पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

26 जनवरी से पहले देश को दहलाने की साजिश नाकाम , दिल्ली, पंजाब और श्रीनगर से विस्फोटक बरामद

Webdesk

WebdeskJan 14, 2022, 04:30 PM IST

26 जनवरी से पहले देश को दहलाने की साजिश नाकाम , दिल्ली, पंजाब और श्रीनगर से विस्फोटक बरामद
गाजीपुर में विस्फोटक को निष्क्रिय करने पहुंचा बम निरोधक दस्ता।

आज सुबह 11 बजे दिल्ली की गाजीपुर फूल मंडी में एक लावारिस बैग मिला, जिसमें विस्फोटक था। गाजीपुर से बरामद आईईडी का वजन करीब तीन किलो था।


सुरक्षा एजेंसियोंऔर नागरिकों की सतर्कता के चलते 26 जनवरी से पहले दिल्ली, जम्मू-कश्मीर और पंजाब को दहलाने की साजिश नाकाम हो गई है। आज सुबह 11 बजे दिल्ली की गाजीपुर फूल मंडी में एक लावारिस बैग मिला, जिसमें विस्फोटक था। गाजीपुर से बरामद आईईडी का वजन करीब तीन किलो था। NSG को दिल्ली पुलिस से सुबह करीब 11 बजे सूचना मिली और दोपहर करीब 1.30 बजे विस्फोटक को निष्क्रिय कर दिया गया। आईईडी के सैंपल लिए गए हैं

एनएसजी के महानिदेशक एमए गणपति ने बताया कि बम निरोधक दस्ते को प्रथमदृष्टया में गाजीपुर से बरामद आईईडी के निर्माण में आरडीएक्स और अमोनियम नाइट्रेट जैसे रासायनिक यौगिक मिले हैं। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल भी विस्फोटक अधिनियम के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज कर जांच कर रही है।


आज सुबह 11 बजे दिल्ली की गाजीपुर फूल मंडी में एक लावारिस बैग मिला, जिसमें विस्फोटक था। गाजीपुर से बरामद आईईडी का वजन करीब तीन किलो था। NSG को दिल्ली पुलिस से सुबह करीब 11 बजे सूचना मिली और दोपहर करीब 1.30 बजे विस्फोटक को निष्क्रिय कर दिया गया। आईईडी के सैंपल लिए गए हैं


वहीं, स्पेशल टास्क फोर्स ने भारत-पाक सीमा के पास धनोए कला गांव से आरडीएक्स की बड़ी खेप बरामद की। ऐसा बताया जा रहा है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई और खालिस्तानी आतंकियों ने इसे चुनाव के दौरान धमाके के लिए भेजा था। इसका वजन 5 किलो से ज्यादा है। 

जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर प्रेशर कुकर बम मिला है। ख्वाजा बाजार में रखे गए प्रेशर कुकर के अंदर आईईडी था। आतंकियों ने कुकर को बोरे में छिपाकर रखा था। सुरक्षाबलों ने आईईडी को निष्क्रिय कर दिया है।

Comments

Also read:‘‘अयोध्या को उसकी पहचान दिलाने के लिए कृतसंकल्पित हूं’’ -योगी आदित्यनाथ ..

मा. कृष्णगोपाल जी का उद्बोधन

मा. कृष्णगोपाल जी का उद्बोधन

Also read:‘आजादी के बाद शासकों ने बड़ी भूलें की हैं’- जगद्गुुरु शंकराचार्य स्वामी जयेन्द्र सरस्व ..

‘‘भेद-रहित समाज का निर्माण होने वाला है’’- मोहनराव भागवत
सकारात्मक ऊर्जा का संचार करने वाला प्रमुख पत्र

भारत में जनतंत्र

पाञ्चजन्य ने हमेशा पत्रिका को लोकतंत्र का मंच बनाए रखने का यत्न किया। इसमें सभी विचारों को स्थान मिलता रहा। इस क्रम में कांग्रेसी, राष्ट्रवादी, समाजवादी, वामपंथी सभी विचारकों के आलेखों को पाञ्चजन्य ने प्रकाशित किया। श्री मानवेन्द्रनाथ राय (1887-1954) भारत के स्वतंत्रता-संग्राम के क्रान्तिकारी तथा विश्वप्रसिद्ध राजनीतिक सिद्धान्तकार थे। उनका मूल नाम ‘नरेन्द्रनाथ भट्टाचार्य’ था। वे मेक्सिको और भारत दोनों की कम्युनिस्ट पार्टियों के संस्थापक थे। वे कम्युनिस्ट इंटरनेशनल के कांग्रेस के प्र ...

भारत में जनतंत्र