पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

राज्य

सिद्धू के प्यादों द्वारा अमरिन्दर के अपमान का दौर शुरू

WebdeskSep 28, 2021, 12:06 PM IST

सिद्धू के प्यादों द्वारा अमरिन्दर के अपमान का दौर शुरू

राकेश सैन

पंजाब में मुख्यमंत्री की कुर्सी से अपमानित करके उतारे गए निवर्तमान मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह को शर्मसार करने का सिलसिला अभी समाप्त नहीं हुआ बल्कि अपमान का नया दौर आरंभ होता दिखाई दे रहा है।

 

 पंजाब में मुख्यमंत्री की कुर्सी से अपमानित करके उतारे गए निवर्तमान मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह को शर्मसार करने का सिलसिला अभी समाप्त नहीं हुआ बल्कि अपमान का नया दौर आरंभ होता दिखाई दे रहा है। लगता है कि कैप्टन के प्रतिद्वंद्वी नवजोत सिंह सिद्धू ने इसकी जिम्मेदारी अपने प्यादों को दे दी है और सिद्धू के सलाहकार ने कैप्टन पर तंज किए हैं। सिद्धू के प्रमुख रणनीतिक सलाहकार व पूर्व डीजीपी मोहम्मद मुस्तफा ने कैप्टन अमरिंदर सिंह पर हमला बोला है।

मो. मुस्तफा ने अपने ट्विटर पर मशहूर शायर इफ्तिकार आरिफ के शेर ‘ये वक्त किस की रऊनत (अभिमान) पे खाक डाल गया, ये कौन बोल रहा था खुदा के लहजे में’ लिखते हुए कहा, आपरेशन इन्साफ पूरा हो गया। मो. मुस्तफा लम्बे समय से पूर्व कैप्टन पर तंज कसते आए हैं। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने जब नवजोत सिंह सिद्धू के सम्बन्ध पाकिस्तानियों के साथ होने को लेकर बयान दिया था, तब भी मुस्तफा ने मोर्चा संभाला था। साथ ही उन्होंने अपने ट्विटर पर धर्मा फिल्म का गीत ‘राज की बात अगर कह दूं तो’ को शेयर कर पूर्व मुख्यमंत्री को संकेत देने की कोशिश की थी कि उनके पास भी बहुत कुछ है। यही नहीं मोहम्मद मुस्तफा ने कहा कि आपरेशन ‘इन्साफ’ पूरा व सम्पन्न हो गया है। बेवजह देर हुई लेकिन देर आए दुरुस्त आए। ऊपर वाला मेहरबान हो तो हर मुश्किल आसान हो जाती है।

बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू के प्रदेश प्रधान बनने के बाद मोहम्मद मुस्तफा लगातार कैप्टन अमरिन्दर सिंह पर हमला कर रहे हैं। वहीं, सिद्धू के प्रमुख रणनीतिक सलाहकार बनने के बाद पूर्व डीजीपी सक्रिय रूप से राजनीति में हिस्सा ले रहे हैं। रविवार को मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह में भी उन्होंने हिस्सा लिया था और सिद्धू के साथ खुलकर वार्ता की थी। हालांकि उनकी पत्नी रजिया सुल्ताना ने मंत्री पद की शपथ ली थी। दरअसल, मोहम्मद मुस्तफा पंजाब के डीजीपी पद की दौड़ में थे, लेकिन कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार में दिनकर गुप्ता को इस पद पर नियुक्ति दे दी गई। इससे मुस्तफा कैप्टन सरकार से नाराज हो गए। मुस्तफा पहले कैप्टन के खास अफसरों में माने जाते थे। मुस्तफा की पत्नी रजिया सुल्ताना कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार में भी कैबिनेट मन्त्री रही। अब चन्नी सरकार में भी वह मन्त्री हैं।

Follow Us on Telegram
 

Comments

Also read: उपलब्धि ! यूपी में 44 जनपद कोरोना मुक्त ..

kashmir में हिंदुओं पर हमले के पीछे ISI कनेक्शन आया सामने | Panchjanya Hindi

kashmir में हिंदुओं पर हमले के पीछे ISI कनेक्शन आया सामने | Panchjanya Hindi

Also read: अब सोनभद्र में पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी, एफआईआर दर्ज ..

वैष्णो देवी यात्रा के लिए कोरोना की नई गाइडलाइन, RT-PCR टेस्ट जरूरी
कैप्‍टन के हमले के बाद बचाव की मुद्रा में कांग्रेस और पंजाब सरकार

बागपत में पकड़ा गया गोवंश से भरा कैंटर, डासना ले जा रहे थे गोकशी के लिए

मुर्स्लीम को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कैंटर में भरे थे 60 गोवंश, बारह की हो गई थी मौत। बागपत में एक कैंटर से 60 गोवंश मिले। पुलिस ने जब कैंटर पकड़ा तो उसमें बारह मवेशी मरे थे और दस को चोट लगी थी जिन्हें इलाज के लिए गौशाला भेज दिया गया। पुलिस ने बताया कि बागपत से गाजियाबाद जा रहे एक कैंटर वाहन को जब शक के आधार पर रोका गया तो उसमें क्षमता से ज्यादा ठूसे हुए गोवंश मिले। जब गाड़ी खुलवाई गई तो दस गोवंश मृत मिले और दस गंभीर अवस्था मे घायल मिले। पुलिस के मुताबिक वाहन में 60 गोवंशी थे। इस मामले में मु ...

बागपत में पकड़ा गया गोवंश से भरा कैंटर, डासना ले जा रहे थे गोकशी के लिए