पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

भारत

निर्दोष लोगों की हत्या में शामिल तत्वों को चुकानी होगी भारी कीमत: उपराज्यपाल मनोज सिन्हा

WebdeskOct 22, 2021, 11:08 AM IST

निर्दोष लोगों की हत्या में शामिल तत्वों को चुकानी होगी भारी कीमत: उपराज्यपाल मनोज सिन्हा
उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने दिया आतंकियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई का संकेत

 

घाटी में निर्दोष और गैर मुस्लिमों की हत्या में लिप्त आतंकियों को करारा जवाब देते हुए उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि ऐसे तत्वों को इस अमानवीयता की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी

 

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने आतंकियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई का संकेत देते हुए कहा कि निर्दोष और गैर मुस्लिमों की हत्या में लिप्त तत्वों को अपनी करनी का फल भुगतना पड़ेगा। उन्हें इस अमानवीयता की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। 

दरसअल, गत गुरुवार को पुलिस स्मृति दिवस के उपलक्ष्य में श्रीनगर के जेवन स्थित पुलिस कॉम्प्लेक्स में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए उपराज्यपाल ने कहा कि वह तब तक चैन से नहीं बैठेंगे, जब तक केंद्र शासित प्रदेश से आतंकवाद का खात्मा नहीं हो जाता। नागरिकों, अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों की हत्याओं में शामिल लोगों को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि अगर कोई जम्मू-कश्मीर में शांति भंग करने की कोशिश करता है, तो हम उसका मुंहतोड़ जवाब देंगे। जम्मू-कश्मीर पुलिस शांति बनाए रखने के लिए कई मोर्चे पर लड़ रही है। जम्मू-कश्मीर की धरती से आतंकवाद का सफाया होने तक सुरक्षा बल और प्रशासन चैन से नहीं बैठेगा। स्थानीय पुलिस की सराहना करते हुए सिन्हा ने कहा कि कोविड-19 महामारी से लड़ना, कोविड के उचित व्यवहार को लागू करना, कानून व्यवस्था बनाए रखना या उग्रवाद से लड़ने में पुलिस सबसे आगे है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर पुलिस न केवल केंद्र शासित प्रदेश में, बल्कि पूरे देश में अपनी क्षमताओं और जिम्मेदारियों के लिए लोकप्रिय है। उन्होंने नागरिक समाज और जम्मू-कश्मीर के अन्य प्रमुख नागरिकों से कश्मीर में नागरिक हत्याओं के खिलाफ आवाज उठाने की अपील की। उन्होंने घोषणा की कि श्रीनगर में पुलिस बलिदानियों के बच्चों के लिए जल्द ही एक छात्रावास के साथ-साथ स्कूल की सुविधा होगी। इस दौरान उन्होंने सभी पुलिस कर्मियों और उनके परिवारों को नमन किया। वहीं ड्यूटी के दौरान अपने प्राणों की आहुति देने वाले पुलिस और सुरक्षा बलों के सभी बहादुरों को श्रद्धांजलि दी।

 
वहीं बीते बुधवार को श्री सिन्हा ने गो लाइव के साथ पुलिस विभाग की मोबाइल एप जेके ई-कॉप को भी लांच किया था।  आम नागरिकों के अनुकूल इन सुविधाओं में 222 पुलिस थानों और 100 उच्च स्तरीय कार्यालयों को जोड़ा गया है। मोबाइल के जरिये ही अब शिकायत दर्ज करवाने से लेकर आपात स्थिति में मदद, सूचना देने या फिर हाईवे समेत अन्य मार्गों के रियल टाइम ट्रैफिक की जानकारी ली जा सकेगी। इसके अलावा गो लाइव और जेकेईकॉप में एक क्लिक पर पुलिस थाना की लोकेशन, महत्वपूर्ण नंबर, शिकायत, आवेदन समेत अन्य सुविधाएं शामिल की गई हैं। उपराज्यपाल ने कहा कि यह जन अनुकूल सेवाएं हैं। इसमें पुलिस कर्मियों को तालमेल से काम करते हुए पुलिसिंग को प्रभावी बनाना होगा। इससे पुलिस के कामकाज में व्यापक सुधार होगा, वहीं आम लोगों को भी सुविधा होगी।

Comments

Also read:तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल पर बैठा क्रिश्चिन मिशेल, अगस्ता वेस्टलैंड मामले का है आरोपी ..

UP Chunav: Lucknow के इस मुस्लिम भाई ने खोल दी Akhilesh-Mulayam की पोल ! | Panchjanya

योगी जी या अखिलेश... यूपी का मुसलमान किसके साथ? इसको लेकर Panchjanya की टीम ने लखनऊ में एक मुस्लिम रिक्शा चालक से बात की. बातों-बातों में इस मुस्लिम भाई ने अखिलेश और मुलायम की पोल खोलकर रख दी.सुनिए ये योगी जी को लेकर क्या सोचते हैं और यूपी में 2022 में किसपर भरोसा करेंगे.
#Panchjanya #UPChunav #CMYogi

Also read:हनुमान धाम के दर्शन करने पहुंचे अभिनेता रजा मुराद, कहा- भगवान राम मेरे आदर्श ..

दुनियाभर के लोगों को आकर्षित करता रहा है वृंदावन : प्रधानमंत्री
देश में 24 घंटे में आए 8 हजार से अधिक कोरोना केस, वैक्सीनेशन का आंकड़ा 121 करोड़ के पार

अंग प्रत्यारोपण में भारत अब अमेरिका, चीन के बाद तीसरे स्थान पर: मनसुख मांडविया

भारत में 2012-13 के मुकाबले अंग प्रत्‍यारोपण में करीब चार गुणा की वृद्धि हुई है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण अंग दान और प्रत्‍यारोपण में कमी आई।    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने शनिवार को कहा कि अंग प्रत्‍यारोपण में भारत अब अमेरिका और चीन के बाद दुनिया में तीसरे स्‍थान पर आ गया है। 12वें भारतीय अंगदान दिवस पर मंडाविया ने शनिवार को कहा कि भारत में अंगदान की दर 2012-13 की तुलना में लगभग चार गुना बढ़ी है। ...

अंग प्रत्यारोपण में भारत अब अमेरिका, चीन के बाद तीसरे स्थान पर: मनसुख मांडविया