पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

भारत

कोरोना की दोनों डोज लगी हैं तो एक लाख में केवल छह लोगों को ही जान जाने का खतरा

WebdeskJul 13, 2021, 06:46 PM IST

कोरोना की दोनों डोज लगी हैं तो एक लाख में केवल छह लोगों को ही जान जाने का खतरा

कोरोना की दूसरी लहर में सामने आया है कि जिन लोगों ने कोरोना की दोनों डोज ली हुई थीं उन्हें अस्पताल में जाने की जरूरत नहीं पड़ी। इसके अलावा एक डोज लेने वाले व्यक्ति की हालत में ज्यादा खराब नहीं हुई


कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए कोरोना की वैक्सीन लेने बेहद जरूरी है। ऐसे में लापरवाही न करें और तत्काल वैक्सीन लगवाएं। हाल ही में एक शोध सामने आया है जिसमें बताया गया है कि कोरोना की दोनों वैक्सीन लेने वाले लोगों को कोरोना से बहुत ज्यादा खतरा नहीं है। यह शोध आईसीएमआर ने फ्रंटलाइन वर्कर्स पर स्टडी करने के बाद सामने आया है।

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीए
मआर) के डायरेक्टर जनरल डॉ. बलराम भार्गव का कहना है कि हाल ही में देशभर में फ्रंटलाइन वर्कर्स पर एक स्टडी की गई है। इसमें स्टडी में एक लाख से ज्यादा फ्रंटलाइन वर्कर्स को शामिल किया गया था। स्टडी में पाया गया कि वैक्सीन की दोनों डोज कोरोना से होने वाली मौतों के खिलाफ 95 प्रतिशत तक सुरक्षा देती है। वहीं इसकी सिंगल डोज 82 प्रतिशत तक मौतों को रोक सकती है।

उनका कहना है कि अगर व्यक्ति को वैक्सीन की दोनों डोज लगी हो और उसमें कोरोना से होने वाली मौतों के आंकड़े को देखा जाए तो एक लाख में से केवल 6 मौतें ही दोनों डोज के बाद हो सकती हैं। वहीं एक डोज के बाद एक लाख में से 21 लोगों की ही जान जा सकती है।

डॉ. भार्गव का कहना है कि हमारी स्टडी में यह भी पाया गया है कि इस वक्त जो वैक्सीन हम देश में लगा रहे हैं, वह अल्फा, डेल्टा जैसे वैरियंट पर कारगर है और लोगों को अच्छी सुरक्षा मिलती है। कोविशील्ड, कोवैक्सीन में से कोई भी वैक्सीन लगवा सकते हैं। वैक्सीन का मकसद कोरोना से होने वाली गंभीरता और मौतों को रोकना है।

Follow Us on Telegram

 

Comments

Also read:कोरोना, फ्लू की वजह से पिछले एक महीने में बढ़ी आयुर्वेदिक दवाओं की बिक्री ..

मा. कृष्णगोपाल जी का उद्बोधन

मा. कृष्णगोपाल जी का उद्बोधन

Also read:दारूल उलूम के गोद लिए बच्चों के अधिकार से जुड़े फतवे को NCPCR ने बताया गैर कानूनी, जा ..

कोरोना अपडेट : देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के दो लाख, 58 हजार से अधिक मिले नए मरीज
अभी ICU में ही रहेंगी लता मंगेशकर, डॉक्टर ने दिया हेल्थ अपडेट

टीकाकरण अभियान के एक साल पूरे, प्रधानमंत्री ने कहा- कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई को मिली ताकत

पीएम ने कहा कि हमारे टीकाकरण कार्यक्रम ने कोविड के खिलाफ लड़ाई में काफी ताकत दी है। उन्होंने कहा कि महामारी से लड़ने के लिए भारत का दृष्टिकोण हमेशा विज्ञान आधारित रहेगा। आइए हम कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते रहें और महामारी से उबरें।    प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को देश में कोरोना रोधी टीकाकरण का एक वर्ष पूरा होने पर अभियान से जुड़े डॉक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्य कर्मियों की सराहना करते हुये कहा कि हमारे टीकाकरण कार्यक्रम ने कोविड के खिलाफ लड़ाई में काफी ताकत दी है। उ ...

टीकाकरण अभियान के एक साल पूरे, प्रधानमंत्री ने कहा- कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई को मिली ताकत