पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

गुरुग्राम में खुले में नमाज का बढ़ रहा विरोध

WebdeskOct 23, 2021, 06:07 PM IST

गुरुग्राम में खुले में नमाज का बढ़ रहा विरोध
खुले में नमाज के खिलाफ हो रहा विरोध

खुले में नमाज के खिलाफ गुरुग्राम में लोग सड़कों पर उतरने लगे हैं। सेक्‍टर-47 के बाद शुक्रवार को बड़ी संख्‍या में हिंदुओं ने खुले में नमाज का विरोध किया।  

 

गुरुग्राम में खुले में नमाज के खिलाफ लोग लामबंद होने लगे हैं। सेक्‍टर-47 के बाद शुक्रवार को सेक्‍टर-12 में भी खुले में नमाज के खिलाफ बड़ी संख्‍या में लोग उतरे। स्‍थानीय लोगों के साथ विश्‍व हिंदू परिषदबजरंग दल सहित अन्‍य संगठन भी आ गए। स्‍थानीय लोगों और हिंदू संगठनों का कहना है कि खुले में नमाज पढ़ने वाले स्‍थानीय नहीं है। बाहरी मुसलमान यहां आकर नमाज पढ़ते हैं।

दरअसलसेक्टर-12 में चौराहे के पास एक खाली जमीन पर मुसलमान नमाज पढ़ते हैं। शुक्रवार को जब मुसलमान नमाज पढ़ने के लिए आए तो स्‍थानीय लोग विरोध करने लगे। लोगों का कहना था कि नमाज के दौरान बड़ी संख्‍या में मुस्लिम इकट्ठे हो जाते हैं, जिससे मुख्‍य सड़क के पास जाम लगने से लोगों को परेशानी होती है। इस बीच, वहां मौजूद पुलिस ने भीड़ को आगे बढ़ने से रोक दिया। पुलिस के पहरे में मुसलमानों ने नमाज पढ़ी। इसके बाद लोग भड़क गए और भीड़ जय श्रीराम’, ‘बांग्‍लादेशी वापस जाओ  के नारे लगाने लगे। हिंदू संगठनों के लोग भी आ गए। हंगामा बढ़ने पर भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। पुलिस ने किसी तरह लोगों को शांत कराया और वहां से नमाजियों को भेज दिया।

 

पूर्वी राजीव नगर की निवासी कमलेश सैनी ने इसके खिलाफ सेक्‍टर-14 थाना में शिकायत दी है। कमलेश का आरोप है कि इस खाली जमीन पर कुछ समय से मुसलमान नमाज पढ़ रहे हैं, जो न तो राजीव नगर कॉलोनी में रहते हैं और न ही गुरुग्राम के गांव के हैं। बाहरी लोग यहां आकर नमाज पढ़ रहे हैं, इन लोगों की जांच की जानी चाहिए। साथ हीशिकायतकर्ता महिला ने यह भी कहा कि यदि अगले सप्ताह भी यहां नमाज पढ़ी गई तो स्थानीय लोग विरोध जताएंगे और माहौल खराब हुआ तो इसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। 

वहींहिंदू संगठनों के मुताबिकजिस खाली जमीन पर मुसलमान नमाज पढ़ रहे हैं, वह सरकारी जमीन है। इसलिए बिना प्रशासन की अनुमति लिए इस पर कोई भी काम नहीं किया जा सकता, चाहे वह मजहबी ही क्‍यों न हो। इस खाली मैदान के आसपास घनी आबादी है और इसके कारण लोगों को परेशानी हो रही है। बता दें कि गुरुग्राम में इससे पहले भी कई स्थानों पर खुले में नमाज पढ़ने का विरोध हो चुका है। इसके चलते मुसलमानों को उन स्‍थानों से हटना पड़ा। वजीराबाद में भी खुले में नमाज पढ़ने को लेकर विवाद शांत नहीं हुआ है। 

Comments

Also read:संसद भवन पर खालिस्तानी झंडा फहराने की साजिश, खुफिया विभाग ने किया अलर्ट ..

UP Chunav: Lucknow के इस मुस्लिम भाई ने खोल दी Akhilesh-Mulayam की पोल ! | Panchjanya

योगी जी या अखिलेश... यूपी का मुसलमान किसके साथ? इसको लेकर Panchjanya की टीम ने लखनऊ में एक मुस्लिम रिक्शा चालक से बात की. बातों-बातों में इस मुस्लिम भाई ने अखिलेश और मुलायम की पोल खोलकर रख दी.सुनिए ये योगी जी को लेकर क्या सोचते हैं और यूपी में 2022 में किसपर भरोसा करेंगे.
#Panchjanya #UPChunav #CMYogi

Also read:जी उठे महाराजा ..

नेताओं, अफसरों ने की एयर इंडिया की दुर्दशा
धर्म और हिंदुत्व भारतीय इतिहास के मूलाधार हैं: डॉ मोहन भागवत

अयोध्या में मस्जिद के लिए जगह देना अनुचित, यहां तीन-तीन पाकिस्तान बनाने की होगी तैयारी : शंकराचार्य

धर्म, विज्ञान और रक्षा के प्रति जागरुक हैं प्रधानमंत्री, यह देश के लिए शुभ: शंकराचार्य   हल्द्वानी में गोवर्धन पुरी पीठ के शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती जी ने कहा कि देश के वर्तमान प्रधानमंत्री धर्म, विज्ञान और रक्षा के प्रति आस्था और जागरुक परिलक्षित होते दिखाई देते हैं, जो देश के लिए शुभ है। यह देश हिन्दू राष्ट्र घोषित होना चाहिए। शंकराचार्य ने अयोध्या में मस्जिद के लिए जगह देने को अनुचित करार देते हुए कहा कि आने वाले समय मे काशी, मथुरा में भी इसकी पुनरावृत्ति होगी और यहां मक्का जैस ...

अयोध्या में मस्जिद के लिए जगह देना अनुचित, यहां तीन-तीन पाकिस्तान बनाने की होगी तैयारी : शंकराचार्य