापसी पर फैसला कल
बंगाल में अब पानी के साथ चावल में भी है आर्सेनिक की प्रचुर मात्रा

तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल पर बैठा क्रिश्चिन मिशेल, अगस्ता वेस्टलैंड मामले का है आरोपी

 मिशेल ने गुरुवार से नहीं खाया है खाना, शनिवार को डॉक्टरों ने उसकी सहमति से दिया था ग्लूकोज  तिहाड़ जेल में बंद अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर डील मामले में कथित बिचौलिया रहे क्रिश्चियन मिशेल ने भूख हड़ताल शुरू कर दी है। उसने गुरुवार से खाना नहीं खाया है। जेल प्रशासन का कहना है कि क्रिश्चियन मिशेल के स्वास्थ्य पर निगरानी रखी जा रही है। शनिवार को डॉक्टरों ने उसकी सहमति से ग्लूकोज दिया था। फिलहाल अभी हालत स्थिर है।  जानकारी के अनुसार क्रिश्चियन मिशेल ने गुरुवार से खाना नहीं खाया ...

तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल पर बैठा क्रिश्चिन मिशेल, अगस्ता वेस्टलैंड मामले का है आरोपी