पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

भारत

टीकाकरण महाअभियान की बड़ी छलांग, पहले दिन लगाई गईं रिकार्ड 85.15 लाख खुराक

WebdeskJun 22, 2021, 01:20 PM IST

टीकाकरण महाअभियान की बड़ी छलांग, पहले दिन लगाई गईं रिकार्ड 85.15 लाख खुराक

टीकाकरण महाअभियान में छलांग लगाते हुए हुए पहले दिन 85.15 लाख डोज लगाई गईं। यह अपने आप में एक रिकार्ड है। शाम सात बजे तक देश में वैक्सीन की 85.15 लाख डोज लगाई गईं जो पिछले कुछ दिनों से लगाई जा रही औसतन 33—36 लाख डोज से दोगुने से भी ज्यादा हैं।


टीकाकरण महाअभियान में छलांग लगाते हुए हुए पहले दिन 85.15 लाख डोज लगाई गईं। यह अपने आप में एक रिकार्ड है। शाम सात बजे तक देश में वैक्सीन की 85.15 लाख डोज लगाई गईं जो पिछले कुछ दिनों से लगाई जा रही औसतन 33—36 लाख डोज से दोगुने से भी ज्यादा हैं। ज्ञात हो कि इससे पहले एक अप्रैल को 48 लाख से ज्यादा डोज लगाई गई थीं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस पर कहा कि रिकार्ड तोड़ टीकाकरण संख्या खुश करने वाली है। कोरोना से लड़ने के लिए वैक्सीन सबसे मजबूत हथियार है। उन सभी को बधाई जिन्होंने टीका लगवाया और फ्रंटलाइन वारियर्स को भी बधाई जिन्होंने यह सुनिश्चित किया कि इतने सारे लोगों को टीका मिल सके। वेलडन इंडिया।


गौरतलब है कि सरकार ने हर दिन एक करोड़ खुराक देने का लक्ष्य रखा है। इसे देखते हुए टीकाकरण में तेजी जारी रहने की पूरी उम्मीद हैं। टीकाकरण अभियान में भाजपा और राजग शासित राज्य आगे रहे। सोमवार के टीकाकरण में इनका योगदान 70 फीसदी रही, जबकि गैर राजग शासित राज्यों में सिर्फ 30 फीसद ही टीके लगाए जा सके। 

Comments
user profile image
Anonymous
on Jun 23 2021 14:51:20

covid 19

Also read: ऑस्कर में नहीं जाएगी फिल्म 'सरदार उधम सिंह', अंग्रेजों के प्रति घृणा दिखाने की बात आ ..

Osmanabad Maharashtra- आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

#Osmanabad
#Maharashtra
#Aurangzeb
आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

Also read: सूचना लीक मामला: सीबीआई ने नौसेना के अधिकारियों को किया गिरफ्तार, उच्च स्तरीय जांच के ..

भारत का रक्षा निर्यात पांच वर्षों में 334 फीसदी बढ़ा, 75 से अधिक देशों को सैन्य उपकरणों का कर रहा निर्यात
गुरुजी के प्रयासों से ही आज जम्मू-कश्मीर है भारत का अभिन्न अंग

फिर भारत से उलझने को बेताब है चीन, नए ‘लैंड बॉर्डर लॉ’ की आड़ में कब्जाई जमीन पर अधिकार जमाने की तैयारी!

 नेशनल पीपुल्स कांग्रेस की स्थायी समिति ने बीजिंग में संसद की समापन बैठक के दौरान इस कानून को पारित किया। ताजा जानकारी के अनुसार, अगले साल 1 जनवरी को यह कानून लागू कर दिया जाएगा भारत तथा चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर चीन की शैतानी मंशा में एक और पहलू तब जुड़ गया जब उसने अपनी संसद के परसों खत्म हुए सत्र में सीमावर्ती इलाकों के संबंध में अपनी 'संप्रभुता तथा क्षेत्रीय अखंडता को उल्लंघन से परे' बताते हुए नया लैंड बार्डर लॉ पारित कराया। उल्लेखनीय है कि भारत-चीन के बीच 3,488 कि ...

फिर भारत से उलझने को बेताब है चीन, नए ‘लैंड बॉर्डर लॉ’ की आड़ में कब्जाई जमीन पर अधिकार जमाने की तैयारी!