पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

झारखंड में जज भी नहीं सुरक्षित, आम आदमी का क्या होगा ?

WebdeskJul 29, 2021, 01:43 PM IST

झारखंड में जज भी नहीं सुरक्षित, आम आदमी का क्या होगा ?


झारखंड में अपराधियों का मनोबल दिन—प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि एक अपराधी चोरी के ऑटो से कई गंभीर मामलों की जांच करने वाले धनबाद के जिला एवं सत्र न्यायाधीश 8 उत्तम आनंद की हत्या करके आसानी से फरार हो जाते हैं


झारखंड के धनबाद में 28 जुलाई कि सुबह 5 बजे एडीजे 8 उत्तम आनंद अपने घर से सुबह की सैर पर निकले थे। इसी बीच तेज गति से आ रहे एक ऑटो ने उनकी ओर मुड़ते हुए उन्हें धक्का मारा और फरार हो गया। यह सारी घटना पास ही के पेट्रोल पंप पर लगे सीसीटीवी में कैद हो गई। जिसमें यह साफ दिखाई दे रहा है कि सीधा जा रहा ऑटो अचानक जज उत्तम आनंद की ओर मुड़कर उन्हें जोरदार धक्का मारता है और वहां से फरार हो जाता है। सीसीटीवी से पता चला की ऑटो में दो लोग सवार थे।

इस घटना के बाद स्थानीय लोगों ने उत्तम आनंद को पास के ही एसएनएमएमसीएच अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

अल सुबह सैर पर गए जज उत्तम आनंद जब 7 बजे तक घर नहीं लौटे तो पत्नी कीर्ति सिन्हा ने रजिस्ट्रार को फोन कर पति के घर नहीं आने की सूचना दी। थोड़ी देर बाद उन्हें पता चला कि रणधीर वर्मा चौक के पास उनके पति दुर्घटनाग्रस्त हो गए थे। बाद उन्हें एसएनएमएमसीएच अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहां पहुंचते ही डाक्टरों ने बताया की उनके पति की मौत हो गई है। पत्नी कृति सिन्हा ने धनबाद थाना में अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराते हुए हत्यारों को जल्द पकड़ने की मांग की है।

चर्चित मामलों की सुनवाई कर रहे थे उत्तम आनंद

उत्तम आनंद छह माह पूर्व ही बोकारो जिले से ट्रांसफर होकर धनबाद आए थे। उत्तम आनंद के कोर्ट में काफी चर्चित और बड़े केस की सुनवाई चल रही थी। इसमें मुख्य रूप से सिंह मेंशन और पूर्व विधायक संजीव सिंह के करीबी रंजन सिंह हत्याकांड का मामला भी शामिल है। इस मामले में झरिया की कांग्रेस विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह का मौसेरा देवर हर्ष सिंह आरोपित है। इसके साथ ही तीन दिन पहले ही उन्होंने उत्तर प्रदेश के इनामी शूटर अभिनव सिंह और होटवार जेल में बंद अमन सिंह से जुड़े शूटर रवि ठाकुर और आनंद वर्मा की जमानत याचिका खारिज की थी। कतरास में राजेश गुप्ता के आवास पर बमबाजी के मुकदमे में भी वे सुनवाई कर रहे थे।


पुलिस मामले की गंभीरता को देखते हुए हर पहलु से जांच करने में जुटी हुई है। इसी क्रम में पता चला कि जज को धक्का मारने के लिए चोरी के ऑटो का प्रयोग हुआ था। वह ऑटो पाथरडीह के सुगनी देवी का है। सुगनी के अनुसार उसका ऑटो रात में चोरी हो गया था और सुबह 5 बजे इस घटना को अंजाम दिया गया। पुलिस ऑटो को बरामद करने में जुट गई है। इस मामले में पुलिस धनबाद के कई चर्चित और दबंग लोगों से पूछताछ करने में जुटी है। बोकारो डीआईजी मयूर पटेल ने दावा किया कि न्यायाधीश को मारने वाले को पकड़ने के लिए हर मुमकिन कार्रवाई की जा रही है। जल्द सच सामने आ जाएगा। झारखंड के हाईकोर्ट ने भी धनबाद जिला न्यायाधीश और पुलिस से रिपोर्ट मांगी है।

इस मामले में धनबाद के भाजपा विधायक राज सिन्हा ने न्यायिक अधिकारी पर हमले को चिंता का विषय बताया। सिन्हा के मुताबिक, ‘सीसीटीवी फुटेज से साफ है कि यह हादसा नहीं हत्या है। यह केस सरकार व प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती है। उन्होंने इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है। सोशल मीडिया पर घटना की सीसीटीवी फुटेज वायरल हो रही है। इस दौरान लोगों का कहना है कि झारखंड में जब एक जज सुरक्षित नहीं है तो आम आदमी कैसे सुरक्षित होगा ?

Follow Us on Telegram

Comments
user profile image
Anonymous
on Jul 31 2021 19:02:05

zarkhand congres aur shibusoren ki dadagiri badh rahi hai dusara bangal bana raha hai hindu surksit nahi hai aur vishav hindu parisad gumhoraha haihindu ki raksha karana me bj

user profile image
Anonymous
on Jul 30 2021 11:46:03

झारखंड पुलिश को, बाइक चेकिंग से फुर्सत जब मिलता है, उन्हें तो अपनी पॉकेट की पड़ी है।

Also read: उत्तराखंड आपदा ने दस ट्रैकर्स की ली जान, 25 लोग अब भी लापता ..

kashmir में हिंदुओं पर हमले के पीछे ISI कनेक्शन आया सामने | Panchjanya Hindi

kashmir में हिंदुओं पर हमले के पीछे ISI कनेक्शन आया सामने | Panchjanya Hindi

Also read: तालिबान प्रवक्ता ने कहा, भारत करेगा अफगानिस्तान में मानवीय सहायता के काम ..

मजहबी दंगे भड़काने में कट्टर जमाते-इस्लामी का हाथ, उन्मादी नेता ने उगला सच
रावण क्यों जलाया, अब तुम लोगों की खैर नहीं

उत्तराखंड में बढ़ती मुस्लिम आबादी, मुस्लिम कॉलोनी के विज्ञापन पर शुरू हुई जांच

बरेली, रामपुर, मुरादाबाद में प्रचार करके बेचे जा रहे हैं प्लॉट। पूर्व सांसद बलराज पासी ने कहा विरोध होगा उत्तराखंड के उधमसिंह नगर जिले में उत्तर प्रदेश के बरेली रामपुर जिलो के बॉर्डर पर सुनियोजित ढंग से एक साजिश के तहत मुस्लिम आबादी को बसाया जा रहा है। मुस्लिम कॉलोनी का प्रचार करके प्लॉट बेचे जा रहे हैं। मामले सामने आने पर जिला विकास प्राधिकरण ने जांच शुरू कर दी है। पिछले कुछ समय से उत्तराखंड राज्य में मुस्लिम आबादी तेजी से बढ़ने के आंकड़े आ रहे हैं। असम के बाद उत्तराखंड ऐसा राज्य है, जहां ...

उत्तराखंड में बढ़ती मुस्लिम आबादी, मुस्लिम कॉलोनी के विज्ञापन पर शुरू हुई जांच