पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

भारत

भारत ने विकसित की कोरोना की ऐसी दवा जो हर वैरिएंट पर प्रभावी

WebdeskJul 16, 2021, 03:23 PM IST

भारत ने विकसित की कोरोना की ऐसी दवा जो हर वैरिएंट पर प्रभावी

कोरोना की तीसरी लहर भले ही शुरुआती दौर में हो लेकिन दुनियाभर में मिल रहे कोरोना के अलग—अलग मिल रहे वैरिएंट ने चिंता को काफी बढ़ा दिया है। ऐसे में भारत ने एक ऐसी वैक्सीन विकसित कर ली है जो कोरोना के हर तरह के वैरिएंट पर प्रभावी है


दुनियाभर में कोरोना वायरस के अलग-अलग वैरिएंट ने सरकारों की चिंता बढ़ा दी है। दुनिया में  तेजी से कोरोना के मामले बढ़ रहे है। अल्फा, बीटा, डेल्टा, लैम्ब्डा समेत कोरोना के अन्य वैरिएंट वैज्ञानिकों के लिए चिंता का विषय बने हुए हैं। इस बीच, भारत में एक ऐसी 'वार्म वैक्सीन' विकसित की गई है जो कोरोना वायरस के सभी प्रमुख वैरिएंट के खिलाफ प्रभावी बताई गई है।

बायोटेक फर्म माइनवैक्स के साथ संयुक्त रूप से काम कर रहे भारतीय विज्ञान संस्थान के वैज्ञानिकों ने 'वार्म' वैक्सीन फॉर्मूलेशन का निर्माण किया है। बताया जा रहा है कि यह वार्म वैक्सीन कोरोना के सभी प्रमुख वैरिएंट पर प्रभावी है।

अभी तक हुए अध्ययन के अनुसार बेंगलुरु स्थित भारतीय विज्ञान संस्थान द्वारा विकसित एक गर्म-सहनशील कोरोना वैक्सीन फॉर्मूलेशन, कोरोना के सभी चिंताजनक वैरिएंट(जैसे- अल्फा, बीटा, कप्पा, डेल्टा) के खिलाफ प्रभावी है। एसीएस इंफेक्शियस डिजीज जर्नल में गुरुवार को प्रकाशित इस शोध से पता चला है कि आईआईएससी-इनक्यूबेटेड बायोटेक स्टार्ट-अप मायनवैक्स(Mynvax) द्वारा वैक्सीन फॉर्मूला ने चूहों में एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया विकसित की है।

यह खोज कोरोना वैक्सीन के लिहाज से मील का पत्थर साबित हो सकता है। आपको बता दें कि इस खोज को प्रोफेसर राघवन वरदराजन के नेतृत्व में किया गया था।

इसलिए दिया गया है वार्म वैक्सीन नाम
दरअसल, यह फॉर्मूलेशन 37 डिग्री सेंटीग्रेड पर एक महीने तक स्थायी रह सकता है और 100 डिग्री सेंटीग्रेड पर 90 मिनट तक। इसके इस फॉर्मूलेशन को वार्म वैक्सीन का नाम दिया गया है। आपको बता दें कि अब तक किसी वैक्सीन को देश के किसी भी हिस्से में वैक्सीन को पहुंचाने के लिए कोल्ड चेन का निर्माण करना पड़ता है। उसी के माध्यम से एक से दूसरे राज्य या शहरों तक इसे पहुंचाया जा रहा है। यही कारण है कि लोगों तक वैक्सीन पहुंचने में देर लगी है। ऐसे में वार्म वैक्सीन का फॉर्मूलेशन बनाने से इसमें काफी तेजी आएगी।

Comments

Also read: ऑस्कर में नहीं जाएगी फिल्म 'सरदार उधम सिंह', अंग्रेजों के प्रति घृणा दिखाने की बात आ ..

Osmanabad Maharashtra- आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

#Osmanabad
#Maharashtra
#Aurangzeb
आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

Also read: सूचना लीक मामला: सीबीआई ने नौसेना के अधिकारियों को किया गिरफ्तार, उच्च स्तरीय जांच के ..

भारत का रक्षा निर्यात पांच वर्षों में 334 फीसदी बढ़ा, 75 से अधिक देशों को सैन्य उपकरणों का कर रहा निर्यात
गुरुजी के प्रयासों से ही आज जम्मू-कश्मीर है भारत का अभिन्न अंग

फिर भारत से उलझने को बेताब है चीन, नए ‘लैंड बॉर्डर लॉ’ की आड़ में कब्जाई जमीन पर अधिकार जमाने की तैयारी!

 नेशनल पीपुल्स कांग्रेस की स्थायी समिति ने बीजिंग में संसद की समापन बैठक के दौरान इस कानून को पारित किया। ताजा जानकारी के अनुसार, अगले साल 1 जनवरी को यह कानून लागू कर दिया जाएगा भारत तथा चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर चीन की शैतानी मंशा में एक और पहलू तब जुड़ गया जब उसने अपनी संसद के परसों खत्म हुए सत्र में सीमावर्ती इलाकों के संबंध में अपनी 'संप्रभुता तथा क्षेत्रीय अखंडता को उल्लंघन से परे' बताते हुए नया लैंड बार्डर लॉ पारित कराया। उल्लेखनीय है कि भारत-चीन के बीच 3,488 कि ...

फिर भारत से उलझने को बेताब है चीन, नए ‘लैंड बॉर्डर लॉ’ की आड़ में कब्जाई जमीन पर अधिकार जमाने की तैयारी!