पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

पाकिस्तान के शेख राशिद ने फिर खोला राज, 'हमारे यहां पले-बढ़े, प्रशिक्षण पाए हैं बड़े तालिबान नेता'

WebdeskSep 02, 2021, 06:50 PM IST

पाकिस्तान के शेख राशिद ने फिर खोला राज, 'हमारे यहां पले-बढ़े, प्रशिक्षण पाए हैं बड़े तालिबान नेता'
पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख राशिद


विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि दुनिया को अफगानिस्तान को अनदेखा नहीं छोड़ देना चाहिए, क्योंकि इसके नतीजे खतरनाक होंगे। पीटीआई की बड़बोली नेता, इमरान की पसंदीदा, नीलम इरशाद शेख ने भी हाल में कहा भी था कि कश्मीर तो तालिबान जीतकर पाकिस्तान को देगा

वेब डेस्क
पड़ोसी इस्लामी देश के बड़बोले गृह मंत्री शेख राशिद अहमद ने आतंकवाद को पोस रहे पाकिस्तान की दुनिया के सामने एक बार फिर कलई खोलकर रख दी है। उन्होंने कहा है, 'पाकिस्तान ने एक लंबे वक्त तक तालिबान की चिंता की है, उसकी देखभाल की है। 'हम' चैनल के एक कार्यक्रम में राशिद ने कहा, ‘तालिबान के सभी बड़े नेता पाकिस्तान में ही तो पैदा हुए, पले-बढ़े हैं। हमने उनकी सेवा की है, उन्हें ट्रेनिंग दी है। इतना ही नहीं, कई तालिबान नेता अभी भी पढ़ाई कर रहे हैं।’ राशिद की यह बात पाकिस्तान को लेकर एक बार फिर उन आरोपों की पुष्टि की है कि अफगानिस्तान पर तालिबान के जिहादी कब्जे में पाकिस्तान पूरी तरह से लिप्त रहा है।
गृह मंत्री राशिद ने तालिबान की मदद करने को लेकर पाकिस्तान की दुनिया भर में हो रही फजीहत के संदर्भ में कहा, ‘मुल्ला बरादर तो पाकिस्तान की जेल में ही था। अमेरिका ने हमसे कहा, उसे रिहा करने के लिए।’ उन्होंने आगे कहा, ‘पाकिस्तान-अफगानिस्तान सीमा हम चाहते हैं शांति हो। यह सीमा पाकिस्तान और अफगानिस्तान दोनों के लिए अनुकूल है।’

राशिद ने कहा, ‘तालिबान के सभी बड़े नेता पाकिस्तान में ही तो पैदा हुए, पले-बढ़े हैं। हमने उनकी सेवा की है, उन्हें ट्रेनिंग दी है। इतना ही नहीं, कई तालिबान नेता अभी भी पढ़ाई कर रहे हैं।’ राशिद की यह बात पाकिस्तान को लेकर एक बार फिर उन आरोपों की पुष्टि की है कि अफगानिस्तान पर तालिबान के जिहादी कब्जे में पाकिस्तान पूरी तरह से लिप्त रहा है। राशिद ने तालिबान की मदद करने को लेकर पाकिस्तान की दुनिया भर में हो रही फजीहत के संदर्भ में कहा, ‘मुल्ला बरादर तो पाकिस्तान की जेल में ही था। अमेरिका ने हमसे कहा, उसे रिहा करने के लिए।’

इससे पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने 1 सितम्बर को कहा था कि दुनिया को अफगानिस्तान को अनदेखा नहीं छोड़ देना चाहिए, क्योंकि इसके नतीजे खतरनाक होंगे। कुरैशी ने कहा, ‘इस तरह के कदम के घातक नतीजे होंगे।' यह कोई पहली बार पाकिस्तान के नेताओं ने तालिबान से अपने देश के रिश्तों को स्वीकार नहीं किया था। पीटीआई की बड़बोली नेता, इमरान की पसंदीदा, नीलम इरशाद शेख ने कुछ दिन पहले कहा भी था कि कश्मीर तो तालिबान जीतकर पाकिस्तान को देगा। तालिबान को पाकिस्तान से लगातार मिल रही मदद के बारे में दुनिया को मालूम है, चाहे पाकिस्तान इससे कितना भी इंकार क्यों न करे।

 

Follow Us on Telegram


 

Comments

Also read: पाक जीत का जश्न मनाने वालों पर हुई FIR तो आतंकी संगठन ने दी धमकी, माफी मांगें नहीं तो ..

Osmanabad Maharashtra- आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

#Osmanabad
#Maharashtra
#Aurangzeb
आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

Also read: 'मैच में रिजवान की नमाज सबसे अच्छी चीज' बोलने वाले वकार को वेंकटेश का करारा जवाब-'... ..

जम्मू-कश्मीर में आतंकी फंडिंग मामले में जमात-ए-इस्लामी के कई ठिकानों पर NIA का छापा
प्रधानमंत्री केदारनाथ में तो बीजेपी कार्यकर्ता शहरों और गांवों में एकसाथ करेंगे जलाभिषेक

गहलोत की पुलिस का हिन्दू विरोधी फरमान, पुलिस थानों में अब नहीं विराजेंगे भगवान

राजस्थान पुलिस द्वारा थानों में पूजा स्थल का निर्माण निषिद्ध करने के आदेश पर सियासत तेज हो गयी है. भाजपा ने इसे कांग्रेस का हिन्दू विरोधी फरमान बताते हुए तुरंत वापस लेने की मांग की      राजस्थान पुलिस ने एक आदेश जारी किया है, जिसमें थानों में पूजा स्थल का निर्माण नहीं कराने को लेकर कहा गया है। आदेश में जिला पुलिस अधीक्षकों को पुलिस कार्यालय परिसरों/ पुलिस थानों में पूजा स्थल का निर्माण नहीं कराने संबंधी कानून का कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया गया है।   रा ...

गहलोत की पुलिस का हिन्दू विरोधी फरमान, पुलिस थानों में अब नहीं विराजेंगे भगवान