पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

फेसबुक बोला- तालिबान आतंकी संगठन, नहीं इस्तेमाल करने देंगे अपना मंच

WebdeskAug 17, 2021, 05:32 PM IST

फेसबुक बोला- तालिबान आतंकी संगठन, नहीं इस्तेमाल करने देंगे अपना मंच


तालिबान को बढ़ावा देने वाली सामग्रियों से सख्‍ती से निपटेगी फेसबुक। आतंकियों और आतंक के पैरोकारों पर कसेगी नकेल।


सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने तालिबान को आतंकी संगठन करार देते हुए कहा है कि वह अपने मंच का इस्‍तेमाल उसे नहीं करने देगी। कंपनी ने कहा है कि उसके पास मौजूद खतरनाक संगठनों की सूची में तालिबान का नाम है।
इसलिए आतंकी समूह को बढ़ावा देने या उसका प्रतिनिधित्व करने वाली किसी भी सामग्री को परोसने पर पाबंदी लगा दी गई है।

फेसबुक तालिबान को बढ़ावा देने वाली सामग्रियों और तालिबानियों द्वारा बनाए गए अकाउंट को हटा रही है। फेसबुक के प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिकी कानून के तहत तालिबान एक आतंकवादी संगठन है। इसलिए अपनी नीतियों के तहत कंपनी ने तालिबान को अपनी सेवाओं का उपयोग करने से प्रतिबंधित कर दिया है। कंपनी का कहना है कि उसके पास अफगानिस्तान के विशेषज्ञों की एक समर्पित टीम है। यह टीम फेसबुक मंच पर उभरते हुए मुद्दों को लेकर लगातार कंपनी को आगाह करती है और आपत्तिजनक सामग्रियों को हटाने में मदद कर रही है। अफगानिस्‍तान में तालिबान से जुड़ी सामग्रियों पर नजर रखने वाली इस टीम के सदस्‍य स्‍थानीय भाषा दारी और पश्‍तो के जानकार हैं और तालिबान के बारे में भी जानकारी रखते हैं।

वहीं, इंस्टाग्राम के प्रमुख एडम मोसेरी ने सोमवार को एक साक्षात्कार में कहा था कि तालिबान का नाम कंपनी के पास मौजूद खतरनाक संगठनों की सूची में है, इसलिए इसे बढ़ावा देने या उसका प्रतिनिधित्व करने वाली किसी भी सामग्री पोस्‍ट करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

Comments
user profile image
Anonymous
on Aug 18 2021 08:00:43

मोदी नेटवर्क कितना कमजोर है। लाल किल्ला से दिया गया भाषण देश ही नहीं पुरा दुनिया सुनता है। स्वधिनता संग्रामि मातंगिनि हाजरा मेदिनिपुर बंगाल की है मोदी जी ने कहा असम की है। 2024 को जाना तय है। बंगाल का काटा पानी नही मांगता। बंगाल को लेकर बार बार भूल और वितर्क

Also read: श्री विजयादशमी उत्सव: भयमुक्त भेदरहित भारत ..

Afghanistan में तालिबान के आतंक के बीच यहां गूंज रहा हरे राम का जयकारा | Panchjanya Hindi

अफगानिस्तान का एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें नवरात्रि के दौरान काबुल के एक मंदिर में हिंदू समुदाय लोग ‘हरे रामा-हरे कृष्णा’ का भजन गाते नजर आ रहे हैं।
#Panchjanya #Afghanistan #HareRaam

Also read: दुर्गा पूजा पंडालों पर कट्टर मुस्लिमों का हमला, पंडालों को लगाई आग, तोड़ीं दुर्गा प्र ..

कुंडली बॉर्डर पर युवक की हत्‍या, शव किसान आंदोलन मंच के सामने लटकाया
सहारनपुर में हो रहा मदरसे का विरोध, जानिए आखिर क्या है कारण

विजयादशमी पर विशेष : दुष्प्रवृत्तियों से जूझने का लें सत्संकल्प

  विजयादशमी के महानायक श्रीराम भारतीय जनमानस की आस्था और जीवन मूल्यों के अन्यतम प्रतीक हैं। भारतीय मनीषा उन्हें संस्कृति पुरुष के रूप में पूजती है। उनका आदर्श चरित्र युगों-युगों से भारतीय जनमानस को सत्पथ पर चलने की प्रेरणा देता आ रहा है। शौर्य के इस महापर्व में विजय के साथ संयोजित दशम संख्या में सांकेतिक रहस्य संजोये हुए हैं। हिंदू तत्वदर्शन के मनीषियों की मान्यता है कि जो व्यक्ति अपनी आत्मशक्ति के प्रभाव से अपनी दसों इंद्रियों पर अपना नियंत्रण रखने में सक्षम होता है, विजयश्री उसका वरण अवश ...

विजयादशमी पर विशेष : दुष्प्रवृत्तियों से जूझने का लें सत्संकल्प